Home Punjab बड़ा हादसा: पंजाबी अभिनेता दीप सिद्धू की मौत

बड़ा हादसा: पंजाबी अभिनेता दीप सिद्धू की मौत

133
0

कुंडली-पलवल-मानेसर (केएमपी) एक्सप्रेस-वे पर टोल प्लाजा के पास मंगलवार रात स्कॉर्पियो गाड़ी के ट्राला में टकराने से मशहूर पंजाबी गायक संदीप उर्फ दीप सिद्धू की मौत हो गई जबकि उनकी मंगेतर रीना राय चोटिल हो गईं। हादसा उस समय हुआ जब दीप सिद्धू अपनी मंगेतर के साथ स्कॉर्पियो से दिल्ली से पंजाब जा रहे थे। हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर खरखौदा सीएचसी भेजा। उनकी मंगेतर को भी सीएचसी में भर्ती कराया गया है। 

दीप सिद्ध कुंडली बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन के दौरान उस समय सुखिर्यों में आए थे, जब उन्होंने लाल किले पर धार्मिक झंडा फहराया था। एसएसपी राहुल शर्मा ने खरखौदा पहुंचकर घटना की जानकारी ली। पंजाब के बठिंडा स्थित नेहरू कॉलोनी निवासी पंजाबी गायक संदीप उर्फ दीप सिद्धू (41) अपनी मंगेतर अमेरिका निवासी रीना राय के साथ मंगलवार रात स्कॉर्पियो से दिल्ली से पंजाब जा रहे थे। 

केएमपी पर खरखौदा के पास पिपली टोल प्लाजा के नजदीक उनकी गाड़ी अचानक ट्राला से टकरा गई। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि गाड़ी के आगे का हिस्सा बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने दीप सिद्धू व उनकी मंगेतर को बाहर निकालकर खरखौदा सीएचसी पहुंचाया, जहां दीप सिद्धू को मृत घोषित कर दिया। उनके शव को सामान्य अस्पताल में भिजवाया गया है। वहीं रीना राय को खरखौदा सीएचएसी में भर्ती कराया गया है। उनकी हालत ठीक है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। 

लाल किले पर फहराया था धार्मिक झंडा, हिंसा के थे आरोपी 
दीप सिद्धू तीन कृषि कानूनों के विरोध में किसान आंदोलन के दौरान चर्चा में आए थे। लाल किले पर धार्मिक झंडा फहराने व हिंसा को लेकर भी उन्हें आरोपी बनाया गया था। इस मामले में दीप सिद्धू की गिरफ्तारी भी हुई थी। 

सिमरनजीत सिंह के लिए कर रहे थे प्रचार 
पंजाब चुनाव में दीप सिद्धू अमरगढ़ से शिरोमणि अकाली दल अमृतसर के प्रधान सिमरनजीत सिंह मान का भी प्रचार कर रहे थे। किसान संगठनों द्वारा दिल्ली बॉर्डर पर बोलने का मौका नहीं मिलने पर दीप सिद्धू सोशल मीडिया के जरिये ही किसान नेताओं के फैसलों पर सवाल उठाते रहे हैं। 

मुक्तसर में हुआ था जन्म, मॉडलिंग से की थी करियर की शुरुआत
पंजाब के मुक्तसर जिले में अप्रैल 1984 में जन्मे संदीप उर्फ दीप सिद्धू करियर की शुरुआत मॉडलिंग से की थी। दीप सिद्धू ने लॉ की पढ़ाई की थी। वह किंगफिशर मॉडल हंट के विजेता रहे। मिस्टर इंडिया कॉन्टेस्ट में मिस्टर पर्सनालिटी का खिताब भी जीता। वर्ष 2015 में उनकी पहली पंजाबी फिल्म ‘रमता जोगी’ रिलीज हुई थी। हालांकि दीप सिद्धू वर्ष 2018 में आई फिल्म जोरा दास नंबरिया से मशहूर हुए, जिसमें उनका किरदार गैंगस्टर का था।

किसान संगठनों के फैसलों पर उठाते थे सवार 
दीप सिद्धू को किसान संगठनों के प्रमुख नेताओं ने कुंडली बॉर्डर पर बोलने का मौका नहीं दिया। दीप सिद्धू सोशल मीडिया के जरिये ही इन किसान नेताओं के फैसलों पर सवाल उठाते रहे हैं। किसान आंदोलन के दौरान वह चर्चा में तब आए, जब एक पुलिस अधिकारी से अंग्रेजी में बहस कर रहे थे। उनके इस वीडियो को बाद में फिल्म निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने सोशल मीडिया पर शेयर किया और लिखा, -गरीब भूमिहीन किसान, जिनके लिए लोग रो रहे हैं। जिसके बाद उनकी खूब चर्चा हुई।

रीना राय ने कहा हादसे के समय सो रही थी
यूएसए की रहने वाली रीना राय ने पुलिस से शुरुआत पूछताछ में बताया है कि वह एक साल से मुंबई में रह रही थी। वह तथा दीप सिद्धू 13 फरवरी को मुंबई से दिल्ली आए थे। वहां से वह मंगलवार रात को पंजाब के लिए चले थे। वह गाड़ी के अंदर सो रही थी। उसे नहीं पता कि हादसा किस तरह से हुआ है। वह हादसे के बाद बेसुध हो गई। उसे अस्पताल में लाया गया है।केएमपी पर हादसे में पंजाब के दीप सिद्धू की मौत हुई है। उनकी साथी चोटिल हो गई है। उनकी हालत अब ठीक है। शुरुआती जांच में पता लगा है कि वह दोनों स्कॉर्पियो में दिल्ली से पंजाब के बठिंडा जा रहे थे। उनके परिजनों को सूचना दी गई है। उनके आने के बाद बयान दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। हादसे के समय ट्राला खड़ा था या चल रहा था इसकी जांच के लिए टीम मौके पर है। ट्राला चालक अभी फरार है।– राहुल शर्मा, एसएसपी सोनीपत
जमानत लेने वाले रणजीत सिंह पहुंचे अस्पताल
लाल किला पर धार्मिक झंडा फहराने के मामले में सिद्धू पर दर्ज मुकदमे में उनकी जमानत लेने वाले दिल्ली निवासी रणजीत सिंह भी देर रात सामान्य अस्पताल पहुंचे। रणजीत सिंह ने बताया कि दीप सिद्धू के चचेरे भाई मंदीप सिंह सिद्धू ने उन्हें हादसे की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि दीप सिद्धू काफी सच्चे इंसान थे। वह फिल्म एक्टर सनी देओल से लंबे समय से जुड़े थे। वह पंजाबी गायक के साथ ही एक्टर भी थे। हादसे ने उनके करीबी साथी को छीन लिया है। वह उनके साथ एक साल तक कुंडली-सिंघु बॉर्डर पर जारी किसान आंदोलन में शामिल रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here