स्वच्छता प्रतियोगिता को ग्राउंड लेवल पर ले आया करनाल नगर निगम

करनाल। स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 में उत्तर भारत के सबसे स्वच्छ शहर का सम्मान बरकरार रखने की जद्दोजहद में जुटा नगर निगम कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहा है। इसके तहत शहर के सभी अस्पताल, स्कूल, होटल व मार्किट संघों तथा आर.डब्ल्यू्.ए. के बीच प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें स्वच्छता के अंक दिए जाएंगे। इन सभी संस्थानों का निरीक्षण करने के उद्देश्य से निगम ने जिला के भिन्न-भिन्न विभागों के कर्मचारियों को लेकर टीमों का गठन किया है, जिनमें निगम के कर्मचारी भी शामिल हैं। निरीक्षण टीमें सभी संस्थानों में जाकर मौके पर ही निर्धारित स्वच्छता मापदंडों का मुल्यांकन करके अंक निर्धारण कर रही हैं। यह कार्य आगामी 15 दिसंबर तक जारी रहेगा।
 निगम आयुक्त डॉ. प्रियंका सोनी के अनुसार अंकों के आधार पर एक बेस्ट अस्पताल, बेस्ट स्कूल, बेस्ट होटल, बेस्ट मार्किट एसोसिएशन तथा बेस्ट आर.डब्ल्यू.ए. का निर्णय करके उन्हे सम्मानित किया जाएगा। होटल एसोसिएशन के निरीक्षण के लिए बनाई गई टीम ने शनिवार को शहर के अशोका, क्रिस्टल, प्रेम प्लाजा, ज्ञान रेजीडेन्सी, होटल क्लॉर्क, रियल गोल्ड तथा फिडाल्गो होटल में जाकर सर्वेक्षण के सभी पैरामीटर्स के आधार पर साफ-सफाई और प्रबंधों का निरीक्षण किया। इस टीम में स्वच्छ भारत मिशन के जिला कार्यक्रम प्रबंधक राज कुमार, निगम के सहायक पृथ्वीपाल सिंह तथा लिपिक राजीव वालिया शामिल थे।
 स्वच्छता के लिए निर्धारित मापदण्डों में होटल के भवन का स्ट्रक्चर, बाउण्डी, एंट्री व एग्जीट गेट, कोरीडोर, गीले व सूखे कचरे के लिए अलग-अलग डस्टबीन तथा कचरे का निस्तारण, कम्पोस्ट पिट, चेंजिंग रूम, कमरे, शौचालय, वाशबेसिन तथा सीढियों की सफाई, पेयजल, हरियाली, स्वीपिंग, वाटर टैंक व कूलरों की सफाई, उचित मेन्टेनेन्स, टावल्स की सफाई, डस्टबीन से वेस्ट की डेली कलेक्शन, होटल में कार्य करने वाले कर्मचारियों के टायलेट, डस्टबीनों की संख्या तथा उनका प्रयोग, प्रतिदिन निकलने वाला कचरा, परिवेश की सफाई तथा ओवरआल क्लीन्लीनेस शामिल थे। इन्ही के आधार पर टीम में शामिल सदस्यों ने अंक निर्धारण कर अपनी रिपोर्ट तैयार की। दूसरे संस्थानों में भी उनसे जुड़े मापदण्डों के आधार पर अलग-अलग टीमों द्वारा निरीक्षण किया जा रहा है। 15 दिसंबर के बाद प्राप्त रिपोर्टों के आधार पर सभी संस्थानों में से एक-एक बेस्ट अथवा श्रेष्ठ संस्थान का चयन किया जाएगा।
 होटलों के निरीक्षण के उपरांत निगम कार्यालय में लौटी टीम ने बताया कि अधिकांश होटलों में वेस्ट मेनेजमैंट को लेकर कम्पोस्ट पिट बनाई गई हैं। मेन्टेनेन्स और साफ-सफाई को लेकर संवेदनशीलता भी दिखाई दी। उन्होने बताया कि निरीक्षण के दौरान होटल मालिकों ने बताया कि उन्हे स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 की पूर्ण रूप से जानकारी है तथा वे शहर की स्वच्छता को बनाए रखने में अपना योगदान दे रहे हैं।

COMMENTS

%d bloggers like this: