Home Delhi सिंधु गांव में MCD की डिस्पेंसरी में स्टाफ नहीं और मोहल्ला क्लीनिक...

सिंधु गांव में MCD की डिस्पेंसरी में स्टाफ नहीं और मोहल्ला क्लीनिक पड़े बंद, गांव वासी परेशान

265
0

दिल्ली। नरेला दिल्ली नगर निगम की डिस्पेंसरी से है। डॉक्टर गायब इलाज के लिए लोग लगा रहे हैं। चक्कर डिस्पेंसरी में खाली पड़ी है। कुर्सियां लेकिन दवाइयों का है। पूरा भंडार लेकिन दवा देने वाला कोई नहीं राजधानी दिल्ली में कोरोना बढ़ते मामलों को देखते हुए।

स्थानीय निवासी विनोद शेरावत ने बताया कि काफी लंबे समय से दिल्ली नगर निगम के डिस्पेंसरी हुए दिल्ली सरकार का मोहल्ला क्लीनिक बंद पड़ा है इस मामले को लेकर कई बार विधायक को भी बताया गया लेकिन विधायक की तरफ से भी कोई कार्यवाही नहीं की गई है अब किस कोरोना काल में आम लोग दवा लेने के लिए कहा जाए तो केक मात्र दिल्ली नगर निगम और मोहल्ला क्लीनिक ही गांव में चल रहे थे। लेकिन कुछ समय से दिल्ली नगर निगम की डिस्पेंसरी में तो डॉक्टर ही नहीं आते वही मोहल्ला क्लीनिक पर ताला लगा हुआ है।

दिल्ली सरकार ने नरेला स्थित सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल को कोविड-19 के मरीजों के लिए बना दिया गया। जिसके चलते नरेला विधानसभा क्षेत्र के लोग छोटे-मोटे इलाज के लिए डिस्पेंसरी ऊपर निर्भर हो गए ताजा मामला नरेला विधानसभा क्षेत्र के सिंधु गांव का है। जहां पर दिल्ली नगर निगम की डिस्पेंसरी में डॉक्टर ही मौजूद नहीं है। साथ ही दिल्ली सरकार के मोहल्ला क्लीनिक पर भी ताला लटका हुआ है। अब ऐसे में स्थानीय लोग है परेशान प्रशासन से लगा रहे हैं। गुहार

दिल्ली नगर निगम डिस्पेंसरी में दवा लेने आए एक बुजुर्ग डिस्पेंसरी में तैनात एक चौकीदार से दवा मांगते हुए नजर आए गार्ड कैमरे को देख कर बात करने से ही मना कर गया। इस महामारी के दौरान तो कभी जब डिस्पेंसरी में नहीं होंगे तो आप लोग दवा लेने के लिए कहां जाएंगे क्योंकि छोटे-मोटे हिला जो के लिए डिस्पेंसरी ऊपर ही निर्धारित रहना पड़ता है लेकिन डिस्पेंसरी से डॉक्टर अक्सर नदारद रहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here