Home Crime DTC का कंडक्टर नकली टिकट दे रहा था, विजिलेंस टीम ने पकड़ा

DTC का कंडक्टर नकली टिकट दे रहा था, विजिलेंस टीम ने पकड़ा

279
0

असल न्यूज़: डीटीसी की बसों में सवारियों से पैसे लेकर कंडक्टर द्वारा उन्हें नकली टिकट देने वाला एक फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ है। इसका खुलासा खुद डीटीसी की विजिलेंस ब्रांच ने किया है। जिसने 26 मार्च को वसंत विहार डिपो की रूट नंबर-604 पर चलने वाली डीटीसी की एक बस को चेक करके कंडक्टर के पास नकली टिकट बरामद किए। कंडक्टर के लॉकर से भी नकली टिकट मिले। मामले में शक है कि इस तरह से कुछ लोगों ने बाकायदा सुनियोजित तरीके से अपनी प्रिंटिंग प्रेस लगाकर इसमें लाखों नकली टिकट छाप डाले।

डीटीसी की विजिलेंस ब्रांच की शिकायत पर वसंत कुंज (साउथ) थाना पुलिस में एफआईआर दर्ज की गई है। साउथ-वेस्ट दिल्ली के डीसीपी इंगित प्रताप सिंह ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि जांच शुरू कर दी गई है। मामले में दर्ज एफआईआर के मुताबिक, शक है कि इस गोरखधंधे में डीटीसी के और भी कई कंडक्टर शामिल हो सकते हैं। जिन्होंने एक गैंग के रूप में काम करते हुए कम से कम 70 लाख रुपये के चार लाख नकली टिकट छाप लिए।

बसों में नकली टिकटों को कब से सवारियों को दिया जा रहा था। अब इसकी भी जांच की जाएगी। इसमें भी शक है कि यह गोरखधंधा नवंबर 2019 से या इससे भी पहले से चल रहा हो सकता है। पुलिस ने बताया कि इस मामले में डीटीसी की विजिलेंस टीम ने 26 मार्च को वसंतकुंज डी-1 बस स्टैंड पर रूट नंबर-604 पर चलने वाली एक डीटीसी बस को चेक किया था। इसके कंडक्टर के पास संदिग्ध टिकट मिले। वह और टिकटों से नहीं मैच नहीं हो रहे थे। इनमें से तीन टिकटों को कंडक्टर ने पैसे लेकर सवारियों को दिया था। कंडक्टर को लेकर विजिलेंस की टीम वसंत विहार डिपो आ गई। जहां कंडक्टर के लॉकर से भी कुछ संदिग्ध टिकट बरामद किए गए। डिपो से जांच करने पर पता लगा कि यह टिकट वहां से जारी नहीं हुए थे।

इसके बाद टीम ने अपनी उस प्रिंटिंग प्रेस से संपर्क किया। जहां असली टिकट छपवाई जाती हैं। वहां जांच करने पर पता लगा कि इस तरह के सीरियल नंबर और दिखाई देने वाली टिकट उस प्रेस में नहीं छपी हैं। साफ हो गया कि यह नकली टिकट थे। इसके बाद पुलिस में मामला दर्ज कराया गया। मामले में और बड़ा गड़बड़झाला निकलने का शक है। इस मामले में कई और कंडक्टर और ड्राइवरों भी मिले हो सकते हैं। पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here