चुनाव प्रचार के आखिरी दिन कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी कसर नहीं छोड़ना चाहते,भाजपा ने किया पलटवार

बेंगलुरु ।। चुनाव प्रचार के आखिरी दिन कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते। इस क्रम में आज उन्‍होंने पहले प्रेस कांफ्रेंस किया और फिर वे धारवाड़ पहुंचे। इस प्रेस कांफ्रेंस पर निशाना साधते हुए पीयूष गोयल ने राहुल पर हमला किया।

सिद्दारमैया सरकार को भ्रष्‍ट बताते हुए उन्‍होंने कहा, ‘सिद्दारमैया सरकार समेत कांग्रेस और कांग्रेस अध्‍यक्ष के पास कर्नाटक के मुद्दों का कोई जवाब नहीं है। यह प्रेस कांफ्रेंस उनके अनुसार प्रशिक्षित था, कइयों को सवाल करने की अनुमति नहीं थी, यदि ऐसी कोई कोशिश भी होती तो सवालों को घुमा दिया जाता या फिर संक्षिप्‍त जवाब दिया जाता था।

धारवाड़ में राहुल ने  दिवंगत पार्टी वर्कर एचवी मदाल्‍ली के परिजनों से मुलाकात की। मदाल्‍ली की मौत नवलगुंड में कर्नाटक चुनाव प्रचार के दौरान हो गयी थी।

 

इसके पहले बेंगलुरु में राहुल गांधी ने एक प्रेस कांफ्रेस की। इसमें कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी के अलावा नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और मुख्‍यमंत्री पद के उम्‍मीदवार सिद्धारमैया समेत कई नेता मौजूद थे। जहां कांग्रेस अध्‍यक्ष रेड्डी ब्रदर्स, राफेल डील व दलितों का मुद्दा उठाते हुए प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ आक्रामक तेवर में दिखे। उन्‍होंने भाजपा पर आरोप लगाया कि उन्होंने कांग्रेस के घोषणापत्र को कॉपी कर लिया है।  कांग्रेस अध्‍यक्ष ने कहा, ये कर्नाटक और आरएसएस की विचारधारा के बीच लड़ाई है, असलियत तो ये है कि वे अब बुरी तरह घबरा चुके हैं और उनको कर्नाटक में अपनी हार का अहसास हो गया है।‘

कांग्रेस अध्‍यक्ष ने आगे कहा, ‘कर्नाटक में आरएसएस का कब्‍जा नहीं होने देंगे।‘ मंदिर-मस्जिदों में जाने के मुद्दे पर पूछे गए सवाल के जवाब में राहुल ने कहा कि भाजपा हिंदू शब्द का मतलब नहीं समझती है। मैं सभी धर्मों का सम्मान करता हूं। उन्हें मेरे मंदिर जाने से दिक्कत होती है।’

 

राहुल ने प्रधानमंत्री के गुस्‍से का उल्‍लेख करते हुए कहा, ‘मोदी जी के भीतर काफी गुस्सा है और वो सिर्फ मेरे लिए नहीं है सभी के लिए है। मैं ज्‍यादा उनके गुस्‍से में निशाना बनता हूं, क्‍योंकि वे मुझे चुनौती के तौर पर लेते हैं।‘ प्रधानमंत्री पद की दावेदारी संबंधित सवाल को टालते हुए राहुल ने कहा, ‘कर्नाटक चुनाव पीएम पद के लिए नहीं है।‘

अपनी मां और कांग्रेस की पूर्व अध्‍यक्ष सोनिया गांधी का जिक्र करते हुए राहुल ने कहा, ‘मेरी मां इटैलियन हैं लेकिन अपना पूरा जीवन भारत में बिताया। मेरी मां बहुत लोगों से कहीं अधिक भारतीय है। देश के लिए काफी कुछ सहा और त्‍याग भी किया है।‘

राहुल गांधी ने कहा, ‘भाजपा में गंभीरता की कमी है। हम मुद्दों पर चुनाव लड़ रहे हैं। हमारे पास कर्नाटक के विकास के लिए विजन है। हमने कर्नाटक के दौरे से बहुत कुछ सीखा है। देश में आज सबसे बड़ी चुनौती हमारे युवाओं को रोज़गार देने की है। कांग्रेस ने मनरेगा स्‍कीम पर खर्च किया है।‘

राहुल ने आगे कहा,’कांग्रेस ने जनता की आवाज सुनते हुए कर्नाटक का घोषणापत्र बनाया है जबकि भाजपा ने कांग्रेस के घोषणा पत्र की कॉपी की। राहुल ने कहा, विपक्ष ने हम पर निजी हमले किए, हमने अच्छी तरह से प्रचार किया और कर्नाटक में हमारी जीत पक्‍की है। कर्नाटक के लोगों से हमने काफी कुछ सीखा है।‘

कांग्रेस अध्‍यक्ष ने कहा, ‘पीएम दलितों के मुद्दे क्‍यों नहीं उठाते हैं, ऊना के मुद्दे पर नहीं बोलते हैं। चीन में डोकलाम का मुद्दा नहीं उठाया, बिना एजेंडा चीन गए।‘ राहुल ने कहा, ‘रेड्डी ब्रदर्स ने 35000 करोड़ रुपये कर्नाटक की जनता से चोरी किए हैं। एक तरफ ईमानदार सिद्धारमैया जी हैं और दूसरी तरफ जेल से निकले हुए लोग हैं।‘ भाजपा के मुख्‍यमंत्री पद के उम्‍मीदवार येदियुरप्‍पा के लिए राहुल ने कहा, ‘वे भ्रष्टाचार के आरोप में कई बार जेल जा चुके हैं।‘

कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री सिद्धारमैया ने चुनावी अभियान के दौरान सरकार की उपलब्‍धियों को बताया और कहा, ‘राहुल गांधी के नेतृत्‍व में हम चुनाव लड़ रहे हैं।‘ बता दें कि आज से दो दिन बाद यानि 12 मई को कर्नाटक में चुनाव है और 15 मई को इसके नतीजे का ऐलान होगा।

COMMENTS

%d bloggers like this: