Home Blog

लिसाड़ी गेट में विस्फोट में घायल हुए सुनील और आयान की अस्पताल में मौत

0

असल न्यूज़: लिसाड़ीगेट के समर गार्डन में हुए विस्फोट में घायल सुनील शर्मा व आयान की सातवें दिन रविवार को इलाज के दौरान दिल्ली के अस्पताल में मौत हो गई है। पुलिस की जांच में सामने आया कि सुनील भी इंतजार, मुस्तकीम और यूनुस के साथ आतिशबाजी का सामान बनाता था। पुलिस का कहना कि घायल शुऐब की हालत भी गंभीर बनी हुई है।

समर गार्डन निवासी इंतजार के मकान में 27 जून को विस्फोट हुआ था। उसमें तीन मकान जमींदोज हो गए थे। विस्फोट में इंतजार की विवाहिता बेटी शमीमा की मौके पर मौत हो गई थी। लिंटर के नीचे दबकर इंतजार के घर पर आए सुनील शर्मा 32 पुत्र जयचंद शर्मा निवासी बुडेढ़ा बागपत, शोएब समेत आठ लोग घायल हुए थे।

रविवार को सुनील शर्मा व आयान की इलाज के दौरान दिल्ली में मौत हो गई है। पुलिस ने बताया कि सुनील शर्मा भी इंतजार के घर पर आतिशबाजी का सामान बनाने का काम करता था। पुलिस ने 28 जून को इंतजार के रिश्तेदार यूनुस के धर्मकांटे पर छापा मारकर 18 कुंटल विस्फोट सामग्री बरामद की।

इस मामले में इंतजार, मुस्तकीम और यूनुस को जेल में बंद है। सीओ कोतवाली अरविंद चौरसिया का कहना है कि जेल गए आरोपियों ने सुनील शर्मा को अपना पार्टनर बताया है।

कोरोना का कहर जारी, इस साल जून में हुई सबसे अधिक मौतें

0

असल न्यूज़: कोरोना माहामारी का खतरा अभी भी थमने का नाम नहीं ले रहा हैं. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामलों में लगातार उतार चढ़ाव जारी है. इस साल 2022 में अब तक पिछलें पांच महीनों में कोरोना से मरने वालों के आंकड़ों में बढ़ोतरी देखी गई है. कोरोना संक्रमण से इस साल फरवरी के बाद जून महीने में अधिक मौत हुई हैं. राजधानी दिल्ली में फरवरी से लेकर जून तक 157 लोगों की मृत्यु चुकी है. कोरोना के स्वास्थ्य बुलेटिन के मुताबिक जून में सबसे अधिक 51 लोगों की मौत हुई हैं.

पांच महीने में बढ़ा मौत का आकंड़ा
दिल्ली के पिछले पांच महीनों में कोरोना से हुई मौत के ग्राफ को देखें तो फरवरी में 23 लोगों की मौत, मार्च में 26, अप्रैल में 22, मई में 35 और जून में सबसे ज्यादा 51 मरीजों की मौत हुई थी. इसके साथ ही कोरोना के बढ़ते मामलों को देखें तो फरवरी में दिल्ली में कोरोना के 26941 मरीज थे, इसके बाद मार्च में 4734, अप्रैल में 17974, मई में 22336 और जून में 27610 मरीज थे.

पॉजिटिविटी रेट घटकर चार फीसदी से कम हुआ
बता दें कि कोरोना से हुई मौतों को लेकर सफदरजंग अस्पताल के कम्युनिटी मेडिसिन विभाग के प्रमुख डॉ. जुगल किशोर ने जानकारी देते हुए कहा कि पहले की तुलना में मौतों के मामलों का स्तर बहुत कम है. डॉ जुगल किशोर ने कहा कि पहले बिना टीकाकरण के 200 मौत होती थी. टीकाकरण के बाद उसका स्तर आधे से भी कम हो गया है.

वहीं, दिल्ली में पिछलें कुछ समय में पॉजिटिविटी रेट गिरकर चार फीसदी से कम हुआ है. शनिवार को आई स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक राजधानी में बीते 24 घंटों में कोरोना के 678 नए केस सामने आए. 2 लोगों की मौत हुई हैं. इस रिपोर्ट के अनुसार कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 969 रही, शनिवार को आई रिपोर्ट के मुताबिक कोविड की जांच दर 3.98 फीसदी दर्ज की गई.

दिल्ली: क्राइम ब्रांच की टीम ने हत्या के आरोपी को अलीगढ़ से किया गिरफ्तार

0

असल न्यूज़: क्राइम ब्रांच पुलिस ने एक कुख्यात बदमाश को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार बदमाश की पहचान सुजीत कुमार उर्फ सुरजीत के रूप में हुई है. वह पुश्ता गीता कॉलोनी का रहने वाला है. डीसीपी रोहित मीणा के अनुसार, आरोपी हत्या, हत्या के प्रयास, लूट सहित दर्जन भर से ज्यादा आपराधिक मामलों में लिप्त रहा है. वह गीता कॉलोनी थाने का एब्सेंट बीसी और हत्या के प्रयास के मामले का भगौड़ा है. एक मामले में उसके खिलाफ नॉन बेलेबल वारंट भी जारी किया जा चुका है.

डीसीपी ने बताया कि क्राइम ब्रांच पुलिस को इसके बेगूसराय से ट्रेन से अलीगढ़ स्टेशन आने और फिर आगे की यात्रा के लिए रेलवे स्टेशन से पब्लिक ट्रांसपोर्ट लेने की सूचना मिली थी. इसके बाद पुलिस टीम अलीगढ़ रेलवे स्टेशन पहुंच कर ट्रेन का इंतजार करने लगी, जहां प्लेटफॉर्म नंबर चार पर बेगूसराय, बिहार से नॉर्थ ईस्ट ट्रेन पहुंची. पुलिस की मौजूदगी को भांप कर आरोपी खुद को छुपाने की कोशिश करने लगा, लेकिन कामयाब नहीं हो पाया. पुलिस ने उसके गर्दन पर बने टैटू मार्क से उसकी पहचान कर उसे दबोच लिया.

दिल्ली में नाबालिग तीन बच्चियों के साथ दुष्कर्म की बड़ी वारदातें

0

असल न्यूज़। राजधानी दिल्ली में लगातार मानवता को शर्मसार करने वाली घटनाएं सामने आ रही हैं। मासूम बच्चियां दरिंदों के निशाने पर हैं। रविवार को अलग-अलग जगहों पर हैवानों ने छह से 13 साल की मासूमों को अपनी हवस का शिकार बनाया है। कहीं घर में नाबालिग को अकेला देखकर रिश्तेदार ने आबरू लूटी तो कहीं अपहरण करके मासूम के साथ दरिंदगी की गई।

छह साल की बच्ची को अगवा कर दुष्कर्म, लक्ष्मी नगर में शनिवार शाम को पार्क में खेल रही छह साल की बच्ची को अगवा कर उसके साथ दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। बच्ची को चाचा नेहरू बाल चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। पुलिस केस दर्ज कर आरोपी की तलाश में जुटी है। पीड़िता शकरपुर में रहती है। पिता रिक्शा चालक हैं। बच्ची शनिवार शाम को पार्क में खेल रही थी तभी अंजान शख्स उसे यमुना खादर में ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। बच्ची घर लौटी तो घटना का पता चला।

ऑटो में बच्ची का अपहरण कर रेप, दयालपुर में ऑटो में 12 साल की बच्ची का अपहरण कर चालक ने दुष्कर्म किया। पुलिस ने अपहरण, पॉक्सो और जान से मारने की धमकी की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। 12 साल की पीड़िता कक्षा छह की छात्रा है। उसके पिता साप्ताहिक बाजार में काम करते हैं। छात्रा 28 जून की रात को सात साल के भाई के साथ गली में खेल रही थी। तभी पड़ोस में रहने वाला सोनू ऑटो लेकर आया और दोनों को घुमाने के बहाने अपने साथ ले गया। वजीराबाद के जंगल में ले जाकर आरोपी ने छात्रा के साथ दुष्कर्म किया।

जैतपुर में नाबालिग से दुराचार किया, जैतपुर में 13 वर्षीय नाबालिग के साथ रिश्तेदार ने ही दुष्कर्म किया। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। फिलहाल, आरोपी रिश्तेदार अपने घर से फरार है। पीड़ित बच्ची मिठापुर गांव में रहती है। पीड़िता ने बताया कि वह जब घर पर अकेली थी तब उसके जीजा आए और उसे अकेला देखकर दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। आरोपी ने वीडियो वायरल करने की धमकी देकर कई बात वारदात की। शनिवार को तबीयत बिगड़ने पर अस्पताल ले जाया गया तो परिजनों को जानकारी हुई।

दिल्ली: पति ने पत्नी के सर पर मारा तवा पत्नी की मौके पर मौत पति फरार

0

असल न्यूज़। दिल्ली के साउथ ईस्ट जिले के जैतपुर इलाके में एक शख्स ने बुधवार सुबह पत्नी के सिर पर तवा मारकर हत्या कर दी। आरोपी सैयद अली (40) फरार हो गया। बेटे रेहान उर्फ छोटू ने मां हसीना (30) के फूफा को वारदात की जानकारी दी। वह अचेत हालत में सफदरजंग अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने हसीना को मृत करार दिया। डीसीपी ईशा पांडेय ने बताया कि हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया। हत्या में इस्तेमाल तवा बरामद कर लिया गया है। आरोपी सैयद अली की तलाश में छापेमारी चल रही है।

पुलिस अफसरों ने बताया कि हसीना अपने पति सैयद अली के साथ जैतपुर के ई-ब्लॉक में रहती थी। फैमिली मूल रूप से बिहार के बक्सर जिले की रहनी है। पति मजदूरी करता है। सफदरजंग अस्पताल से बुधवार सुबह 10 बजे हसीना के मृत हालत में आने की कॉल मिली। पुलिस अस्पताल पहुंची तो डॉक्टरों ने बताया कि महिला को मृत हालत में शाकिर नाम का शख्स लेकर आया था, जो उसका फूफा है।

पुलिस टीम वारदात वाले घर में पहुंची, जहां से तवा जब्त कर लिया। तफ्तीश में पता चला कि पति-पत्नी के बीच बुधवार सुबह किसी बात पर झगड़ा हुआ। सैयद ने सुबह करीब 7 बजे तवा उठाकर हसीना के सिर पर मार दिया। महिला के बेटे शाकिर ने इसकी खबर महिला के फूफा को दी, जो उसे अस्पताल ले गए थे। पुलिस अब पति की तलाश में जुटी है, जिसके बिहार भागने की आशंका जताई जा रही है।

एलान: सीबीएसई कक्षा 10वीं के नतीजे आने वाले हैं

0

असल न्यूज़: लाखों छात्र केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) द्वारा 2022 के 10वीं और 12वीं के रिजल्ट की घोषणा का इंतजार कर रहे हैं। इससे पहले, यह उम्मीद की जा रही थी कि सीबीएसई परिणाम 2022 जून के महीने में जारी किया जाएगा। हालांकि, नवीनतम रिपोर्टों का दावा है कि सीबीएसई के नतीजे जुलाई में घोषित किए जाएंगे। सूत्रों ने संभावित तारीखों की घोषणा भी कर दी है। उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वे ताजा अपडेट और अधिक जानकारी के लिए नियमित रूप से आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करते रहे।

जुलाई के पहले हफ्ते में जारी होगा 10वीं का रिजल्ट
हालांकि, अभी तक सीबीएसई 10वीं रिजल्ट 2022 और सीबीएसई 12वीं रिजल्ट घोषित होने के संबंध में कोई आधिकारिक अपडेट नहीं आया है, लेकिन उम्मीद है कि सीबीएसई 10वीं बोर्ड परीक्षा टर्म-2 का रिजल्ट जुलाई के पहले हफ्ते में जारी किया जाएगा। इसके चार जुलाई तक जारी होने की उम्मीद है। जबकि 12वीं बोर्ड टर्म-2 का रिजल्ट जुलाई के दूसरे सप्ताह तक जारी किया जाएगा। 12वीं कक्षा के परिणाम संभवतया 14 या 15 जुलाई को जारी किए जाएंगे।

टर्म-1 और टर्म-2 का वैटेज अभी भी तय नहीं
रिपोर्टों के अनुसार, कक्षा 10वीं की मूल्यांकन प्रक्रिया समाप्त हो गई है और कक्षा 12वीं की मूल्यांकन प्रक्रिया अभी भी कुछ केंद्रों पर लंबित है। वहीं, आधिकारिक सूत्रों को कहना है कि टर्म-1 और टर्म-2 का वेटेज अभी भी तय नहीं हो सका है। उम्मीद है कि कक्षा 10वीं के परिणाम 04 जुलाई, 2022 तक और कक्षा 12वीं के परिणाम 14 जुलाई तक घोषित किए जाएंगे।

Corona update: एक बार फिर बढ़े कोरोना के केस

0

असल न्यूज़: पिछले कई दिनों से देशभर में कोरोना मामलों में इजाफा देखने को मिला है. पिछले 24 घंटों में देश में कोविड-19 के 17,070 से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं. इसके बाद संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 4,34,69,234 हो गई है. वहीं, एक्टिव केसों की संख्या बढ़कर 1,07,189 हो गई.

एक्टिव केस एक लाख के पार

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 23 मरीजों के जान गंवाने से मृतकों की संख्या 5,25,139 पर पहुंच गई है. आंकड़ों के अनुसार, एक्टिव केसों की संख्या बढ़कर 1,07,189 पर पहुंच गई है, जो संक्रमण के कुल मामलों का 0.25 प्रतिशत है, जबकि कोविड-19 से रिकवरी रेट 98.55 प्रतिशत है.

डेली पॉजिटिविटी रेट हुआ 3.40 फीसदी

स्वास्थय मंत्रालय के अनुसार, संक्रमण का डेली रेट 3.40 प्रतिशत और वीकली रेट 3.59 प्रतिशत दर्ज किया गया. इस बीमारी से रिकवर होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 4,28,36,906 हो गई है जबकि डेथ रेट 1.21 फीसदी है. वहीं, अब तक देशभर में कोरोना वैक्सीन की 197.74 करोड़ डोज दी जा चुकी हैं.

ऐसे बढ़े मामले

गौरतलब है कि देश में सात अगस्त 2020 को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त 2020 को 30 लाख और पांच सितंबर 2020 को 40 लाख से अधिक हो गई थी. संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर 2020 को 50 लाख, 28 सितंबर 2020 को 60 लाख, 11 अक्टूबर 2020 को 70 लाख, 29 अक्टूबर 2020 को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख और 19 दिसंबर 2020 को एक करोड़ से अधिक हो गए थे. देश में पिछले साल चार मई को संक्रमितों की संख्या दो करोड़ और 23 जून 2021 को तीन करोड़ के पार पहुंच गई थी. इस साल 25 जनवरी को मामले चार करोड़ के पार हो गए थे.

आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में देश में जिन 23 मरीजों ने जान गंवाई है उनमें से 15 केरल के थे. महाराष्ट्र में तीन तथा छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, पंजाब, राजस्थान और पश्चिम बंगाल में एक-एक मरीज की मौत हुई. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि अब तक जिन लोगों की कोरोना वायरस के संक्रमण से मौत हुई है, उनमें से 70 प्रतिशत से अधिक मरीजों को अन्य गंभीर बीमारियां भी थीं. मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर बताया कि उसके आंकड़ों का भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के आंकड़ों के साथ मिलान किया जा रहा है.

मुंबई: आरे कॉलोनी में ही बनाया जाएगा मेट्रो कार शेड

0

असल न्यूज़: महाराष्ट्र में नई सरकार बनने के बाद ही पुरानी सरकार में लिए गए फैसलों को बदलने की कवायद शुरू हो गई है. बीते गुरुवार को नई सरकार की गठन के बाद राज्य सरकार ने महाधिवक्ता को निर्देश दिया कि मेट्रो कार शेड मुंबई की आरे कॉलोनी में ही बनाया जाएगा. रिपोर्ट्स के मुताबिक नई सरकार ने आदेश देते हुए कहा है कि आरे कालोनी में मेट्रो कार शेड बनाए जाने वाले मामले में महाराष्ट्र सरकार का पक्ष अदालत के सामने पेश किया जाना चाहिए. बीते गुरुवार को हुई मंत्रीमंडल में यह भी निर्णय लिया गया कि राज्य विधानमंडल का विशेष सत्र 2 और 3 जुलाई को मुंबई में बुलाया जाएगा. गुरुवार को हुई कैबिनेट बैठक में डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने नगर विकास विभाग के अधिकारियों को आरे में कार शेड निर्माण का प्रस्ताव कैबिनेट के समक्ष लाने का निर्देश दिया.

डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि कोलाबा-बांद्रा-सीप्ज़ ​​के बीच 33 किलोमीटर लंबी भूमिगत मेट्रो परियोजना कांजुरमार्ग भूखंड पर कानूनी तकरार के कारण अटक गई थी, जहां पिछली महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार ने मेट्रो कार शेड बनाने का प्रस्ताव रखा था. कैबिनेट बैठक में फडणवीस ने नौकरशाहों से पूछा कि क्या महाधिवक्ता के माध्यम से अदालतों को अवगत कराया जा सकता है कि कार शेड आरे में ही बनाया जाएगा. वहीं बैठक में सीएम एकनाथ शिंदे ने इस कदम का समर्थन किया. आरे से कार शेड को स्थानांतरित करने का कदम शिवसेना और उसकी पूर्व सहयोगी भाजपा के बीच विवाद का एक प्रमुख कारण रहा है.

राज्य की बागडोर संभालने के एक दिन बाद, 29 नवंबर, 2019 को उद्धव ठाकरे ने आरे में कार शेड बनाने के फडणवीस के फैसले को पलट दिया था. मुंबई में कई पर्यावरणविदों ने आरे में कार शेड के निर्माण का विरोध किया था, जो संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान का विस्तार है और तेंदुओं और अन्य जीवों के लिए एक निवास स्थान है. पर्यावरणविदों, जिन्होंने दावा किया था कि कार शेड मुंबई में हरियाली के बड़े हिस्से को नुकसान पहुंचाएगा, आदित्य ठाकरे द्वारा समर्थित थे. एमवीए सरकार के सत्ता में आने के तुरंत बाद, आरे में 804 एकड़ भूमि को आरक्षित वन घोषित कर दिया गया.

कांजुरमार्ग में वैकल्पिक जमीन पर कार शेड बनाने की मांग की गई थी. हालाँकि, बॉम्बे हाई कोर्ट ने दिसंबर 2020 में कांजुरमार्ग में शेड के निर्माण पर रोक लगाकर ठाकरे सरकार के सबसे बड़े फैसलों में से एक पर रोक लगा दी थी. भाजपा ने दावा किया था कि कार शेड को आरे से स्थानांतरित करने का निर्णय ठाकरे के अहंकार को संतुष्ट करने के लिए किया जा रहा है और इससे भूमिगत मेट्रो परियोजना के निर्माण में चार साल की देरी होगी और इसकी लागत में वृद्धि होगी.

एलपीजी सिलेंडर हुआ 198 रुपये सस्ता, जानिए आपके शहर में कितना घटा दाम

0

असल न्यूज़: भारत में महंगाई अपने चरम पर है. जीएसटी (वस्तु एवं सेवाकर) परिषद खाद्य पदार्थों की कीमतों में एक बार फिर बढ़ोतरी करने का प्लान बना रही है. अगर जीएसटी परिषद के विचाराधीन स्लैबों पर अमल में लाया जाता है, तो निकट भविष्य में पैकेटबंद खाद्य पदार्थों की कीमतों में बेतहाशा बढ़ोतरी हो जाएगी. इस बीच, राहत देने वाली बात यह है कि देश में सार्वजनिक क्षेत्र की तेल विपणन कंपनियों ने एलीपीजी की कीमतों में तकरीबन 198 रुपये कटौती करने का फैसला किया है. अब आप सोच रहे होंगे कि आपकी रसोई में यूज होने वाले 14.2 किलो वाले एलपीजी सिलेंडर के दाम घट गए हैं. मगर तेल कंपनियों ने रेस्टोरेंट और ढाबों में इस्तेमाल होने वाले व्यावसायिक सिलेंडरों की कीमतों में कटौती की है.

दिल्ली में सिलेंडर 198 रुपये सस्ता
मीडिया की रिपोर्ट्स के अनुसार, दिल्ली में आज इंडेन का एलपीजी सिलेंडर 198 रुपये सस्ता हो गया है. वहीं, कोलकाता में 182 रुपये, मुंबई में 190.50 रुपये और चेन्नई में 187 रुपये कमी की गई है. पेट्रोलियम कंपनी इंडियन ऑयल ने कॉमर्शियल सिलेंडर के रेट में यह कटौती की है, जबकि घरेलू एलपीजी सिलेंडर उपभोक्ताओं को कोई राहत नहीं मिली है. 14.2 किलो वाले घरेलू सिलेंडर नहीं हुआ है. घरेलू सिलेंडर अब भी 19 मई वाले रेट पर ही मिल रहा है.

जून में भी व्यावसायिक सिलेंडर के दाम में हुई थी कटौती
मीडिया की रिपोर्ट्स के अनुसार, इस साल के जून महीने में इंडेन का व्यावसायिक सिलेंडर 135 रुपये सस्ता हुआ था, जबकि मई में घरेलू एलपीजी सिलेंडर दो बार बढ़ोतरी की गई थी. घरेलू सिलेंडर के रेट महीने में पहली बार 7 मई को 50 रुपये बढ़ाए गए थे और 19 मई को भी घरेलू एलपीजी गैस सिलेंडर के दाम में वृद्धि की गई.

किस शहर में कितना है घरेलू सिलेंडर के दाम
रिपोर्ट्स के अनुसार, दिल्ली में घरेलू सिलेंडर के दाम 1,003 रुपये हैं. वहीं, मुंबई में 1,003 रुपये, कोलकाता में 1,029 रुपये, चेन्नई में 1,019 रुपये, लखनऊ में 1,041 रुपये, जयपुर में 1,007 रुपये, पटना में 1,093 रुपये, इंदौर में 1,031 रुपये हैं. इसके साथ ही, गुजरात के अहमदाबाद में 1,010 रुपये, पुणे में 1,006 रुपये, गोरखपुर में 1012 रुपये, भोपाल में 1009 रुपये, आगरा में 1016 रुपये और रांची में घरेलू सिलेंडर के दाम 1061 रुपये हैं.

एक साल में कितना बढ़ा घरेलू एलपीजी का दाम
दिल्ली में पिछले एक साल में घरेलू एलपीजी सिलेंडर का रेट 834.50 रुपये से बढ़कर 1003 रुपये पर पहुंच गया है. 14.2 किलो वाले घरेलू एलपीजी सिलेंडर के रेट में आखिरी बार 4 रुपये की बढ़ोतरी 19 मई 2022 को हुई थी. इससे पहले दिल्ली में 7 मई को रेट 999.50 रुपये प्रति सिलेंडर था. 22 मार्च 2022 के रेट 949.50 रुपये के मुकाबले सात मई को एलपीजी सिलेंडर 50 रुपये महंगा हुआ था. 22 मार्च को भी सिलेंडर की कीमत में 50 रुपये की उछाल आई थी. इससे पहले अक्टूबर 2021 से फरवरी 2022 तक घरेलू एलपीजी सिलेंडर के रेट दिल्ली में 899.50 रुपये पर टिके थे.

दिल्ली एयरपोर्ट पर कोकीन तस्करी में महिला गिरफ्तार, 947 ग्राम कोकीन बरामद

0

असल न्यूज़। राजधानी दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट पर कस्टम अधिकारियों ने एक महिला लाइब्रेरियन को कोकीन तस्करी के आरोप में अरेस्ट किया है। महिला ने अपना दिमाग तो खूब लगाया था लेकिन एयरपोर्ट पर जांच कर रहे कस्टम अधिकारियों को गच्चा देने में कामयाब नहीं हो सकी। महिला ने अपने बैग में 11 कुर्तों के बड़े बटन में 947 ग्राम कोकीन छुपा कर रखी थी। इस कोकीन की कीमत 13 करोड़ 26 लाख रुपये बताई जा रही है। कस्टम अधिकारियों ने बुधवार को इस महिला को सुरक्षा जांच के दौरान पकड़ लिया।

टर्मिनल-3 पर उतरी थी महिला अधिकारियों ने बताया कि 25 साल की महिला सोमवार को टर्मिनल-3 एयरपोर्ट पर उतरी थी। महिला के सामान ने 11 कुर्ते रखे थे। इन कुर्तों पर बड़े बटन लगाए गए थे, जो दिखने में थोड़े असामान्य लग रहे थे। अधिकारी ने बताया कि जांच के दौरान बटन को काट कर देखा गया। इस दौरान बटन में से कुछ सफेद चीज निकली। इसके बाद सभी बटनों को काट कर खोला गया। वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कुल 272 बटन में 972 ग्राम नारकोटिक्स पदार्थ मिला गया। डायग्नोस्टिक टेस्ट में पाया गया कि यह कोकीन थी। इस कोकीन की कीमत 13.26 करोड़ बताई गई।

महिला के पास से 59 लाख रुपये की विदेशी करंसी जब्त एक अन्य घटना में, सीआईएसएफ कर्मियों ने आईजीआई हवाई अड्डे पर 59 लाख रुपये की विदेशी करंसी जब्त की। सीआईएसएफ कर्मियों ने संदेह के आधार पर दो लोगों की सीसीटीवी फुटेज को मॉनिटर किया। ये लोग चंडीगढ़ जाने वाली फ्लाइट में सवार होने वाले थे। दोनों में एक व्यक्ति ने “संदेह पर, दो भारतीय यात्रियों के पूरे आंदोलन के सीसीटीवी फुटेज, जो चंडीगढ़ के लिए एक उड़ान के लिए बाध्य थे। उनमें से एक ने ‘जे’ पंक्ति चेक इन के लिए पहुंचा। बाद में दुबई जाने वाली अमीरात एयरलाइंस में एक बैग चेकइन किया और अपना बोर्डिंग पास लिया।

महिला चंडीगढ़ जाने वाली फ्लाइट का लिया बोर्डिंग पास इसके बाद वह वाशरूम में गया और अपने कपड़े बदलने के बाद, वह ‘बी’ पंक्ति के चेक-इन काउंटर पर पहुंचा। यहां उसने चंडीगढ़ जाने वाली फ्लाइट के लिए अपना बोर्डिंग पास लिया। सीआईएसएफ के एक अधिकारी ने बताया कि चतुराई से पूछताछ करने पर, यह पता चला कि वह व्यक्ति बड़ी मात्रा में विदेशी मुद्रा ले जा रहा था। पता चलने के डर से, उसने दुबई से चंडीगढ़ के लिए अपना डेस्टिनेशन बदल दिया। सीआईएसएफ ने बाद में दो और संदिग्धों की पहचान की। इनके पास से 19,740 सऊदी रियाल और 15,200 अमेरिकी डॉलर बरामद किए।

22,950FansLike
3,376FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Recent Posts