Home Bengal भोपाल में जनता कर्फ्यू से पसरा सन्नाटा, अहमदाबाद में सड़क पर आरटी-पीसीआर...

भोपाल में जनता कर्फ्यू से पसरा सन्नाटा, अहमदाबाद में सड़क पर आरटी-पीसीआर टेस्ट

190
0

असल न्यूज़: देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र में 15 दिन का जनता कर्फ्यू लागू कर दिया है। इस दौरान राज्य में सभी आवश्यक वस्तुओं की अनुमति रहेगी लेकिन गैर जरूरी वस्तुओं पर प्रतिबंध रहेगा। वहीं बीते 24 घंटे में कोरोना के दैनिक मामलों ने सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। बुधवार को देश में 1.84 लाख से ज्यादा कोरोना के मामले सामने आए। इधर उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। 

दिल्ली: सत्येंद्र जैन का बयान, वेंटिलेटर की कोई कमी नहीं है
दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि हमारे पास 13 हजार बिस्तर हैं और यहां कोई वेंटिलेटर की कोई कमी नहीं है। यहां दिल्ली और अन्य राज्यों के मरीजों को भर्ती किया जा रहा है। केंद्र ने अपने 1,100 बिस्तर दिए। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, इसलिए हम लोगों से अपील करते हैं कि अगर जरूरी नहीं है कि घर से बाहर ना निकलें। 

गुजरात से 25,000 रेमडेसिविर इंजेक्शन मंगाएगी उत्तर प्रदेश सरकार

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कार्यालय ने एक बयान में कहा कि उत्तर प्रदेश में कोरोना की दवा रेमडेसिविर की कमी को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए हैं कि गुजरात सरकार से तत्काल प्रभाव से 25 हजार इंजेक्शन मंगवाए।

राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली और उत्तराखंड में भी सख्ती
राजस्थान में कोरोना का कहर बढ़ रहा है और इसी को देखते हुए प्रशासन ने दस शहरों में रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला लिया है। दिल्ली में भी नाइट कर्फ्यू का एलान कर दिया गया है। हरियाणा में आठवीं कक्षा के सभी स्कूल बंद कर दिए गए हैं। इधर उत्तराखंड में 12 राज्यों ने आने वाले लोगों को अपने साथ कोविड-19 की रिपोर्ट लाना अनिवार्य है।

बिहार में 30 अप्रैल तक स्कूल-कॉलेज बंद
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ समेत कई शहरों में नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला लिया है और सख्ती करने पर भी विचार किया जा रहा है। वहीं झारखंड की राजधानी रांची में सातवीं कक्षा के सभी स्कूल बंद करने का फैसला लिया गया है। बिहार में भी 30 अप्रैल तक स्कूल-कॉलेज बंद करने का फैसला लिया गया है।

गोवा और महाराष्ट्र में धारा 144 लागू
कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है और महाराष्ट्र में कोविड के संक्रमण को रोकने के लिए जनता कर्फ्यू का एलान कर दिया गया है, जो 30 अप्रैल तक जारी रहेगा। इधर गोवा में स्कूल बंद कर दिए गए हैं और राज्य में धारा 144 लगा दी है। वहीं गुजरात में 20 शहरों में रात 8 से सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू लगाने का एलान किया गया है और शादी में लोगों की संख्या को 100 तक सीमित कर दिया है।

होटल और रेस्त्रां में लोगों की क्षमता घटकर हुई 50 फीसदी
ओडिशा में भी कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने 12वीं तक के सभी स्कूलों को अगले आदेश तक बंद करने का फैसला लिया है। वहीं तमिलनाडु में धार्मिक कार्यक्रमों पर पूर्ण रोक लगा दी गई है और होटल और रेस्त्रां में लोगों की बैठने की क्षमता को घटाकर 50 फीसदी कर दिया है।

कर्नाटक, तेलंगाना और केरल में भी सख्ती
कर्नाटक के बंगलूरू समेत सात शहरों में रात दस बजे से सुबह पांच बजे तक का नाइट कर्फ्यू लगा दिया है। इसके अलावा तेलंगाना में स्कूल-कॉलेज और सभी विश्वविद्यालयों को अगले आदेश तक बंद करने का फैसला किया है। इसके अलावा केरल में विदेशों से आने वाले लोगों को सात दिन के लिए क्वारंटीन में भेजा जाएगा।

मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के कई इलाकों में नाइट कर्फ्यू
भोपाल, छिंदवाड़ा, कटनी, बैतूल और खरगोन समेत कई शहरों में 19 अप्रैल तक कर्फ्यू का एलान कर दिया गया है। यहां 30 अप्रैल तक स्कूल बंद रहेंगे और आर्थिक गतिविधियां जारी रहेंगी। वहीं छत्तीसगढ़ के रायपुर में 19 अप्रैल तक पूर्ण लॉकडाउन है। वहीं शहरी क्षेत्रों में नाइट कर्फ्यू लगा दिया है और वाहनों में यात्रियों को बैठाने की क्षमता को घटाकर 50 फीसदी कर दिया है।

हिमाचल में स्कूल-कॉलेज बंद
कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए हिमाचल प्रदेश में स्कूल-कॉलेज को बंद करने का फैसला लिया गया है। वहीं यहां कार्यक्रमों में केवल 50 फीसदी लोगों को ही अनुमति मिलेगी। इसके अलावा चंडीगढ़ में रात 10 से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू लगा रहेगा और 

गुजरात: अहमदाबाद की सड़कों पर आरटी-पीसीआर टेस्ट की योजना शुरू
रोजाना कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अहमदाबाद में सड़कों पर आरटी-पीसीआर टेस्ट करना शुरू कर दिया है। आयोजक ने कहा कि इससे कोरोना को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी और लैब में ज्यादा भीड़ भी नहीं बढ़ेगी। जिन लोगों का टेस्ट लिया जा रहा है, उन्हें क्यूआर कोड के जरिए खुद को रजिस्टर कराना होगा और रिपोर्ट का परिणाम 24 घंटे में आ जाएगा।

पंजाब में नाइट कर्फ्यू, स्कूल-कॉलेज बंद
मौजूदा समय में कोरोना का प्रकोप देश के कई राज्यों के छोटे-छोटे शहरों में फैल गया है। पंजाब में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए नाइट कर्फ्यू लगा दिया है और सभी तरह के राजनीतिक और धार्मिक कार्यक्रमों पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसके अलावा स्कूल और कॉलेज भी बंद हैं।

उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव कोरोना संक्रमित
उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से इस बात की जानकारी दी। उन्होंने लिखा कि अभी-अभी मेरी कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मैंने अपने आपको सबसे अलग कर लिया है व घर पर ही उपचार शुरू हो गया है। पिछले कुछ दिनों में जो लोग मेरे संपर्क में आए हैं, उन सबसे विनम्र आग्रह है कि वो भी जांच करा लें। उन सभी से कुछ दिनों तक आइसोलेशन में रहने की विनती भी है।

भोपाल में जनता कर्फ्यू के दौरान दुकानें बंद
मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में जनता कर्फ्यू लागू हो गया है। इस दौरान कई तस्वीरें सामने आईं। भोपाल में दुकानों को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है और सड़कें सुनसान हैं।

ब्रिटेन में 97 दिन के बाद अनलॉक
ब्रिटेन में कोरोना से 97 दिनों के बाद लोगों को राहत मिली है। वहां 97 दिन बाद अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हुई है। यह दुनिया का सबसे लंबा और सख्त लॉकडाउन था, जिसमें अब प्रतिबंध हटने शुरू हो गए हैं। ब्रिटेन में महीनों बाद जिम, हेयरसेलून और रिटेल स्टोर खोले गए हैं। वहीं वैक्सीनेशन अभियान की बात करें तो ब्रिटेन ने अपनी 48 फीसदी आबादी को कोरोना की वैक्सीन लगा दी है।

कोरोना : दैनिक मामलों ने तोड़े सभी रिकॉर्ड्स, बीते 24 घंटे में सामने आए 1.84 लाख मामले
देश में कोरोना वायरस के दैनिक मामलों ने सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। मंगलवार को कोरोना के मामलों में मामूली गिरावट देखी गई थी लेकिन बुधवार को देश में कोविड 19 के 1.84 लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं। वहीं एक हजार से ज्यादा लोगों ने कोरोना के आगे दम तोड़ा है। मौजूदा समय में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 13,65,704 हो गई है। बुधवार को सामने आए नए मरीज का आंकड़ा अबतक का सर्वाधिक है।

वीआईपी कल्चर से परेशान एम्स भुवनेश्वर के रेजिडेंट डॉक्टरों ने पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी
अस्पतालों में वीआईपी कल्चर से परेशान होकर एम्स भुवनेश्वर के डॉक्टर एसोसिएशन ने प्रधानमंत्री मोदी को चिट्ठी लिखी है। डॉक्टरों ने लिखा कि एम्स जैसे सरकारी अस्पतालों में नौकरशाहों, राजनेताओं और राजनीतिक पार्टी के कार्यकर्ताओं को इलाज में मिलने वाली तरजीह को खत्म किया जाए। चिट्ठी में लिखा गया कि सभी लाइफ सपोर्ट, आईसीयू सेवाओं को वीआईपी लोगों के लिए बुक किया जा रहा है। यहां तक कि कई लोगों को इसकी जरूरत भी नहीं है लेकिन, उन्हें आइसोलेशन में रखकर काम चलाया जा सकता है। 

मध्यप्रदेश: इंदौर का राधा स्वामी सत्संग ब्यास बना कोविड सेंटर
मध्यप्रदेश के इंदौर में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जिला प्रशासन ने राधा स्वामी सत्संग ब्यास ग्राउंड को कोविड-19 सेंटर में बदलने का फैसला लिया है। नोडल अधिकारी ने कहा कि यहां एसिम्प्टोमैटिक लक्षण वाले मरीजों का रखा जाएगा। पहले चरण में 500 बिस्तर, दूसरे चरण में अगर जरूरत पड़ी तो एक हजार बिस्तर की सुविधा की जाएगी। यहां दवाई, खाना एक दम मुफ्त होगा।

भोपाल में जनता कर्फ्यू से पसरा सन्नाटा, अहमदाबाद में सड़क पर आरटी-पीसीआर टेस्ट
देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर बेहद खतरनाक है और दैनिक मामलों का आंकड़ा हर दिन नए रिकॉर्ड तोड़ रहा है। वहीं कोरोना के मामलों पर जोर देते हुए महाराष्ट्र सरकार ने पूरे राज्य में 15 दिन का कर्फ्यू (मिनी लॉकडाउन) लगाने का फैसला किया है। इस दौरान आवश्यक वस्तुओं को छोड़कर दूसरी सभी सेवाओं पर प्रतिबंध लगा रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here