वेश्याओं की हत्याओं का शौक था इसे, फिर करता था घिनौना काम..

असल न्यूज : ना तो किसी को यह मालूम है कि वो कहां पैदा हुआ और ना ही उसके बारे में यह जानकारी है कि उसके माता-पिता कौन थे? उसे जाना जाता है तो सिर्फ उसके उन काले गुनाहों के लिए जिसे उसने बरसों पहले अंजाम दिया और जिसके बारे में सुनकर शैतान की भी रुह कांप जाए। इंग्लैंड के व्हाइटचैपल इलाके में सन् 1888 में इस खूंखार और बहुत ही क्रूर सीरियल किलर का खौफ था। दरअसल उस वक्त व्हाइटचैपल इलाका में ज्यादातर गरीबी लोग ही रहते थे। चारों तरह हिंसा और लूटपाट का माहौल था। यह इलाका उस वक्त वेश्याओं के लिए भी काफी मुफीद था। लेकिन इन वेश्याओं के लिए उस वक्त एक शख्स किसी खौफ से कम नहीं था।

इस शख्स का नाम था जैक। जैक का शौक था वेश्याओं की निर्ममता पूर्वक हत्या। जैक ने कई वेश्याओं को इस इलाके में एक के बाद मौत के घाट उतारा। इतना ही नहीं जैक अपने हर शिकार के बाद उसके साथ दरिंदगी करना कभी नहीं भूलता था। जानकारी के मुताबिक जैक इन वेश्याओं की हत्या करने के बाद दिल, किडनी और गर्भाशय निकाल लिया करता था। दरिंदगी से भरी इन हत्याओं ने उस वक्त पूरी दुनिया का ध्यान खींचा था। एक के बाद महिलाओं की हत्या से हैरान पुलिस हत्यारे को दबोचना चाहती थी और कई लोगों को वो संदिग्ध मान कर चल रही थी लेकिन असली हत्यारा पुलिस की पकड़ से दूर था।

कहा जाता है कि जैक को सर्जरी की भी काफी जानकारी थी। सन् 1888 में कुछ महिलाओं के कत्ल के बाद उनके क्षत-विक्षत लाश के पास से कुछ चिट्ठियां बरामद हुईं। उस वक्त अचानक इन चिट्ठियों ने मीडिया में सुर्खियां पाईं और खुलासा हुआ कि हत्यारे ने अपना नाम ‘Jack The Ripper’ बताया है। हालांकि उस वक्त लंदन में यह भी कहा जाने लगा कि कुछ पत्रकारों ने जानबूझ कर यह चिट्ठी लोगों का ध्यान आकर्षित करने के लिए प्लांट किया है। कहा जाता है कि सन् 1891 के बीच तक ‘Jack The Ripper’ ने 11 महिलाओं की इस तरह हत्या की। हैरानी की बात यह है कि इन सभी हत्याओं के मामले में पुलिस के हाथ आज भी खाली हैं। जी हां, इस विभत्स हत्यारे को पुलिस कभी पकड़ नहीं सकी।

उस वक्त पुलिस की एक लंबी-चौड़ी टीम ने इन सभी मामलों की गहन छानबीन कर हत्यारे को दबोचने की कोशिश की थी। करीब 2000 से ज्यादा लोगों से पूछताछ की गई, 300 लोगों की जांच की गई, 80 लोगों को हिरासत में भी लिया गया था। कई संदिग्ध लोगों के डीएनए की जांच की गई। कई बार पुलिस को ऐसा लगा कि वो इन हत्याओं की गुत्थी सुलझाने के बिल्कुल करीब पहुंच गई है लेकिन लाख कोशिशों के बावजूद यह हत्यारा कभी पुलिस के हाथ नहीं आ सका। हालांकि पुलिस की तमाम कार्रवाईयों से डरे इस सीरियल कातिल ने कत्ल को अंजाम देना जरुर रोक दिया।

COMMENTS

%d bloggers like this: