Home Rajasthan राजस्थान में गायों की रक्षा के लिये महायज्ञ का आयोजन, संक्रमण कम...

राजस्थान में गायों की रक्षा के लिये महायज्ञ का आयोजन, संक्रमण कम होने तक महापौर रहेंगी नंगे पांव

36
0

देशभर में हजारों पशु लंबी रोग की चपेट में आ चुके हैं लंपी रोग (Lampy Disease) से देशभर में 75 हजार से ज्यादा मवेशियों ने दम तोड़ दिया है. राजस्थान में गोवंश को लम्पी चर्म रोग से अबतक करीब 60 हजार मवेशियों ने जान गंवाई है. वहीं जयपुर में इन मवेशियों को बचाने के लिये जहां एक ओर पशुओं का टीकाकरण किया जा रहा है और औषधियां दी जा रही हैं, वहीं उनके बचाव की प्रार्थना करने के लिए यज्ञ पूजन भी किया जा रहा है.

खबर में खास
करीब 60 हजार पशुओं की मौत
कब से कब तक चलेगा हवन
करीब 60 हजार पशुओं की मौत
पशुपालन विभाग के प्रवक्ता के अनुसार, लम्पी संक्रमण से राजस्थान में अब तक 59,027 पशुओं की मौत हो चुकी है और 13,02,907 पशु इस संक्रमण से प्रभावित हैं. राज्य में इस संक्रमण के बचाव के लिए 1,08,09,67 पशुओं का टीकाकरण किया जा चुका है. इस बीच, जयपुर नगर निगम हेरिटेज मुख्यालय पर पिछले मंगलवार को पूजा और हवन का आयोजन किया गया, जिसमें महापौर मुनेश गुर्जर सहित कई पार्षद मौजूद रहे. इस दौरान महापौर मुनेश गुर्जर ने घोषणा की, जब तक यह संक्रमण कम नहीं हो जाता, वे नंगे पांव रहेंगी.

कब से कब तक चलेगा हवन
जयपुर-दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग पर जयपुर से करीब 35 किलोमीटर दूर भानपुरकलां स्थित ओम त्रिशक्ति आश्रम में आठ दिवसीय गौ पुष्टि महायज्ञ का आयोजन किया जा रहा है. महंत नरेंद्र दास ने ‘भाषा’ से कहा कि 15 सितम्बर से शुरू हुए इस महायज्ञ का समापन 22 सितम्बर को होगा.

गोरक्षा एवं लम्पी रोग के निवारण के लिये जयपुर के निर्जरा महादेव मंदिर में गायत्री महायज्ञ और हवन किया गया. महंत राम मनोहर जोशी ने बताया कि गौ माता के रोग निवारण के लिये ब्राह्मणों ने हवन तथा सवा लाख गायत्री मंत्रों का जप किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here