Haryana: केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह ने हिसार में गैस पाइप लाइन का शिलान्यास किया

हरियाणा।।(प्रवीण कुमार) हिसार के लघुसचिवालय सभागार में आज केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह ने हिसार शहर को पाइप लाइन से मिलने गैस योजना का शिलान्यास किया। ये परियोजना हिसार में लगभग ढेड साल में पूरी होगी। इस के पर विधाकय डा. कमल गुप्ता सहित अन्य लोग मौजूद थे। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस योजना के शुरु होने से हिसार के लोगो का लाभ मिलेगा। केंद्रीय इस्पात मंत्री बीरेंद्र सिंह ने कहा कि आज का दिन देश के लिए बहुत महत्वपूर्ण है जब देश के 129 जिलों में एक साथ शहरी गैस वितरण परियोजना का शिलान्यास हो रहा है।
इस परियोजना से जनता को सुविधा होगी, उनके खर्च में कटौती और आमदनी में बढ़ोतरी तो होगी ही, साथ ही स्वच्छ पर्यावरण की दिशा में यह भारत की एक लंबी छलांग भी होगी। केंद्रीय इस्पता मंत्री बीरेंद्र सिंह आज लघु सचिवालय के जिला सभागार में शहरी गैस वितरण परियोजना के शिलान्यास अवसर पर बतौर मुख्यातिथि उपस्थितजन को संबोधित कर रहे थे।
इस अवसर पर विधायक व हरियाणा ब्यूरो ऑफ पब्लिक इंटरप्राइजेज के चेयरमैन डॉ. कमल गुप्ता, उपायुक्त अशोक कुमार मीणा, पुलिस अधीक्षक शिव चरण, कंर्साेटियम ऑफ हरियाणा सिटी गैस कपिल चोपड़ा इंटरप्राइज एंड रति चोपड़ा के उपाध्यक्ष अमिताभ रंजन भी मौजूद थे। इस अवसर पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से दिल्ली के विज्ञान भवन से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन का लाइव प्रसारण किया गया जिन्होंने 9वें राउंड के तहत 129 जिलों में परियोजना का शिलान्यास व 124 अन्य जिलों के लिए 10वें सीजीडी बोली प्रक्रिया का शुभारंभ भी किया।
केंद्रीय इस्पात मंत्री बीरेंद्र सिंह ने कहा कि बदलते परिदृश्य में मुख्य मुद्दा यह है कि विकास किस तेजी से करवाया जा रहा है। आज देश विकास की धीमी गति को बर्दाश्त नहीं कर सकता है। यदि हमें दुनिया की महाशक्ति बनना है तो अपनी गति को तेज करना होगा और जीवन जीने का नया तरीका सीखना होगा। साथ ही पर्यावरण की शुद्घता व संरक्षण की दिशा में भी अपना योगदान देना होगा। इन दोनों पहलुओं को शहरी गैस वितरण परियोजना सार्थक करेगी।
उन्होंने जिलावासियों को इस परियोजना के लिए बधाई देते हुए कहा कि देखा जाए तो यह योजना आज से 20 साल पहले लागू हो जानी चाहिए थी। इस परियोजना के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण की दिशा में हम एक लंबी छलांग लगाने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस परियोजना से हिसार के 2.5 लाख घरों तक पाइप लाइन के माध्यम से गैस पहुंचाई जाएगी जिससे उन्हें सस्ती गैस तो मिलेगी ही, सिलेंडर लाने आदि के झंझट से मुक्ति भी मिलेगी। इसके अलावा वाहनों के लिए सीएनजी फिलिंग स्टेशन खोले जाएंगे जिससे उन्हें डीजल के मुकाबले 46 प्रतिशत व पेट्रोल के मुकाबले 60 प्रतिशत सस्ता ईंधन मिलेगा। इससे उनके खर्च में कटौती आएगी और वाहन चलाकर रोजगार करने वालों की आमदनी में बढ़ोतरी होगी।
घरों में चूल्हे पर एक बार का खाना बनाने में हमारी माताओं के शरीर में 400 सिगरेटों का धुआं जाता है जो उन्हें बीमारियों व मृत्यु का शिकार बना देता है। उन्हें इससे राहत दिलाने में उज्ज्वला योजना महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश तेजी से तरक्की कर रहा है। वर्तमान सरकार ने 34 महीने में 34 करोड़ बैंक खाते खोले। कोई अन्य सरकार होती तो हो सकता है इस कार्य को करने में 34 साल लग जाते। प्रधानमंत्री ने दृढ़ इच्छाशक्ति से जीएसटी को लागू किया जिससे 1 करोड़ नए कर दाता जुड़े हैं। 2014 में देश का वार्षिक बजट 16 लाख करोड़ था जिसे सरकार ने 4 साल में बढ़ाकर 25.5 लाख करोड़ कर दिया और इसे अगले 3 सालों में 40 लाख करोड़ से पार ले जाना है।
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश तेजी से बदलाव की ओर बढ़ रहा है। हमें ऊर्जा के परंपरागत स्रोतों से अपनी निर्भरता खत्म करके अक्षय ऊर्जा को बढ़ावा देना होगा। अगले 10-15 सालों में सौर ऊर्जा अन्य ऊर्जा स्रोतों को पार कर जाएगी। केंद्र सरकार ने सौर ऊर्जा से 1 लाख मेगावाट उत्पादन का लक्ष्य रखते हुए जब आवेदन मांगे तो 3 लाख से अधिक आवेदन आ गए। उस समय प्रति यूनिट सौर ऊर्जा का खर्च 24 रुपये था जो आज घटकर थर्मल पावर प्लांट से भी कम कीमत पर उपलब्ध है। 
केंद्रीय मत्री से पूछे गए सवाल हरियाणा में जाट नेता अलग अलग दलों में बट गए है उनका राजनैतिक आधार नीचे खिसकता जा रहा है ऐसे बीरेंद्र सिंह ने कहा कि हरियाणा का जाट बहुत स्याना  है। उन्होंने दुष्यत चौटाला और केजरीवाल पर बोलते हुए कहा की  दुष्यत चौटाला पहले पार्टी तो बना ले। और  बीरेंद्र सिंह ने कहा कि हरियाणा में केजरीपवाल का कोई जनाधान नही है उनकी पार्टी का कोई वोट नही है। पत्रकारों ने जब उनसे पूछा कि वे कौन से विधान सभा क्षेत्र से चुनाव लडेंगे तब इस पर उन्होंने स्पष्ट जवाव नही दिया।

COMMENTS

%d bloggers like this: