Chaitra Navratri 2018: अष्टमी और नवमी एक ही दिन, बन रहा है सर्वार्थ सिद्धि योग !

चैत्र नवरात्रि के पहले ही दिन बन रहा है सर्वार्थ सिद्धि योग

असल न्यूज़ : Chaitra Navratri 2018, लगातार पिछले 4 सालों से चैत्र नवरात्रि आठ दिनों की पड़ रही है. इस साल भी चैत्र नवरात्रि में अष्टमी और नवमी तिथि एक दिन है. बता दें कि साल 2015 से हर साल चैत्र नवरात्रि 8 दिनों की ही रही है. इसे लेकर पंड़ितों का कहना है कि इसका कारण तिथि में घट-बढ़ को बताया है. गौरतलब है कि 2015 में 21 मार्च से 28 मार्च, 2016 में 8 मार्च से 15 मार्च, 2017 में 29 मार्च से 5 अप्रैल तक थी. हालांकि, 2014 में नवरात्रि 31 मार्च से 8 अप्रैल तक थी यानी पूरे 9 दिनों की. ज्योतिष के मुताबिक, जब दो तिथियां एक साथ आती है तब ऐसी स्थिति बनती है. साल 2018 में चैत्र नवरात्रि 18 मार्च से शुरू होकर 25 मार्च तक होगी.

चैत्र नवरात्रि के पहले ही दिन बन रहा है सर्वार्थ सिद्धि योग
इस साल चैत्र नवरात्रि का शुभारंभ और समापन दोनों ही रविवार को होगा. आप लोगों की जानकारी के लिए बता दें कि, शुभारंभ सर्वार्थ सिद्धि योग में होगा. अगर आप सोच रहे हैं कि कब तक रहेगा सर्वार्थ सिद्धि योग? तो इस सवाल का जवाब है कि सूर्योदय से रात 8.18 मिनट रहेगा. इन दिनों मां शक्ति की आराधना की जाती है. केवल इतना ही नहीं, अगर भक्त इन दिनों विधि-विधान से मां की पूजा करते हैं तो मां प्रसन्न होकर अपने भक्तों को सभी मनोकामनाओं को पूरा करती हैं.

शास्त्रों के मुताबिक, कन्या पूजन की विधि पर डालें एक नजर
1)  कन्याओं को एक दिन पूर्व उनके घर जाकर निमंत्रण दें.
2) घर में कन्याओं के प्रवेश के समय उनपर फूलों डालकर उनका स्वागत करने के साथ-साथ मां दुर्गा के नौ नामों का जयकारा लगाएं.
3) प्रवेश के बाद कन्याओं को स्वच्छ जगह पर बिठाएं.
4) कन्याओं के पैरों को दूध से भरे थाल या स्वच्छ पानी से उनके पैर को धोएं.
5) इसके बाद उनके माथे पर कुंकुम लगाएं.

COMMENTS

%d bloggers like this: