Home Covid-19 2021: CBSE, ICSE 12वीं बोर्ड परीक्षा होगी या नहीं, सुप्रीम कोर्ट में...

2021: CBSE, ICSE 12वीं बोर्ड परीक्षा होगी या नहीं, सुप्रीम कोर्ट में दायर हुई याचिका

252
0

असल न्यूज़। सुप्रीम कोर्ट में CBSE बोर्ड 12th परीक्षा 2021 और ICSE बोर्ड 12th परीक्षा 2021 की परीक्षाओं को रद्द करने के लिए याचिका दायर की गई है. इस याचिका में केंद्र सरकार को CBSE, ICSE 12वीं बोर्ड परीक्षा को रद्द करने के निर्देश देने को कहा गया है. इससे पहले CBSE ने 14 अप्रैल को 10वीं कक्षा की परीक्षा रद्द कर दी थी और 12वीं कक्षा के लिए परीक्षा स्थगित कर दी गई थी. CISCE ने भी 16 अप्रैल और 19 अप्रैल को 10वीं कक्षा की परीक्षा रद्द कर दी थी और 12वीं कक्षा की परीक्षा को अनिश्चित अवधि के लिए स्थगित कर दिया था 12वीं की परीक्षा रद्द होगी या नहीं CBSE ने कर दिया साफ; यह है ताजा अपडेट।

याचिका में अदालत से 14, 16 और 19 अप्रैल, 2021 की CBSE और CISCE अधिसूचनाओं को रद्द करने के लिए कहा गया है. इसमें केवल 12वीं कक्षा की परीक्षा को स्थगित करने से संबंधित धाराओं के संबंध में जारी की गई थीं. अधिवक्ता ममता शर्मा द्वारा दायर याचिका में अदालत से एक विशिष्ट समय सीमा के भीतर 12वीं कक्षा का रिजल्ट घोषित करने के लिए एक वस्तुनिष्ठ कार्यप्रणाली तैयार करने को कहा गया है. याचिका में कहा गया है कि 12वीं कक्षा (CBSE Board 12th Exam 2021) के छात्रों के साथ “सौतेला, मनमानी, अमानवीय निर्देश” एक अनिश्चित अवधि के लिए अपनी अंतिम परीक्षा (CBSE Board 12th Exam 2021) स्थगित करने के लिए जारी किए गए हैं. 10वीं के बाद अब कैंसिल हो सकती हैं 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं हो रही समीक्षा.

याचिका में कहा गया. अभूतपूर्व स्वास्थ्य आपातकाल और देश में COVID​​​​-19 मामलों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर परीक्षा (CBSE Board 12th Exam 2021) का संचालन, या तो ऑफ़लाइन या ऑनलाइन या आगामी हफ्तों में संभव नहीं है और परीक्षा (CBSE Board 12th Exam 2021) में देरी से छात्रों को अपूरणीय क्षति होगी क्योंकि विदेशी विश्वविद्यालयों में उच्च शिक्षा पाठ्यक्रमों में समय पर प्रवेश ले पाना संभव नहीं हो पाएगा.” इसमें कहा गया है कि रिजल्ट की घोषणा में देरी अंततः छात्रों के एक सेमेस्टर में बाधा उत्पन्न करेगी क्योंकि 12वीं कक्षा के रिजल्ट घोषित होने तक प्रवेश की पुष्टि नहीं की जा सकती है. ये क्या बोल गए केंद्रीय मंत्री कोर्ट कह रही सबका टीकाकरण करो, अब वैक्सीन नहीं तो क्या हम फांसी लगा लें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here