Home Blog

यूपी में 75 घंटे का चलेगा स्वच्छता अभियान: खत्म होंगे कूड़े के ढेर, बनेंगे सेल्फी पॉइंट, एक दिसंबर से शुरुआत

0

उत्तर प्रदेश को स्वच्छ प्रदेश बनाने की मुहिम में जुटे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा के अनुरूप उनकी टीम लगातार अभियान चला रही है। इसी क्रम में अब स्वच्छ भारत मिशन नगरीय के अंर्तगत ‘प्रतिबद्ध: 75 जनपद, 75 घंटे, 750 निकाय’ अभियान 1 दिसंबर से शुरू किए जाने का निर्णय लिया गया है। इस अभियान के तहत प्रदेश के 750 निकायों में कूड़ा एकत्रीकरण के दृष्टिगत संवेदनशील स्थानों ‘गार्बेज वल्नरेबल प्वाइंट्स’ को पूर्णतया विलोपित कर स्वच्छ स्थान में परिवर्तित करने की योजना है।

इस अभियान को गति देने के लिए स्वच्छ भारत मिशन नगर निकाय निदेशालय की ओर से सभी नगर आयुक्तों को पत्र के जरिए समयसीमा के अंदर अभियान चलाकर उद्देश्य की पूर्ति के निर्देश जारी किए गए हैं। इन स्थानों पर सफाई के बाद सौंदर्यीकरण भी होगा और कई स्थानों को सेल्फी पॉइंट के तौर पर विकसित किया जाएगा।

समस्त नगर निकायों को निर्देश जारी
स्वच्छ भारत मिशन, उत्तर प्रदेश की निदेशक नेहा शर्मा द्वारा सभी नगर आयुक्तों एवं अधिशासी अधिकारियों को इस आशय का पत्र जारी किया गया है। पत्र में अभियान से जुड़े सभी दिशा निर्देश दिए गए हैं। पत्र में कहा गया है कि स्वच्छ भारत मिशन- नगरीय भारत सरकार द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत अंतिम माह के उपलक्ष्य में ‘प्रतिबद्ध 75 जनपद 75 घंटे 750 निकाय’ अभियान 1 दिसंबर 2022 से शुरू किया जा रहा है।

प्रदेश के समस्त 750 निकायों में कूड़ा एकत्रीकरण के दृष्टिगत संवेदनशील स्थान (गार्बेज वल्नरेबल पॉइंट्स) को पूर्णतया (स्थायी रूप से) विलोपित कर स्वच्छ स्थान में परिवर्तित कराया जाना है। अभियान की शुरुआत योजनाबद्ध प्रचार-प्रसार के साथ की जानी है। इसके लिए नगरीय निकाय स्तर पर गार्बेज वल्नरेबल पॉइंट्स को चिन्हित कर आवश्यक संसाधन व कार्य सुनिश्चित करना होगा। यह भी निर्देश दिया गया है कि अभियान का समापन समारोह जिलाधिकारी के मार्गदर्शन एवं अध्यक्षता में आयोजित किया जाना सुनिश्चित हो।

हिंदू एकता मंच के कार्यक्रम में हंगामा, श्रद्धा की हत्या के खिलाफ आयोजित सभा में महिला ने शख्स को चप्पल से पीटा

0

देशभर में श्रद्धा मर्डर केस को लेकर लगातार चर्चा हो रही है। कुछ हिंदू संगठन इसे लव जिहाद से भी जोड़ रहे हैं। इसका सबसे बड़ा कारण यह भी है कि श्रद्धा अपने पार्टनर आफताब अमीन पूनावाला के साथ रह रही थी। अफताब पर ही श्रद्धा के हत्या का आरोप है। इन सबके बीच श्रद्धा की हत्या के विरोध में हिंदू एकता मंच की ओर से एक महापंचायत का आयोजन किया गया था। इस दौरान मंच पर ही बवाल हो गया। दरअसल, एक महिला मंच पर पहुंचीं और वहां मौजूद एक शख्स पर चप्पल से प्रहार करना शुरू कर दिया। हालांकि, मंच पर मौजूद कुछ अन्य लोगों ने बीच-बचाव किया और मामला तब जाकर शांत हुआ।

पूरा मामला दिल्ली के छतरपुर इलाके का है। यह महापंचायत उसी इलाके में रखी गई थी, जहां आफताब में श्रद्धा की हत्या की थी। इस कार्यक्रम को बेटी बचाओ फाउंडेशन ने भी अपना समर्थन दिया था। बताया जा रहा है कि महिला अपनी शिकायत से अवगत कराने के लिए मंच पर पहुंची थी, तभी उसे एक शख्स ने धक्का देकर माइक से हटाने की कोशिश की। इस दौरान महिला काफी गुस्से में आ गई। उसने चप्पल से शख्स की पिटाई शुरू कर दी। आपको बता दें कि आफताब ने 18 मई को श्रद्धा की गला दबाकर हत्या करने के बाद उसके शव को कई टुकड़ों में काटकर अलग-अलग जगहों पर फेंक किया था।

दूसरी ओर दिल्ली की एक अदालत ने रोहिणी स्थित विधि विज्ञान प्रयोगशाला (एफएससी) में आफताब अमीन पूनावाला की नार्को जांच कराने की मंगलवार को अनुमति दे दी। पूनावाला के वकील अबिनाश कुमार ने बताया कि पुलिस ने आरोपी को एक दिसंबर और पांच दिसंबर को रोहिणी स्थित प्रयोगशाला ले जाने की अनुमति दिए जाने का अनुरोध किया था, जिसे अदालत ने मंजूर कर लिया। पूनावाला (28) पर अपनी ‘लिव-इन पार्टनर’ श्रद्धा वालकर की हत्या करने और उसके शव के 35 टुकड़े करने का आरोप है।

Measles in Mumbai: मुंबई में नहीं थम रहा खसरा का कहर, 11 और मामले आए सामने, एक संदिग्ध की मौत

0

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में खसरा का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। महानगर में आज फिर एक बार 11 नए मामले सामने आए हैं और एक संदिग्ध की मौत हुई है। बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC)के अधिकारी ने सोमवार को कहा कि ताजा मामलों के साथ, महानगर में इस साल अब तक संक्रमण की संख्या 303 हो गई है।

WHO: विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बदला मंकीपॉक्स का नाम, किया mpox

0

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सोमवार को कहा है कि मंकीपॉक्स बीमारी को अब एमपॉक्स (mpox) के नाम से जाना जाएगा। वैश्विक विशेषज्ञों के साथ सिलसिलेवार विचार-विमर्श के बाद यह निर्णय लिया गया है।
हालांकि, एक साल तक दोनों नामों को इस्तेमाल में लाया जाता रहेगा। उसके बाद मंकीपॉक्स नाम को इस्तेमाल करने पर पूर्ण विराम लगा दिया जाएगा।

यूएन स्वास्थ्य एजेंसी ने कहा कि दोनों नामों के इस्तेमाल के जरिए वैश्विक महामारी के प्रकोप के दौरान नाम बदलने से उत्पन्न होने वाले भ्रम को दूर करने में मदद मिलेगी। एमपॉक्स एक दुर्लभ वायरल बीमारी है। इसका संक्रमण मध्य व पश्चिमी अफ्रीका के वर्षा वन वाले इलाकों में सामने आए हैं।

अमेरिकी रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्रों के अनुसार देश में लगभग 30,000 केस
बता दें, मई 2022 की शुरुआत से मंकीपॉक्स के मामले कई देशों में सामने आए हैं। अमेरिकी रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्रों के अनुसार देश में लगभग 30,000 केस दर्ज किए हैं। अमेरिका में मंकीपॉक्स वायरस के अधिकांश केस पश्चिमी या मध्य अफ्रीकी देशों की बजाए यूरोप व उत्तर अमेरिका की यात्रा करने वालों में मिले हैं। अफ्रीकी देशों में यह वायरस स्थानीय स्तर पर फैल रहा है। अब तक सामने आए अधिकांश मामले प्राथमिक यौन स्वास्थ्य केंद्रों के जरिए सामने आए हैं। इनमें यौन रोगों से जुड़े केस शामिल हैं। ये सिर्फ पुरुषों के समलैंगिक सेक्स से जुड़े नहीं हैं।

टीकाकरण के बाद बीमारी में आया है सुधार
पिछले माह डब्ल्यूएचओ ने कहा था कि मंकीपॉक्स लगातार अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य नियमों के अधीन बना हुआ है। यह आपात जनस्वास्थ्य को लेकर अंतरराष्ट्रीय चिंता के दायरे में आता है।हालांकि, कई देशों में फैलने के बाद मंकीपॉक्स के खतरे को लेकर टीकाकरण के बाद वैश्विक स्थिति में कुछ सुधार आया है। डब्ल्यूएचओ ने क्षेत्रवार स्थिति का आकलन किया था। इसमें अमेरिका को उच्च जोखिम वाला, यूरोप को मध्यम जोखिम वाला, अफ्रीका, पूर्वी भूमध्यसागरीय और दक्षिण-पूर्व एशिया को मध्यम और पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र को कम जोखिम वाला बताया था।

दिल्ली: लॉरेंस रोड इंडस्ट्रियल एरिया में जूते चप्पल की फैक्ट्री में आग

0

दिल्ली। लॉरेंस रोड इंडस्ट्रियल एरिया में जूते चप्पल की फैक्ट्री में आग लगने की जानकारी मिली है। आग लगते ही पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। दमकल की दस गाड़ियां आग बुझाने में जुटी है। अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं है।

दिल्ली के लॉरेंस रोड इंडस्ट्रियल एरिया में जूते चप्पल की फैक्ट्री में आग लगी है। आग लगते ही पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। फैक्टरी से निकते धूएं को देख वहां अफरा तफरी का माहौल बन गया। आग लगने की सूचना दमकल विभाग की दी गई। जिसके बाद दमकलकर्मी मौके पर पहुंचे। जानकारी के मुताबिक, दमकल की दस गाड़ियां आग बुझाने में जुटी है। अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं है।

दमकल विभाग के कर्मचारी आग को बुझाने में लगे हुए क्योंकि आज जूते चप्पल के शोल बनाने वाली फैक्ट्री में लगी थी उस दौरान वहां पर कुछ केमिकल के ड्रम भी थे जिन्होंने आग पकड़ ली जिसकी वजह से एक भयंकर रूप ले लिया और दमकल विभाग को कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं है.

मोतियाबिंद ऑपरेशन के बाद चली गई 8 मरीजों की आंखों की रोशनी, नेत्र शिविरों पर लगी रोक

0

कानपुर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) ने सार्वजनिक और निजी अस्पतालों में अगले आदेश तक कोई भी नेत्र जांच शिविर आयोजित करने पर रोक लगा दी है. एक निजी अस्पताल में मोतियाबिंद के ऑपरेशन के बाद कानपुर के आठ लोगों की आंखों की रोशनी चली जाने के कुछ दिनों बाद यह फैसला आया है. जिले के अस्पतालों को इस निर्णय की सूचना देते हुए एक नोटिस जारी किया गया है, साथ ही एक एडवाइजरी भी जारी की गई है, जिसमें लोगों को चिकित्सा प्रक्रियाओं के संदर्भ में सतर्क रहने के लिए कहा गया है.

सीएमओ डॉ आलोक रंजन द्वारा जारी आदेश के अनुसार, शहर के डॉक्टरों द्वारा किए गए मोतियाबिंद के ऑपरेशन के बाद आठ मरीजों की आंखों की रोशनी चली जाने की घटना की जांच पूरी होने तक जिले में कहीं भी आंखों की जांच के लिए शिविर नहीं लगाया जाना चाहिए. साथ ही भविष्य में नेत्र शिविर के आयोजकों को अतिरिक्त सीएमओ से अनुमति लेनी होगी.

इस बीच, सीएमओ ने राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (एनएमसी) को एक पत्र भेजने का फैसला किया है, जिसमें नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. नीरज गुप्ता की डिग्री रद्द करने की सिफारिश की गई है, जिन्होंने एक निजी अस्पताल आराध्या में सर्जरी की थी. डॉ गुप्ता को नोटिस भी दिया गया है और तीन दिनों के भीतर जवाब देने को कहा है. राज्य सरकार ने जिला प्रशासन से इस मामले में विस्तृत रिपोर्ट देने को भी कहा है.

दिल्ली एमसीडी चुनाव में क्या होगा जीत का फ़ैक्टर?

0

इन दिनों राजधानी दिल्ली की दीवारें चुनावी पोस्टरों से भरी पड़ी हैं. जहां नज़र जाती है, उम्मीदवार नए-नए वादों, नारों के साथ अपने लिए वोट मांग रहे हैं.

गलियों में बिना सवारी के कुछ ई-रिक्शा घूम रहे हैं. इनपर लाउडस्पीकर लगे हैं, जो तेज आवाज में रिकॉर्डेड संदेश बजा रहे हैं- फलां-फलां उम्मीदवार को अपना ‘कीमती वोट’ दें.

कहीं-कहीं गले में राजनीतिक पार्टियों के पट्टे लगाए कार्यकर्ता दिखाई देते हैं, सड़कों पर नरेंद्र मोदी से अरविंद केजरीवाल के नारे आपका ध्यान अपनी ओर खींचते हैं.

इस हलचल के पीछे, 4 दिसंबर को होने वाले दिल्ली के एमसीडी के चुनाव हैं. जैसे-जैसे वोटिंग की तारीख करीब आ रही है, ये राजनीतिक शोर और तेज होता जा रहा है, लेकिन इस शोर के बीच दिल्ली के आम लोग क्या सोच रहे हैं?

उनकी समस्याएं क्या हैं? और इस बार एमसीडी चुनाव का सबसे बड़ा मुद्दा क्या है?

MCD Elections : आप का दावा- निगम चुनाव में जीतेंगे 230 सीटों से ज्यादा, भाजपा ने कहा- हम जीतेंगे 180 से अधिक

0

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता व राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा ने रविवार को दावा किया कि इस बार एमसीडी में उनकी पार्टी 230 से ज्यादा सीटें जीतेगी। दिल्ली सरकार के साथ एमसीडी में भी अरविंद केजरीवाल होंगे। उन्होंने कहा कि दिल्लीवासी चार दिसंबर को आप को वोट देकर कूड़ा ही साफ नहीं करेंगे, बल्कि भाजपा के नेताओं के दिमाग के कूड़े को भी साफ करेंगे।

चड्ढा ने रविवार को कई इलाकों में जनसभा की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि 15 साल में भाजपा ने दिल्ली की 15 गलियां भी साफ नहीं की हैं। केजरीवाल सरकार बनने के बाद दिल्ली में बिजली, स्कूल, स्वास्थ्य की विश्वस्तरीय सुविधा सभी के लिए मुफ्त कर दी गईं। अब जनता एमसीडी में केजरीवाल को लाकर सफाई का काम भी देगी। दिल्ली की जनता के पास दो विकल्प हैं। एक ओर अरविंद केजरीवाल की 10 बड़ी गारंटी है। वह दिल्ली की सफाई करेंगे, कर्मचारियों का वेतन समय पर देंगे, व्यापारियों का कनवर्जन टैक्स माफ करेंगे सहित अन्य कार्य करेंगे। दूसरी तरफ भाजपा के 10 फर्जी वीडियो है।

अब लोगों को चुनना है कि फर्जी वीडियो के नाम पर वोट पड़ेगा या केजरीवाल की गारंटी के नाम पर। भाजपा आज एमसीडी के मुद्दों पर बात नहीं करना चाहती है। वह सवालों से भागने के लिए हर रोज एक फर्जी वीडियो जारी करती है। छापे और जांच के बाद जब कोर्ट में सबूत पेश करने की बात आई तो भाजपा की एजेंसियों के पास सिसोदिया के खिलाफ सबूत नहीं मिला। सिसोदिया ने एक रुपये का भी भ्रष्टाचार नहीं किया है। पार्टी को ईमानदारी का सर्टिफिकेट भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने दिया है। भाजपा के नेताओं को सिसोदिया से माफी मांगनी चाहिए। दुनिया के सर्वश्रेष्ठ शिक्षा मंत्री की छवि धूमिल करने के लिए पूरा षड्यंत्र रचा गया। भाजपा के पास कोई भी मुद्दा नहीं है। वह मानसिक तौर से दिवालिया हो चुकी है।

भाजपा जीतेगी 180 से ज्यादा सीटें: आदेश गुप्ता

उधर, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने रविवार को दावा किया कि भाजपा निगम चुनावों में 180 से ज्यादा सीटें जीतेगी। बलजीत नगर वार्ड में पदयात्रा के दौरान गुप्ता ने यह भी कहा कि लोगों को आम आदमी पार्टी की सच्चाई पता चल चुकी है। ये पार्टी कहती कुछ है और करती उसका उल्टा है। लिहाजा, भाजपा के प्रत्याशियों को जनता का बड़ा समर्थन मिल रहा है। भाजपा कार्यकर्ता एक करोड़ से ज्यादा लोगों के घरों तक पहुंचे हैं। दिल्ली में आज ऐसी कोई गली मोहल्ला नहीं है, जहां भाजपा नहीं पहुंची है। यह चुनाव केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के गिरने की शुरुआत है। 

अंजन का हुआ श्रद्धा जैसा हाल: मां-बेटे ने छह महीने पहले की हत्या, टुकड़े कर फ्रिज में रखा, रोज लगाते थे ठिकाने

0

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने ईस्ट दिल्ली स्थित पांडव नगर में मिल रहे इंसानी शरीर के टुकड़ों की गुत्थी को सोमवार को सुलझा देने का दावा किया है। पुलिस इस हत्या में शामिल महिला और एक युवक को गिरफ्तार किया है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक हत्या के आरोपी मां पूनम और बेटे दीपक हैं और जिसकी हत्या की गई थी वो महिला का पति था। बताया जा रहा है कि अवैध संबंध को लेकर अंजन दास की हत्या की गई।

बता दें कि दिल्ली के त्रिलोकपुरी इलाके में पिछले कुछ महीनों से एक लाश के अलग-अलग दिन टुकड़े बरामद हो रहे थे, जिसके बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया और केस दर्ज किया।

22,950FansLike
3,584FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Recent Posts