दना-दन गालियां चलीं और अकेला सिपाही भिड़ा दो बदमाशों से

दना-दन गालियां चलीं और अकेला सिपाही भिड़ा दो बदमाशों से 
दिल्ली। दिल्ली पुलिस के एक सिपाही ने अपनी जान की परवाह न करते हुए दो बदमाशों को छठी का दूध याद दिला दिया। बदमाशों द्वारा की जा रही गोली-बारी का तुर्की-ब-तुर्की जवाब देते हुए उसने एक बदमाश को घायल कर दिया। दूसरा बदमाश अपनी जान बचाकर भाग खड़ा हुआ। घायल बदमाश को ईलाज के अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। सिपाही की बहादुरी से पूरा पुलिस विभाग खुश है और अधिकारी ऐसे जांबाज को बारी से पहले तरक्की देने की तैयारी कर रहे हैं।
ईस्टर्न रेंज के संयुक्तायुक्त रविंद्र यादव ने बताया कि चैबीस नवंबर को विश्वास नगर, फर्श बाजार में सोने की चेन लूटने की एक वारदात को बदमाशों ने अंजाम दिया। वारदात की सीसीटीवी फुटेज पुलिस को हासिल हो गई थी और उसमे दिख रहे बदमाश की फोटो निकालकर तमाम पुलिस स्टाफ में वितरित कर दी गईं थीं। पुलिस उपायुक्त शाहदरा नुपुर प्रसाद, अतिरिक्त उपायुक्त वेद प्रकाश सूर्या, एसीपी भरत रेड्डी तथा एसएचओ सुनील कुमार शर्मा ने तमाम स्टाफ को आवश्यक निर्देश जारी किये।
     श्री यादव ने बताया कि अपराध की रोकथाम के लिए पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक की तरफ से भी बराबर निर्देश दिये जाते रहे हैं। लूट की वारदात के आरोपी के फोटो को लेकर फर्श बाजार थाने का सिपाही विवेक कुमार भी विश्वास नगर बीट पर तैनात था। उनतीस तारीख को दिन में एक बजे उसे बाइक पर सवार दो बदमाश दिखे जिनमें एक फोटोवाला भी था। बदमाशों की निगाह भी पुलिसकर्मी पर पड़ गई और वापस भागने लगे। सिपाही विवेक ने उनका पीछा किया और रास्ता रोका तो बदमाशों ने उसपर गोली चला दी । खुद को किसी तरह बचाते हुए विवेक ने भी सर्विस रिवाॅल्वर निकला ली और ऐसे हालात में गोली चलाने के नियमों का पालन करते हुए गोलियां चलाईं जो एक बदमाश के हाथ और घुटने के नीचे लगीं। तभी दूसरा बदमाश बाइक से उतरकर गोलियां चलाते हुए फरार हो गया।
     घायल बदमाश की पहचान साहिबाबाद के रहने वाले मोनू के रूप में हुई। उस पर 18 मामले दर्ज हैं। उसके फरार साथी की पहचान अमित उर्फ मंगल के रूप में हुई है। उसकी तलाश की जा रही है। सिपाही विवेक की बहादुरी और कत्र्तव्यपरायणतो को देखते हुए उसे बारी से पहले तरक्की देने की भी घोषणा की गई है।

COMMENTS

%d bloggers like this: