Home Covid-19 CBSE 12th Exam: राज्‍य 12वीं बोर्ड परीक्षा के खिलाफ, मनीष सिसोदिया ने...

CBSE 12th Exam: राज्‍य 12वीं बोर्ड परीक्षा के खिलाफ, मनीष सिसोदिया ने कहा

154
0

असल न्यूज़। Corona महामारी की दूसरी लहर में जब देश में चारों ओर मृतकों की संख्या बढ़ती जा रही है. ऐसे माहौल में क्या सरकारों को CBSE 12वीं की परीक्षाएं 2021 आयोजित करनी चाहिए।

इस सवाल का जवाब तलाशने के लिए आज रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हाई पावर मीटिंग की जा रही है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में हो रही इस बैठक में केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और विभिन्न राज्यों के शिक्षा मंत्री भी शामिल हैं. बैठक में शामिल दिल्ली के डिप्टी सीएम ने दावा किया कि अधिकतर राज्यों के शिक्षा मंत्रियों ने कोरोना के मौजूदा हालात को देखते हुए 12वीं की परीक्षा कराए जाने के खिलाफ राय दी है.

मनीष सिसोदिया ने कहा, ‘कहा जा रहा है कि कोरोना की अगर तीसरी लहर आएगी तो बच्चों को नुकसान पहुंचाएगी. दिल्ली सरकार किसी भी तरह की परीक्षा कराएं जाने के पक्ष में नहीं है. पहले बच्चों को वैक्सीन की डोज़ लग जाए उसके बाद परीक्षा लेना सुरक्षित हो जाएगा.

सूत्रों के मुताबिक देश में 12वीं के बोर्ड एग्जाम होंगे या नहीं, इसको लेकर केंद्र और राज्यों का मंथन अभी जारी है. सूत्रों का कहना है कि कुछ राज्यों ने फिलहाल Exam कराने से साफ़ मना कर दिया है. हालांकि कुछ राज्य शर्तों के साथ एग्जाम कराने को तैयार हैं. फिलहाल परीक्षा पर अभी फाइनल फैसला नहीं हो पाया है.

दिल्ली का फिलहाल एग्जाम कराने से इनकार
सूत्रों के मुताबिक दिल्ली सरकार ने फिलहाल 12वीं के एग्जाम कराने से इनकार कर दिया है. ज्यादातर राज्यों ने कहा कि कोरोना नियन्त्रण में आने के बाद ही परीक्षा कराई जाएं. बैठक में सीबीएसई के इस प्रस्ताव पर भी विचार किया गया कि केवल 20 विषयों के ही एग्जाम हों. इस एग्जाम में केवल वैकल्पिक सवाल पूछे जाएं और उसकी अवधि भी 3 घंटे से घटाकर डेढ़ घंटे यानी 90 मिनट कर दी जाए.

पीएम मोदी लेंगे परीक्षा पर आखिरी फैसला
जानकारी के मुताबिक इस साल 12वीं के बोर्ड एग्जाम होंगे या नहीं. इस पर केंद्र और राज्यों के बीच चल रही बैठक में अब तक कोई आखिरी फैसला नहीं हो पाया है. सूत्रों के मुताबिक आज की बैठक की रिपोर्ट प्रधानमंत्री कार्यालय से साझा की जाएगी. उसके बाद 30 मई को एक बार फिर राज्यों के शिक्षा मंत्रियों के साथ बैठक होगी.इसके बाद केंद्र सरकार परीक्षा को लेकर कोई घोषणा करेगी.

सूत्रों के मुताबिक देश में 12वीं के बोर्ड एग्जाम होंगे या नहीं, इसको लेकर केंद्र और राज्यों का मंथन अभी जारी है. सूत्रों का कहना है कि कुछ राज्यों ने फिलहाल Exam कराने से साफ़ मना कर दिया है. हालांकि कुछ राज्य शर्तों के साथ एग्जाम कराने को तैयार हैं. फिलहाल परीक्षा पर अभी फाइनल फैसला नहीं हो पाया है.

सूत्रों के मुताबिक दिल्ली सरकार ने फिलहाल 12वीं के एग्जाम कराने से इनकार कर दिया है. ज्यादातर राज्यों ने कहा कि कोरोना नियन्त्रण में आने के बाद ही परीक्षा कराई जाएं. बैठक में सीबीएसई के इस प्रस्ताव पर भी विचार किया गया कि केवल 20 विषयों के ही एग्जाम हों. इस एग्जाम में केवल वैकल्पिक सवाल पूछे जाएं और उसकी अवधि भी 3 घंटे से घटाकर डेढ़ घंटे यानी 90 मिनट कर दी जाए.

पीएम मोदी लेंगे परीक्षा पर आखिरी फैसला
जानकारी के मुताबिक इस साल 12वीं के बोर्ड एग्जाम होंगे या नहीं. इस पर केंद्र और राज्यों के बीच चल रही बैठक में अब तक कोई आखिरी फैसला नहीं हो पाया है. सूत्रों के मुताबिक आज की बैठक की रिपोर्ट प्रधानमंत्री कार्यालय से साझा की जाएगी. उसके बाद 30 मई को एक बार फिर राज्यों के शिक्षा मंत्रियों के साथ बैठक होगी.इसके बाद केंद्र सरकार परीक्षा को लेकर कोई घोषणा करेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here