Breaking news: सुप्रीम कोर्ट से केंद्र सरकार, CBI को बड़ा झटका..

कोलकाता के पुलिस कमिश्नर मामले पर तुरंत सुनवाई से इनकार


असल न्यूज़ : कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ के मामले और अपने अधिकारियों को हिरासत में लिए जाने के मामले में सीबीआई को बड़ा झटका लगा है. सुप्रीम कोर्ट ने मामले की तुरंत सुनवाई से इनकार कर दिया. चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई ने सीबीआई से पूछा कि इस मामले की सुनवाई की इतनी जल्दी क्या है? सीजेआई ने कहा कि इस मामले की सुनवाई मंगलवार को होगी.

इससे पहले CBI ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दायर कर कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को तुरंत सरेंडर करने की मां की. सीबीआई की अर्जी के मुताबिक राजीव कुमार शारदा चिट फंड केस की जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं. साथ ही अर्जी में दावा किया गया कि पुलिस कमिश्नर जांच में अड़ंगा डाल रहे हैं. सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने सीबीआई की पैरवी करते हुए अर्जी दी, ‘हमारी टीम को गिरफ्तार कर कस्टडी में रखा गया. कोलकाता के पुलिस कमिश्नर को तुरंत सरेंडर करना चाहिए और मामले की तुरंत सुनवाई होनी चाहिए’

सुप्रीम कोर्ट ने दिया झटका

हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई और केंद्र की ओर से पैरवी कर रहे सॉलिसिटर जनरल की तुरंत अर्जी की मांग को खारिज कर दिया. सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सीबीआई से पूछा- आखिर इस सुनवाई की इतनी जल्दी क्या है? पहले सीबीआई सबूत सौंपे और इस केस की सुनवाई कल (मंगलवार) को होगी.

धरने पर बैठीं हैं ममता

आपको बता दें रविवार को जैसे ही सीबीआई की टीम प.बंगाल के पुलिस कमिश्नर के दफ्तर पर पहुंची, राज्य की सीएम ममता बनर्जी इसके विरोध में कोलकाता में धरने पर बैठ गईं. ममता बनर्जी ने रविवार को बयान दिया, ‘मैं यकीन दिला सकती हूं…मैं मरने के लिए तैयार हूं, लेकिन मैं मोदी सरकार के आगे झुकने के लिए तैयार नहीं हूं. हम आपातकाल लागू नहीं करने देंगे. कृपया भारत को बचाएं, लोकतंत्र बचाएं, संविधान बचाएं.’ कांग्रेस, एनसीपी, एसपी, आरजेडी समेत कई विपक्षी दल ममता के साथ इस मुद्दे पर उनका समर्थन कर रहे हैं.



COMMENTS

%d bloggers like this: