हरियाणाः मंत्री के दौरे से पहले कर दिया लाखों का भुगतान

दिल्ली। मंत्री के दौरे से पहले से हरियाणा राज्य औद्योगिक विकास निगम हरकत में आ गया है। निगम ने कई-कई महीनों से रोककर रखे गये लाखों रुपये के बिलों को रातों-रात क्लीयर कर दिया। अधिकारियों ने बिलोें की क्लीयरेंस के लिए 85 लाख रुपये की राशि जारी की है। आज होने जा रहे दौरे से पहले यह रकम ठेकेदारोंू को मिल जाने की संभावना है।
    ज्ञात रहे कि कुंडली औद्योगिक इलाके में उद्योगपति बुनियादी सुविधाओं की कमी को लेकर कई वर्षों से संघर्षरत हैं। उनकी मुख्य मांगों में बिजली की सूचारू आपूर्ति, सुरक्षा प्रबंध और इनहांसमेंट की मनमाने तरीके से वसूली और ठेकेदारों को समय पर भुगतान किया जाना शामिल हैं।
    जानकारी के अनुसार राज्य के उद्योग और वाणिज्य मंत्री विपुल गोयल पहली फरवरी को कुंडली स्थित एचआईआईडीसी के कार्यालय में आयोजित समाधान दिवस के अवसर पर पधारेंगे। उनके साथ अर्बन लोकल बाॅडीज मिनिस्टर श्रीमति कविता जैन, क्षेत्रीय सांसद रमेश कौशिक तथा उद्योग और वाणिज्य मंत्रालय के निदेशक और प्रिंसीपल सेके्रटरी तथा एचआईआईडीसी के एम डी भी उपस्थित रहेंगे।
    जानकारी के मुताबिक कुंडली औद्योगिक इलाके में सामान्य मेंटेनेंस का कार्य करने वाले कई ठेकेदारों के लगभग पचहत्तर लाख रुपयों के बिल महीनों से बकाया पड़े हैं। मंत्री के दौरे के मद्देनजर अपनी खाल बचाने की गर्ज से अधिकारियों ने रातों-रात बिल पास कर दिये। बताया जा रहा है कि बिलों की राशि से अधिक की राशि हड़बड़ी में जारी कर दी गई है।
करोड़ों की लागत से होगा औद्योगिक इलाके का कायाकल्प
जानकारी के मुताबिक मंत्री द्वारा औद्योगिक इलाके में 132 के वी का नया पावर हाऊस बनाए जाने की घोषणा की जा सकती है। 25-26 करोड़ की लागत से बनने वाले इस पावर हाऊस के अलावा इलाके के सड़कों के नवनिर्माण किये जाने की भी संभावना है। सड़कों की रिसर्फेसिंग पर 18 करोड़ का खर्च होने की संभावना है। साथ ही सीइटी प्लांट को अपग्रेड कर 10 एमएलडी किये जाने की भी संभावना है। इस पर लगभग तीस करोड़ रुपये लागत आएगी और साॅलिड वेस्ट प्रबंधन के लिए भी लगभग पचास लाख रुपये की लागत से एक प्लांट बनाया जाएगा।
सत्यकिरण कटारिया, एस्टेट मैनेजर
ठेकेदारों की पेमेंट एक निश्चित प्रक्रिया के तहत की जाती है। शीध्र ही ठेकेदारों के बकाये का भुगतान कर दिया जाएगा।
सुभाष गुप्तास, उपाध्यक्ष केआईए
कुंडली इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष सुभाष गुप्ता का कहना है कि उद्योगपति, जिला प्रशासन और राज्य स्तर पर सभी देश को आगे बढ़ाने के लिए काम करना चाहते हैं, लेकिन एचआईआईडीसी की कार्यप्रणाली विकास की राह में रूकावटें डालने का काम करती रहती है। उम्मीद है कि उद्योग और वाणिज्य मंत्री के दौरे के बाद हालात में सुधार होग

COMMENTS

%d bloggers like this: