स्वास्थ्य टीम ने रूबैला व खसरा के प्रति जागरूकता का दिया संदेश

करनाल।। स्वास्थ्य विभाग की ओर से राष्ट्रव्यापी अभियान के तहत खसरा व रूबैला के प्रति सुरक्षा प्रदान करने के लिए स्कूलों में टीकाकरण किया जा रहा है। इसी कड़ी में नबीपुर गांव की राजकीय प्राथमिक पाठशाला में टीकाकरण किया गया। प्राथमिक चिकित्सा केंद्र कुंजपुरा की इंचार्ज डा. माला, उनकी टीम में शामिल डा. पंकज, राजेश शर्मा, एएनएम शुभकृत, सरपंच रीना देवी व आशा वर्कर ने अभियान में सेवाएं दी।

विद्यालय के मुखिया मास्टर दलीप सिंह ने चिकित्सा टीम का स्वागत किया। उन्होंने बताया कि विद्यालय में सफाई व्यवस्था चकाचक बनी रहती है। बच्चों के लिए शुद्ध पेयजल व स्वच्छ वातावरण का माहौल दिया गया है। दूध व मिड-डे-मील पूरी निगरानी में तैयार करके बच्चों को परोसा जाता है। बच्चों के स्वास्थ्य के मद्देनजर विद्यालय प्रबंधन सजग रहता है। डा. माला ने कहा कि खसरा एक जानलेवा रोग है जो वायरस से फैलता है। बच्चों में खसरे के कारण विकलांगता व असमय मृत्यु हो सकती है। उन्होंने कहा कि रूबैला एक संक्रामक रोग है जो वायरस से फैलता है। इसके लक्षण खसरा जैसे होते हैं। इस टीकाकरण अभियान के तहत यह टीका नौ से 15 वर्ष तक की आयु के बच्चों को लगाया जा रहा है। सभी स्कूलों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, आंगनबाड़ी केंद्रों पर यह टीका लगाया जाएगा। यह टीका पूर्ण रूप से सुरक्षित है इसके कोई दुष्प्रभाव नहीं होते। उन्होंने ग्रामीणों को संदेश दिया कि कोई बच्चा इस टीकाकरण से वंचित ना रहे।

 

स्वास्थ्य अधिकारियों ने की विद्यालय की प्रशंसा

कुंजपुरा पीएचसी इंचार्ज डा. माला, डा. पंकज व राजेश शर्मा ने राजकीय प्राथमिक पाठशाला नबीपुर की सुंदरता एवं कुशल प्रबंधन को लेकर स्कूल इंचार्ज दलीप सिंह की प्रशंसा की। उन्होंने विद्यालय में बच्चों को दी जाने वाली सुविधाओं को जांचा और मुक्त कंठ से कहा कि यह विद्यालय कई मायने में निजी स्कूलों से बहुत ही अव्वल है। विद्यालय में सफाई व्यवस्था, पेयजल, व्यवस्थित शौचालय, पार्क, मुखिया कार्यालय, स्मार्ट क्लास आधारित शिक्षण इत्यादि को देखकर चिकित्सक गदगद हो गए।

COMMENTS

%d bloggers like this: