सजावटी पौधों से सजेगा करनाल

करनाल। शहर के सौदन्र्यकरण को लेकर नगर निगम द्वारा की जा रही गतिविधियों में सडकों के डिवाईडरों पर सजावटी पौधे लगाकर हरियालीकरण पर भी जोर दिया जा रहा है। पर्यावरण को बढ़ावा देने के लिए निगम का यह एक अहम कदम है।
 नगर निगम आयुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने आज इस सबंध में बताया कि शहर की सबसे पुरानी और लोकप्रिय सडक रेलवे रोड़ के साथ-साथ सैक्टर-6, 7, 8, 12, 13, 13 एक्सटेंशन व सैक्टर-14 में व्याप्त सडकों के डिवाईडरों को मौलसरी, फाईकस, बोतलपाम व मौरिया के खूबसूरत पौधों से भरा जाएगा। रेलवे रोड़ पर वन विभाग के कार्यालय के सामने से लेकर रामलीला ग्राउण्ड तथा नेता जी सुभाष चन्द्र चैक से ट्रैफिक पुलिस चैक तक पौधे लगाए जा चुके हैं। इनमें अकेले फाईकस प्रजाति के, फाईकस पांडा, बैंजामिना तथा फाईकस रिजोनॉल्ड पौधे शामिल हैं। समिट्री के लिए बीच-बीच में 5 व 8 मीटर पर मौलसरी और बोतलपाम के पौधे लगाए जा रहे हैं।
 उन्होने बताया कि रेलवे रोड़ पर लगाए गए फाईकस की बाहरी साईड में बचाव के लिए ग्रीन जाली लगवाई गई हैं, जबकि मौलसरी और बोतलपाम की हिफाजत रखने के लिए ट्री-गार्ड लगवाए गए हैं। दिसंबर अंत तक शहर के उपरोक्त सैक्टरों के सभी डिवाईडरों पर पौधे लगाए जाने का लक्ष्य है, उम्मीद है कि इसे पूरा कर लिया जाएगा। उन्होने बताया कि फाईकस का पौधा हरा-भरा रहता है तथा समय-समय पर इसकी कटिंग भी होती रहती है, जबकि बोतलपाम व मौलसरी इनसे ऊंचे होते हैं। एक वर्ष में जिनकी अढाई-तीन फुट तक ग्रोथ हो जाती है।
आयुक्त ने बताया कि इसके अतिरिक्त करनाल-कैथल रोड़ पर डब्ल्यू.जे.सी. पुल के पास नगर निगम द्वारा बनवाए गए स्वर्ण जयंती पार्क में भी पौधे लगाने का कार्य शुरू कर दिया गया है। इनमें सिलवर ओक, फाईकस व फुलों वाले शरब्स के पौधे लगाए जा रहे हैं। पौधे लगाने का कार्य निगम के हॉट्रीकल्चर कंसल्टेंट हरलाल तथा जे.ई. जे.एस. संधू की देखरेख में हो रहा है। सोमवार सांय के समय हुई बुंदाबांदी से लगाए गए सभी पौधों में नई ऊर्जा और मजबूती का संचार हुआ है। सडकों पर यातायात के आवागमन से जो धूल-मिट्टी जमी हुई थी, हल्की बारिश से वह भी धुल गई है और सभी पौधे अपने सुंदर स्वरूप लिए हुए हैं।

COMMENTS

%d bloggers like this: