Home धर्म Shardiya Navratri 2022 Date: नवरात्रि कब से, जानें घटस्थापना मुहूर्त व पूजा...

Shardiya Navratri 2022 Date: नवरात्रि कब से, जानें घटस्थापना मुहूर्त व पूजा विधि

137
0

हिन्दू धर्म में नवरात्र का विशेष महत्व होता है, इन 9 दिनों में मां दुर्गा के नौ अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है. हिंदू पंचांग के अनुसार, नवरात्रि अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से नवमी तक मनाएं जाएंगे. इस साल नवरात्रि 26 सितंबर, सोमवार से शुरू हो रहे जो 4 अक्टूबर को समाप्त होंगे और 5 अक्टूबर को विजयादशमी (दशहरा) का त्योहार मनाया जाएगा, इसी दिन दुर्गा मां की प्रतिमा का विसर्जन किया जाएगा.

नवरात्रि के पहले दिन, देवी दुर्गा को वैदिक अनुष्ठानों के साथ कलश में बुलाया जाता है. जिसे घटस्थापना या कलश स्थापना के रूप में जाना जाता है. घटस्थापना नवरात्रि के महत्वपूर्ण अनुष्ठानों में से एक है. यह नौ दिनों के उत्सव की शुरुआत का प्रतीक होता है.

नवरात्रि का शुभ मुहूर्त
आश्विन नवरात्रि सोमवार, सितम्बर 26, 2022

प्रतिपदा तिथि प्रारम्भ – सितम्बर 26, 2022 को सुबह 03 बजकर 23 मिनट से शुरू

प्रतिपदा तिथि समाप्त – सितम्बर 27, 2022 को सुबह 03 बजकर 08 मिनट पर समाप्त

नवरात्रि घटस्थापना मुहूर्त
आश्विन घटस्थापना सोमवार, सितम्बर 26, 2022 को

घटस्थापना मुहूर्त – सुबह 06 बजकर 28 मिनट से 08 बजकर 01 मिनट तक

घटस्थापना अभिजीत मुहूर्त- शाम 12 बजकर 06 मिनट से शाम 12 बजकर 54 मिनट तक

कलश पूजा की सामग्री
कलश स्थापना के लिए कई सामग्री की जरूरत पड़ती है. इसमें मिट्टी का पात्र, लाल रंग का आसन, जौ, कलश के नीचे रखने के लिए मिट्टी, कलश, मौली, लौंग, कपूर, रोली, साबुत सुपारी, चावल, अशोका या आम के 5 पत्ते, नारियल, चुनरी, सिंदूर, फल-फूल, माता का श्रृंगार और फूलों की माला.

कलश स्थापना की विधि
सबसे पहले उत्तर-पूर्व दिशा में मां की चौकी लगाएं.

उस पर लाल रंग का साफ कपड़ा बिछाकर देवी मां की मूर्ति को विराजमान करें.

चुनरी में एक नारियल लपेटकर कलश के मुख पर मौली बांधे.

कलश में जल भरकर उसमें एक लौंग का जोड़ा, सुपारी हल्दी की गांठ, दूर्वा और रुपए का सिक्का डालें.

अब कलश में आम के पत्ते लगाकर उस पर नारियल रखें और फिर इस कलश को दुर्गा की प्रतिमा की दायीं ओर स्थापित करें.

कलश स्थापना पूर्ण होने के बाद देवी का आह्वान करें.

नवरात्रि तिथि
प्रतिपदा (मां शैलपुत्री): 26 सितम्बर 2022

द्वितीया (मां ब्रह्मचारिणी): 27 सितम्बर 2022

तृतीया (मां चंद्रघंटा): 28 सितम्बर 2022

चतुर्थी (मां कुष्मांडा): 29 सितम्बर 2022

पंचमी (मां स्कंदमाता): 30 सितम्बर 2022

षष्ठी (मां कात्यायनी): 01 अक्टूबर 2022

सप्तमी (मां कालरात्रि): 02 अक्टूबर 2022

अष्टमी (मां महागौरी): 03 अक्टूबर 2022

नवमी (मां सिद्धिदात्री): 04 अक्टूबर 2022

दशमी (मां दुर्गा प्रतिमा विसर्जन): 5 अक्टूबर 2022

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here