Home Delhi ये है दिल्ली में थोक कपड़ों का सबसे बड़ा मार्केट, मात्र 1000...

ये है दिल्ली में थोक कपड़ों का सबसे बड़ा मार्केट, मात्र 1000 रुपए में सालभर की कर लेंगे शॉपिंग

91
0

असल न्यूज़: देश की राजधानी दिल्ली शॉपिंग के लिए बेस्‍ट मानी जाती है। खासतौर से अगर आप न्‍यू स्‍टाइल के कपड़े पहनना चाहते हैं, तो आपके लिए यह जगह अच्‍छी है। यूं तो दिल्ली में कपड़ों के कई बाजार हैं। लेकिन आज हम आपको दिल्ली के थोक बाजार के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसका नाम है गांधी नगर मार्केट। गांधी मार्केट खासतौर से उनके लिए अच्‍छा विकल्‍प है, जो अपने बिजनेस के लिए कपड़े खरीदना चाहते हैं। बाकी आम लोगों के लिए भी यहां सब कुछ बहुत किफायती दाम में मिलता है। आपको जानकर हैरत होगी, लेकिन यह एक ऐसा थोक बाजार है, जहां से आप साल भर की शॉपिंग मात्र 1 हजार में कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं दिल्‍ली के गांधी नगर मार्केट के बारे में।

भारत का सबसे सस्‍ता कपड़ा बाजार-

शायद आप नहीं जानते होंगे, लेकिन सुभाष नगर स्थित गांधी नगर मार्केट भारत का सबसे सस्‍ता कपड़ा बाजार है। इतना ही नहीं यह एशिया का सबसे बड़ा रेडिमेट गारमेंट और टेक्सटाइल मार्केट है। यहां पर कई दुकानों के साथ कारखाने भी देखने को मिलेंगे।

एक शर्ट की कीमत में मिल जाएंगी तीन शर्ट –
इस बाजार में शॉपिंग का एक नियम है। यहां आपको सिंगल पीस नहीं मिलेगा। आपको सेट के अनुसार कपड़े खरीदने होते हैं, जो 3 या फिर 12 पीस में आते हैं। जैसे यहां पर आपको तीन शर्ट का सेट काफी सस्‍ते में मिल जाएगा। बच्‍चों के लिए भी यहां 3 टीशर्ट का सेट 150 रुपए में मिल जाएगा। यानी एक टीशर्ट मात्र 50 रुपए की पड़ेगी।

आपको यकीन नहीं होगा, लेकिन यहां पर आपको जींस मात्र 140 रुपए में मिल जाएगी। लेकिन इसी शर्त पर कि आप 3 से 4 जींस का पूरा सेट लेंगे। सबसे महंगी जींस भी लेते हैं, तो इसकी कीमत 350 रुपए है। यहां पर 22 से 40 साइज की जींस आसानी से उपलब्ध होती हैं। लेकिन आपको सभी साइज में 3 के सेट में मिलेंगे।

सौदेबाजी का बाजार –
वैसे गांधी बाजार में सौदेबाजी भी खूब होती है। अगर आपको सौदेबाजी करने में महारत हासिल है, तो आप ढेर सारा सामान खरीदने पर भी बहुत पैसा बचा सकते हैं। और अगर आप सौदेबाजी में निपुण नहीं है, तो यहां आप ठगे भी जा सकते हैं। यहां पर आपको टॉप, सूट, कोट पैंट, जींस, शर्ट, वेस्टर्न लुक वाली शेरवानी, कुर्ता पजामा थोक रेट पर मिल जाते हैं।

पटरियाें पर लगता था बाजार –
चार दशक पहले तक यहां पटरियां सजाई जाती थी। लेकिन अब यहां का स्वरूप पूरी तरह से बदल गया है। गांधीनगर के थोक बाजार में सिर्फ दिल्ली ही नहीं बल्कि देश भर के व्यापारी रेडीमेड गारमेंट खरीदने आते हैं।

गारमेंट्स का हब –
दिल्ली का यह बाजार बाहरी कारोबारी के लिए काफी सुकून देने वाला है। यहां हर माल और कंपनी का हर सामान बल्क रेट में आसानी से मिल जाता है। गारमेंट्स उद्योग में उन्नति के कारण यह मार्केट बहुत कम समय में लोगों की पसंद बन गया है। जानकार मानते हैं कि गांधीनगर मार्केट आने वाले दिनों में गारमेंट्स के हब के रूप में विकसित होगा।

व्यापारियों के लिए सुकून का बाजार –
यहां पर लखनऊ, अहमदाबाद, कोलकाता, जबलपुर, कानपुर, लुधियाना के कपड़े आसानी से मिल जाते हैं। इससे व्यापारी को भागदौड़ से छुट्टी मिल गई है। यही कारण है कि व्यापारियों के लिए यह बाजार आकर्षण का केंद्र बनता जा रहा है। यह मार्केट सीलमपुर मेट्रो स्‍टेशन के पास है। इसके खुलने का समय सुबह 10 बजे से रात 8 बजे तक है। ध्‍यान रखें, सोमवार को यह मार्केट बंद रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here