Home Crime 40 साल पहले हुए विवाह को ‘मान्यता’ देने से सॉफ्टवेयर का इनकार,...

40 साल पहले हुए विवाह को ‘मान्यता’ देने से सॉफ्टवेयर का इनकार, दंपति ने दिल्ली हाईकोर्ट से लगाई गुहार

82
0

असल न्यूज़: दिल्ली हाईकोर्ट ने मैरिज रजिस्ट्रेशन से संबंधित मामले एक दंपति की याचिका पर दिल्ली सरकार से जवाब मांगा है। इस दंपति के मुताबिक, उनकी शादी 40 साल पहले हुई थी, लेकिन वे इसका ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन नहीं करा पा रहे हैं क्योंकि 1981 में हुई शादी के वक्त कानूनी रूप से उनकी उम्र कम होने की वजह से सॉफ्टवेयर उनका आवेदन स्वीकार नहीं कर रहा है।

जस्टिस रेखा पल्ली की सिंगल बेंच ने गुरुवार को शादी का रजिस्ट्रेशन कराने का निर्देश देने के लिए दायर याचिका पर प्राधिकारियों, अलीपुर के एसडीएम और उत्तर पश्चिम दिल्ली के जिलाधीश को नोटिस जारी किए। इन सभी को दो सप्ताह में जवाब देने का निर्देश दिया गया है। अदालत ने इस मामले को अब 23 दिसंबर को सुनवाई के लिए सूचीबद्ध कर दिया।

याचिका में कहा गया है कि दंपति ने अपनी शादी का रजिस्ट्रेशन कराने के लिए अलीपुर के एसडीएम से सभी दस्तावेजों के साथ संपर्क किया था, लेकिन रजिस्ट्रेशन नहीं हो सका क्योंकि 28 मई 1981 को विवाह के दिन पति की उम्र 21 साल से कम होने और पत्नी की उम्र 18 साल से कम होने की वजह से सॉफ्टवेयर ने आवेदन स्वीकार नहीं किया।

दंपति की ओर से पेश हुए वकील जे.एस. मान ने कहा कि याचिकाकर्ता ने स्पेशल मैरिज एक्ट, 1954 की धारा 15 में निर्धारित मैरिज रजिस्ट्रेशन के लिए सभी शर्तों को पूरा किया है क्योंकि उन्होंने रजिस्ट्रेशन के समय 21 वर्ष की आयु पूरी कर ली है और उनकी शादी 28 मई 1981 को हिंदू वैदिक संस्कार के अनुसार हुई थी।

याचिका में कहा गया है कि शादी की तारीख से वे पति-पत्नी के रूप में अपना पारिवारिक जीवन बिता रहे हैं और उनके चार बच्चे हैं। याचिका में कहा गया है कि अधिकारियों ने अब तक न तो सॉफ्टवेयर में सुधार किया है और ना ही किसी अन्य तरीके से जोड़े के विवाह को पंजीकृत किया है, जो उनके मौलिक अधिकारों और कानून का पालन न करने के कारण अन्यायपूर्ण, मनमाना और अवैध है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here