Home Crime नरेला मंडी से धान बेचकर लौट रहे किसान को लूटा

नरेला मंडी से धान बेचकर लौट रहे किसान को लूटा

78
0

असल न्यूज़। दिल्ली की नरेला मंडी में धान बेचकर लौट रहे एक किसान से ट्रैक्टर चालक और एक युवक ने 40 हजार रुपये लूट लिए। इसके बाद दोनों किसान को हाथ-पैर बांधकर सड़क किनारे डाल कर फरार हो गए। बुधवार सुबह आसपास के युवकों ने किसान बंधन मुक्त किया। पीड़ित किसी तरह अग्रवाल मंडी टटीरी चौकी पहुंचा। आरोप है कि पुलिस ने अमानवीय चेहरा दिखाया और उसकी मदद करने की जगह चौकी से टरका दिया पीड़ित किसान ने बागपत कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराने को शिकायत दी है।

ढ़िकौली गांव के रहने वाले किसान अरविंद पुत्र रणबीर ने तीन दिन पहले अपनी धान की फसल को दिल्ली की नरेला मंडी मेें बेचा था। मंडी से नगद रुपये ना देकर चेक दिया गया। कहा गया कि दो-चार दिन बाद चेक वापस देकर अपने रुपये ले जाए। इस पर अरविंद मंगलवार को नरेला मंडी से 40 हजार रुपये लेकर घर लौट रहा था। देरी होने के कारण बहालगढ़ से बागपत की तरफ आ रहे एक ट्रैक्टर पर बैठ गया। ट्रैक्टर पर चालक के अलावा एक अन्य युवक था, जो अरविंद को बागपत उतारने की जगह सूरजपुर महनवा में अंडरपास के पास लेे गए। यहां किसान के साथ मारपीट की और 40 हजार रुपये लूटकर हाथ-पैर बांधकर सड़क किनारे डाल कर फरार हो गए।

गांव के युवक बुधवार सुबह को घूमने निकले तो उन्होंने अरविंद के हाथ-पैर की रस्सी खोल दी। इसके बाद अरविंद किसी तरह अग्रवाल मंडी टटीरी चौकी पहुंचा। बताया कि एक पुलिस कर्मी चौकी अंदर बैठा चाय पी रहा था। उसने पुलिस कर्मी को पूरी घटना के बारे में बताया। आरोप है कि पुलिस कर्मी ने कोई कार्रवाई करने की जगह यह कहकर टरका दिया कि वह पहले अपनी डाक्टरी कराए और कोतवाली बागपत जाकर शिकायत दें। चौकी से निराश होकर अरविंद बागपत कोतवाली पहुंचा और तहरीर दी।

सोनीपत में बीसीए कर रही बेटी की जमा करनी थी फीस
किसान अरविंद ने बताया कि उसने साढ़े चार बीघा जमीन में धान की फसल की बुआई की थी। करीब छह महीने तक दिन-रात मेहनत की। सोचा था कि फसल अच्छी होगी तो उसे बेचकर मिलने वाले रुपये से बेटी की फीस जमा करेगा। बताया कि उसकी बेटी सोनीपत में बीसीए कर रही है। उसकी एक साल की फीस करीब 85 हजार रुपये है। 45 हजार रुपये पहले जमा किए जा चुके है तो उसकी बाकी 40 हजार रुपये फीस खाते में जमा करनी थी। मगर, फीस जमा करने से पहले ही रुपये लूट लिए गए।
यह मामला अब संज्ञान में आया है। इसमें जांच कराकर आरोपियों को पकड़ा जाएगा। चौकी पर किसी की बात नहीं सुनी गई है तो उसका भी पता किया जाएगा। आरोप सही मिलने पर कार्रवाई होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here