Home Lifestyle Health आज से दफ्तरों में शुरू होगी टीकाकरण की प्रक्रिया, जानिए आपके हर...

आज से दफ्तरों में शुरू होगी टीकाकरण की प्रक्रिया, जानिए आपके हर सवाल का जवाब

259
0

असल न्यूज़: कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए भारत सरकार ने टीकाकरण अभियान की गति बढा दी है। अब टीकाकरण को दूसरी श्रेणियों के लिए भी खोला जा रहा है।आज से भारत में वर्क प्लेस पर टीका लगाना शुरू किया जाएगा। सरकारी और निजी अस्पतालों के अलावा अब ऑफिस में भी वैक्सीन लगेगी। कोरोना वायरस की दूसरी लहर को देखते हुए सरकार ने टीकाकरण की गति बढ़ाने के लिए और ज्यादा से ज्यादा लोगों का टीकाकरण करने के लिए यह फैसला लिया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने राज्यों को निजी और सरकारी दोनों कार्यालयों में टीकाकरण की सुविधा की व्यवस्था करने करने के लिए कहा है, बशर्ते वहां कम से कम 100 लोग हों जिन्हें टीका लगाया जा सके। मंत्रालय ने बुधवार को एक बयान में कहा, राज्यों को निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के नियोक्ताओं और कार्यस्थल टीकाकरण के शुभारंभ की तैयारी के लिए कहा गया है। टीकाकरण प्रबंधन के साथ उचित परामर्श शुरू करने की सलाह दी गई है।

निजी कार्यस्थलों पर कोविड-19 टीकाकरण के लिए पैसे लिए जाएंगे। इसकी कीमत 250 रुपये प्रति डोज़ रखी गई है, जबकि जिला स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा आयोजित सरकारी कार्यालयों में सत्र निशुल्क होंगे। ये ऐसे ही होगा जैसे सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन मुफ्त लगाई जा रही है और प्राइवेट अस्पतालों में पैसे लिए जा रहे हैं।

वर्क प्लेस में होने वाले टीकाकरण करने के बार में सभी जानकारी-

-सभी ‘वर्क प्लेस टीकाकरण केंद्रों को सरकारी या निजी कोविड टीकाकरण केंद्र (CVC) के रूप में CoWin पोर्टल में पंजीकृत कराना होगा।

  • केंद्र सरकार ने टीकाकरण की सिर्फ जगह बदली है, नियम वहीं रहेंगे यानी सरकार ने जिन श्रेणी के लिए वैक्सीनेशन ओपन किया है, दफ्तरों में भी उसी के हिसाब से टीके लगेंगे। 45 साल से ऊपर के हर व्यक्ति को टीका लगाया जा रहा है। ऑफिस के लोगों की लिस्ट बना कर को-विन ऐप पर डालनी होगी।

-स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि इन सत्रों में केवल एक प्रकार की वैक्सीन दी जाएगी, ताकि लाभार्थी की पहली और दूसरी खुराक में वैक्सीन के प्रकारों को मिलाने से बचा जा सके।

  • CoWin में उपलब्ध लाभार्थियों की पूरी सूची, सभी सत्यापनकर्ताओं और टीका लगाने वालों को दिखाई देगी, ऑन-द-स्पॉट पंजीकरण का विकल्प भी उपलब्ध होगा।
  • वेरिफिकेशन के लिए (टीकाकरण अधिकारी -1) द्वारा अधिमानतः आधार कार्ड का उपयोग करके किया जाएगा। आधार के अलावा अन्य आईडी EPIC, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, NPR के तहत RGI द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड और फोटोग्राफ के साथ पेंशन दस्तावेज का इस्तेमाल किया जा सकता है।

-अगर आप सरकारी दफ्तर में काम करते हैं और उसी की ओर से वैक्सीन का कैंप लग रहा है, तो वैक्सीन मुफ्त में लगेगी। लेकिन अगर आप प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं, तो उसके लिए 250 रुपये प्रति डोज़ देने होंगे। हालांकि कई कंपनियां मुफ्त में अपने वर्कर्स के लिए टीका लगवा रही हैं।

-गाइडलाइन्स के मुताबिक, जहां भी वैक्सीन लगाई जाएगी, वहां पर स्थानीय स्वास्थ्य विभाग के लोग रहेंगे, ऑफिस के एक व्यक्ति को नोडल ऑफिसर बनाया जाएगा। एक वेटिंग रूम, वैक्सीनेशन रूम, ऑब्जर्वेशन रूम का होना जरूरी है। एक दिन में सौ लोगों को ही वैक्सीन लगाई जा सकेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here