Delhi: 10 साल के बच्चे की घर मे पंखे से लटकी मिली लाश, हत्या, हादसा या खुदखुशी

दिल्ली।।(प्रभाकर राणा)  मंगोल पूरी में 10 साल के बच्चे की घर मे पंखे से लटकी मिली लाश,संदिग्ध परिस्थितियों में मौत। हत्या, हादसा या खुदखुशी जांच का विषय, परिवार ने लगाया हत्या का आरोप। मंगोल पूरी पुलिस मुकदमा दर्ज कर जांच में जुटी।
रोते-बिलखते परिजनों की ये तस्वीर दिल्ली के मंगोलपुरी इलाके की है। दरअसल इस परिवार ने अपने 10 साल के जिगर के टुकड़े मनीष को खो दिया है। मनीष पांचवी में पढ़ता था…रोज की तरह मृतक मनीष के पिता आज भी सुबह ड्यूटी जाते वक्त मनीष से मिलकर गए थे। और उन्हें काम पर पहुचते ही कुछ देर बाद उनके बेटे की मौत की खबर मिली, जिसके बाद उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। उन्होंने बताया कि वो मनीष को बिल्कुल ठीक ठाक घर पर छोड़कर गए थे, लेकिन उन्हें क्या पता था कि वो उसे अब दोबारा नही देख पाएंगे। मनीष के पिता को यकीन ही नही हो रहा कि वो अब इस दुनिया में नही रहा। और बताया कि उनका बेटा कभी भी खुद खुशी नही कर सकता। उनका किसी से कोई झगड़ा या कोई दुश्मनी भी नही है। लेकिन फिर भी उन्हें ऐसा लगता है कि उनके नन्हे से बेटे की किसी ने हत्या कर दी है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार पिता के काम पर जाने के बाद मनीष की मां भी काम पर गयी हुई थी। वहीं उसकी दोनों बहनों में से एक बहन स्कुल गई थी जबकि एक नानी के घर थी। अकेले मनीष को देखने नानी रोज की तरह घर आई जैसे ही वो घर में घुसी तो उनके भी होश उड़ गए। मनीष की बॉडी चुन्नी के सहारे पंखे से लटकी हुई थी। साथ ही कमरे और सीढ़ी के दरवाजे खुले हुए थे। रुह कपां देने वाले इस नजारे को देखने के बाद मनीष की नानी ने स्थानीय लोगों बुलाया। जिसके बाद शव को नीचे उतार कर पुलिस को सूचना दी गयी।
परिजनों की माने तो मनीष थोड़ा शरारती तो था लेकिन इस तरह से सुसाइड नहीं कर सकता। क्योंकि ऐसी कोई बात नही थी कि वो किसी डर या दवाब में हो और उसने ये कदम उठाया हो साथ ही आत्महत्या की गुंजाइश इस लिए भी कम है क्योंकि जिस सीलिंग फेन से मनीष का शव लटका हुआ था। वो काफी ऊँचाई पर है और शव के पीछे ही बेड भी था ऐसे में कमरे की परिस्थितियां कई सवाल खड़े करती है। ऐसा लगता है कि शायद इस बच्चे की मौत का ये राज़! राज़ ही रह जायेगा।
बरहाल मामले की सुचना मिलने पर पहुंची दिल्ली पुलिस की क्राइम टीम ने मौके से कई साक्ष्य लिए हैं। चूंकि मामला एक छोटे बच्चे की मौत से जुड़ा है जिसे देखते हुए मंगोल पूरी थाना पुलिस भी बड़ी गहनता के साथ हर एंगल से मामले की जांच में जुट गई है। लेकिन बच्चे की मौत की वजह जो भी हो लेकिन इस घटना ने एक परिवार से उसके लाड़ले चिराग को हमेशा हमेशा के लिए दूर कर दिया है।

COMMENTS

%d bloggers like this: