भारी बारिश से गिरा मकान, एक ही परिवार के चार लोग घायल

कैराना।।(दीपक कुमार) क्षेत्र में हो रही मूसलाधार बारिश विपन्न परिस्थितियों में जीवन बसर कर रहे लोगो पर कहर बनकर टूट रही है। गुरुवार को हुई भारी बारिश के कारण गांव तीतरवाड़ा में एक ग्रामीण के मकान की नीव में पानी भरने से मकान भरभराकर ढह गया। मकान के नीचे दबने से पांच लोग गम्भीर रूप से घायल हो गए, जिन्हें चिकित्सकों ने हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया। घायलों में मकान स्वामी व उसकी दो छोटी-छोटी बेटियां भी शामिल है। मौके पर पहुँचे एसडीएम व सीओ ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद अस्पताल पहुँचकर हादसे में घायल पीड़ितों की हालत के बारे में जानकारी ली।

मानसूनी बारिश ने कैराना के बाद अब गांव तीतरवाड़ा के एक परिवार पर अपना कहर बरपाया। बताया गया है कि गुरुवार दोपहर क्षेत्र के गांव तीतरवाड़ा निवासी जगपाल पुत्र रघुवीर अपनी पांच वर्षीय पुत्री सुमित्रा, तीन वर्षीय पुत्र कृष्ण, दो वर्षीय पुत्री पूनम व घर पर आये अपने एक रिश्तेदार के साथ मकान के अंदर बैठा हुआ था, जबकि जगपाल की पत्नी किसी काम से पड़ोस में गई हुई थी। इसी बीच दोपहर लगभग डेढ़ बजे जगपाल के मकान की दीवार नीव में पानी घुसने के कारण अचानक भरभराकर ढह गई। इससे पहले कि अंदर बैठे लोग कुछ समझ पाते मकान की छत भी तेज आवाज के साथ नीचे आ गिरी और अंदर बैठे लोग नीचे गिरी छत मिट्टी व कड़ियों के नीचे दब गए। छत गिरने की आवाज सुनकर आसपास के लोग सहायता के लिए घटनास्थल की ओर दौड़ पड़े।

देखते ही देखते ग्रामीणों की भारी भीड़ मौके पर इकठ्ठी हो गई और छत के नीचे दबे लोगो को निकालने के लिए मिट्टी व अन्य सामान हटाना शुरू कर दिया। इसी बीच घटना की सूचना कोतवाली पुलिस व एम्बुलेंस-108 को दी गई। एम्बुलेंस व पुलिस के गांव पहुँचने से पूर्व ही ग्रामीणों ने छत के नीचे दबे लोगो को बाहर निकालकर उपचार हेतु नगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भर्ती कराया। यहां चिकित्सको ने उन्हें प्राथमिक उपचार के बाद मेरठ के लिए रेफर कर दिया। घटना की सूचना मिलने के बाद एसडीएम सुरजीत सिंह, सीओ राजेश तिवारी, तहसीलदार रणबीर सिंह व कोतवाल भगवत सिंह मौके पर पहुँचे और घटनास्थल का जायजा लिया। बाद में पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों ने अस्पताल पहुँचकर घायलों की हालत के बारे में जानकारी ली। एसडीएम कैराना सुरजीत सिंह का कहना है कि तीतरवाड़ा गांव में मकान के नीचे दबने से चार लोग घायल हुए है। घायलों को उपचार हेतु अस्पताल में भर्ती कराया गया, फ़िलहाल वह खतरे से बाहर है। उन्होंने लेखपालों को निर्देशित किया है कि वह अपने क्षेत्र में निरीक्षण करें और जर्जर मकानों में रह रहे लोगो को यथासम्भव सहायता उपलब्ध कराये।

खेत में जल भराव होने से गिरा मकान..

गांव तीतरवाड़ा निवासी जगपाल का मकान खेत के पास बना हुआ है और मकान की दीवार खेत की मेड़ से सटी हुई है। गुरुवार को हुई तेज बारिश से खेत में जल भराव हो गया, जिससे खेत में भरा पानी मकान की दीवार की नीव में पहुँच गया और मकान भरभराकर ढह गया।

मकान गिरने की दो घटनाओं से सहमे गरीब लोग विगत सोमवार को नगर के मोहल्ला खेलकलां के ईदगाह रोड पर भी मकान गिरने से माँ-बेटे की दर्दनाक मौत हो गई थी, जबकि दो पिता-पुत्र गम्भीर रूप से घायल हो गए थे। गुरुवार को तीतरवाड़ा में हुई मकान ढहने की घटना से कच्चे मकानों में रहने को मज़बूर गरीब लोग किसी अनहोनी की आशंका के चलते सहमे हुए है।

COMMENTS

%d bloggers like this: