Home Covid-19 ग्रेटर कैलाश थाना एसएचओ व उनकी टीम अपने क्षेत्र के लोगो के...

ग्रेटर कैलाश थाना एसएचओ व उनकी टीम अपने क्षेत्र के लोगो के लिए बनी देवदूत

186
0

असल न्यूज़। दिल्ली पुलिस जिंदगी के साथ भी और जिंदगी के बाद भी यह स्लोगन भले ही किसी संस्था का हो लेकिन जमीनी हकीकत दिल्ली पुलिस दिखा रही है। ग्रेटर कैलाश इलाके में दर्जनों लोग कोरोना संक्रमण के कारण अपनी जान गवा दिया है। ऐसे में दिल्ली पुलिस सभी मृतक लोगों के घर जाकर श्रद्धांजलि दे रही है। और उनके परिवार को आश्वासन दे रही है। कि उन्हें किसी भी तरह की कोई जरूरत पड़े तो दिल्ली पुलिस को अपना परिवार समझे और किसी भी वक्त मदद के लिए उन्हें फोन कर सकते हैं। 

जिंदगी के साथ भी और जिंदगी के बाद भी ये स्लोगन साउथ दिल्ली के कैलाश इलाके में देखने को मिला। इस क्षेत्र में किसी ने अपने पिता को खोया तो किसी ने अपने मां को तो किसी के घर का इकलौता सहारा खो दिया। कोरोना संक्रमण के कारण इन सभी घरों में मातम पसरी हुई है इनके परिजन, दोस्त या दूर के रिस्तेदार अभी की स्थिति में कोई घर आना नही चाहेंगे और न ही आ सकता है। क्योंकि दिल्ली के लॉक डाउन है।

ऐसे में इनके दर्द पर मरहम लगाने के लिए ग्रेटर कैलाश थाने के एसएचओ रितेश कुमार अपने सहयोगी टीम एसआई विनोद भाटी, एएसआई मधुसूदन, एएसआई दिनेश पंडित, एएसआई पुरणचंद शर्मा, हेड कॉन्स्टेबल ओमप्रकाश, कॉन्स्टेबल दिग्विजय, कॉन्स्टेबल राज कुमार और कॉन्स्टेबल विनोद के साथ क्षेत्र में जितने भी कोरोना संक्रमित के कारण मौत हुई है उनके घरों पर जा रहे हैं। 

टीम उनके परिजनों की मौत पर दुख व्यक्त करने के साथ ही सभी परिवारों को अस्वस्थ भी कर रहे हैं कि उन्हें किसी भी तरह का कोई दिक्कत हो। जैसे कि अस्थि विसर्जन के लिए गाड़ियों का पास बनवाना मृतक लोगों का डेथ सर्टिफिकेट बनवाना हो इसके अलावा बीमारी को लेकर ऑक्सीजन दवाइयां खाने-पीने के किसी तरह की भी दिक्कत हो तो वह 24 घंटे उपलब्ध हैं। इस क्षेत्र का कोई भी सदस्य 

अपने स्थानीय एसएचओ या उनके स्टॉफ को कॉल कर सकता है। दिल्ली पुलिस टीम के द्वारा यह काफी सराहनीय प्रयास है और जिससे इस क्षेत्र में रह रहे लोगो के मन में आत्मविश्वास जगेगी। क्षेत्र में पहुँची दिल्ली पुलिस की टीम को सभी लोगों ने धन्यवाद किया। इनमें कई घर ऐसे भी थे। जिनके अपनों के खोने के बाद उसका अंतिम संस्कार दिल्ली पुलिस ने ही किया था। अब ऐसे में मौत के बाद भी जब दिल्ली पुलिस इतना सहारा दे रही है। ऐसे में स्थानीय लोग दिल्ली पुलिस के इस सकारात्मक सहयोग के लिए दिल से धन्यवाद दे रहे हैं।

कोरोना न जाने कितने घरों का सहारा छीन लिया। न जाने कितने परिवार में अब कोई कमाने वाला नहीं है। न जाने कितनी ही महिला जिसका इकलौता वारिस चला गया। ऐसे में दिल्ली पुलिस द्वारा श्रद्धांजलि और मदद के लिए हाथ बढ़ाना बेहद सराहनीय है। इस सराहनीय प्रयास है साफ है कि दिल्ली पुलिस बस सिर्फ हमारी सुरक्षा के लिए ही नही हर संकट और मुश्किल परिस्थिति में भी जिस तरह से दिल्ली पुलिस मदद कर रही है। ऐसा लगता है मानव यह दिल्ली पुलिस नहीं कोई देवदूत है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here