नरेला में BJP का मेनिफेस्टो जलाकर किया विरोध ।

असल न्यूज़ : (ब्यूरो रिपोर्ट) नरेला विधानसभा में विधायक शरद चौहान जी ने बीजेपी का 2014 का मेनिफेस्टो जलाकर नरेला विधानसभा से दिल्ली को पूर्ण दर्जे के आंदोलन का आगाज किया।जिसमे विधानसभा अध्यक्ष bs मान, संगठन मंत्री नगेंदर प्रजापति, महिला विधानसभा अध्यक्ष सलमा खोखर,नरेला पूर्वांचल विंग अध्यक्ष रामदेव यादव,सीनियर सिटीजन विंग अध्यक्ष रमेश चन्द्र सभी वार्डो के फ्रण्टल अध्यक्ष, संगठन मंत्रियों और कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।
2014 में बीजेपी ने अपने मेनिफेस्टो में दिल्ली को पूर्ण दर्जा देने की बात कही थी,लाल कृष्ण आडवाणी जी लोकसभा में इसका प्रस्ताव भी रख चुके है, बीजेपी के कई बड़े नेता और कांग्रेस के की बड़े नेताओं ने भी दिल्ली को पूर्ण दर्जा देने की मांग की थी।

अब दिल्ली सरकार 3 सालो से दिल्ली को पूर्ण राज्य दर्जे को लेकर आंदोलन कर रही हैं पर बीजेपी और कांग्रेस इस पर अपना स्टैंड साफ नही कर रही हैं।
दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने इंडियन एक्सप्रेस में दिए इंटरव्यू में कहा हैं कि 2019 के मेनिफेस्टो में अब की बार दिल्ली को पूर्ण राज्य दर्जे को शामिल नही किया जाएगा।
दिल्ली में दो दिल्ली बस्ती हैं पुरानी दिल्ली और नई दिल्ली।
15% नई दिल्ली एरिया जिसमे cpwd, ndmc ओर सभी डिपार्टमेंट दिल्ली सरकार से अलग हैं।जिनका खुद का बजट आता हैं केंद्र से।
दुशरी तरफ दिल्ली जिसको केंद्र सरकार सालाना 200 करोड़ रुपये बजट देती हैं।जो दिल्ली का 85% हिस्सा हैं, इस दिल्ली में क्लस्टर से लेकर झुग्गियां, कॉलोनियां ओर गाँव बसते हैं जो वोट देने के बाद भी सुविधाओं से अछूते रहते हैं।

वोट दिल्ली करती हैं पर सुविधाएं ज्यादा नई दिल्ली को मिलती हैं।
अगर नई दिल्ली को छोड़कर दिल्ली को पूर्ण राज्य दर्जे का अधिकार मिला तो,दिल्लीवालों को 85% हिस्सेदारी मिलेगी हर महकमो कामो नोकरियो,कॉलेजों, अस्पतालों,में पुलिस दिल्ली सरकार के अंडर होगी, सर्विसेज दिल्ली सरकार के अंडर होगी,अपराधों में रोकथाम लगेगी,महिलाओं को सुरक्षा मिलेगी।
इसलिए अब पूर्ण राज्य दर्जे का अभियान विधानसभा से वार्डो में ओर वार्डो से हर गाँव कॉलोनियों तक जाएगा जनता को जागरूक किया जाएगा।

COMMENTS

%d bloggers like this: