सी.एम सिटी में किसानों ने जलाई गन्ने की होली!

करनाल।। शुगर फैड के चेयरमैन के घर के सामने किया प्रदर्शन, फूंके गन्ने दी चेतावनी : यदि किसानों की मांगे नहीं मानी तो हर खेत में जलेगी गन्ने की फसल करनाल, 26 मार्च : जहां एक तरफ किसानों की आय दौगुणा करने के लिए एग्री सबमिट का आयोजन किया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ मुख्यमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र में किसान गन्ने की होली जलाने को मजबूर हो गए। किसान बड़ी तादात में जुलूस की शक्ल में शुगर फैड चेयरमैन चन्द्रप्रकाश कथूरिया के निवास पर पहुंचे। लेकिन सत्ता के अहंकार में डूबे शुगर फैड चेयरमैन चन्द्र

प्रकाश कथूरिया घर से बाहर नहीं निकले। उन्होंने किसानों का ज्ञापन लेना तक उचित नहीं समझा। आज सुबह करनाल जिले के सैंकड़ो किसान पुरानी सब्जी मंडी में एकत्रित हुए। वह अपने गांवों से गन्ने की फसल ट्राली में भरकर लाये थे और उनका कहना था कि अभी तो गन्ने की होली शुगर फैड चेयरमेन के घर के सामने जला रहे है। यदि उनकी मांगे नहीं मानी तो हर खेत में गन्ने की होली जलेगी। इस मौके पर किसानों ने बताया कि कृषि विभाग और शुगर फैड के अधिकारियों के कहने से गन्ने का रकबा बढ़ाया था।

शुगर फैड के अधिकारियों ने कहा था कि यदि नई चीनी मिल शुरू करेंगे तो उन्हें ज्यादा गन्ना चाहिए। इस पर किसानों ने गन्ने का रकबा बढ़ाया। इसके अलावा कृषि विभाग ने गन्ने का रकबा बढ़ाने के लिए सहायता भी दी। इसके बाद किसानों ने अपना वायदा तो पूरा कर दिया। लेकिन शुगर फैड और सरकार ने ठेंगा दिखा दिया। उन्होंने कहा कि जब से चेयरमैन चन्द्रप्रकाश कथूरिया बने है। तब से किसानों का जीना मुहाल हो गया। कथूरिया अपने फायदे की बात करते है।

किसानों के लिए उनके घडियाली आंसू है। इस आन्दोलन का नेतृत्व जिलाध्यक्ष यशपाल राणा औंगद ने किया। प्रवक्ता सलेन्द्र सांगवान और सरंक्षक मैहताब सिंह कादियान ने बताया कि यदि किसानों की मांग और उनका गन्ना नहीं खरीदा गया तो अनिश्चितकालीन धरना शुगर मिल करनाल में दिया जा सकता है। अब गन्ने का रकबा बढ़ा, पैदावार बढ़ी तो अब शुगर मिल प्रबंधन गन्ना नहीं खरीद रहा है। लगभग 52 लाख क्विंटल गन्ना, करनाल तथा आस-पास के क्षेत्र में हुआ है। भाकियू के सरंक्षक मैहताब सिंह कादियान ने बताया कि गन्ने की पैदावार तो किसानों ने बढ़ा दी। लेकिन अब उनकी बात को सुनने वाला कोई नहीं है।

आखिरकार वह अपनी बात किसे बताएं। जिला प्रवक्ता सुरेन्द्र सिंह सांगवान ने कहा कि यदि शुगर मिल प्रबंधन तरीके से काम करें और निश्चित ही गन्ने की पूरी खरीद हो सकती है। जब से करनाल में शुगर मिल के नवीनीकरण के लिए मुख्यमंत्री ने पैसा दिया है। तब से किसानों का गन्ना नहीं खरीदा जा रहा है। इस बात का जवाब चुनावों में भाजपा प्रत्याशियों को हराकर दिया जाएगा। इस मौके पर रामपाल सिंह ने बताया कि किसानों का आन्दोलन तेज किया जाएगा। यदि किसानों की बात नहीं मानी तो पूरे प्रदेश में आन्दोलन फैल जाएगा। उन्होंने कहा कि किसानों की मांग है। कि किसानों का पूरा गन्ना खरीदा जाएं। सरकार किसानों का पूरा गन्ना खरीदकर उसका पैसा दें।

अन्यथा हर खेत में गन्ने की होली जलेगी। इससे पहले किसान जुलूस के शक्ल में सब्जी मंडी से होकर सैक्टर-13 पहुंचे। इस अवसर पर प्रदेश उपप्रधान प्रेम चन्द शाहपुर, प्रदेश संगठन मंत्री श्याम सिंह मान, मैहताब सिंह कादियान, जिला प्रधान यशपाल राणा औंगद, सुरेन्द्र सांगवान, श्याम सिंह चौहान, बाबूराम डाबरथला, आज्ञा राम, बलवान बदरहान, ईनाम खान, धनतेरण राणा, सुरेन्द्र बेनिवाल, जिले सिंह लालपुरा, सुनील नली, रबिश लालूपुरा, राजसिंह, हरजिन्द्र सिंह नीलोखेड़ी प्रधान, श्रवण रांवर, बीर सिंह महमदपुर, राजेन्द्र राणा, महक सिंह दिलौरा, जसमेर सिंह बेनीवाल, रविन्द्र सांगवान, वेदपाल, कृष्ण सदरपुर, अंग्रेज सदरपुर समेत अन्य किसान मौजूद थे।

COMMENTS

%d bloggers like this: