मोदी सरकार की भ्रष्टाचार खत्म करने की नहीं है मंशा :अन्ना हजारे !

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने मोदी सरकार पर बड़ा हमला

असल न्यूज़ ब्यूरो: सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोलते हुए बुधवार को कहा कि वह सिर्फ भ्रष्टाचार खत्म करने के वादे ही करते हैं, उनकी मंशा ही नहीं है भ्रष्टाचार खत्म करने की।

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोलते हुए बुधवार को कहा कि वह सिर्फ भ्रष्टाचार खत्म करने के वादे ही करते हैं, उनकी मंशा ही नहीं है भ्रष्टाचार खत्म करने की। अन्ना ने यहां आयोजित किसान सभा में कहा, “मोदी सरकार ने सत्ता में आने के बाद जुलाई 2016 में महज तीन दिन में लोकपाल कानून बना दिया, यह कानून लोकपाल को कमजोर करने वाला कानून है, वहीं भ्रष्टाचार के खिलाफ साढ़े तीन साल बाद भी कोई कानून नहीं बना पाए।”

मोदी सरकार ने मांगें नहीं मानी तो त्याग दूंगा प्राण: अन्ना हजारे
मोदी को ‘प्रधानमंत्री पद का अहंकार’ है: अन्ना हजारे

हजारे ने कहा, “भ्रष्टाचार मुक्त भारत के बड़े-बड़े वादे किए जाते हैं, अखबारों में इश्तेहार दिए जाते हैं, मगर काम नहीं होता। वादों और विज्ञापनों से भ्रष्टाचार खत्म नहीं होगा। लोकपाल कानून से उस वादे को हटा ही दिया गया, जिससे भ्रष्टाचार कम हो सकता था। इसमें प्रावधान था कि अफसर हर साल मार्च में अपनी और परिवार की संपत्ति का ब्यौरा देंगे, मगर कमजोर कानून में ऐसा नहीं है। इसने अफसरों को भ्रष्टाचार करने का रास्ता खोल दिया।”

अन्ना ने पीएम मोदी पर आरोप लगाया, “उनमें इच्छाशक्ति का अभाव है, चुनाव के दौरान जो वादे किए थे, उनमें से किसी पर भी अमल नहीं किया।”

COMMENTS

%d bloggers like this: