राज्य सरकार व विधुत विभाग द्वारा बुनकर समाज के उत्पीड़न के खिलाफ़ दो जिलों की मीटिंग

उत्तर प्रदेश।।( फ़रीद अंसारी ) देश प्रदेश की बाक़ी जात, बिरादरी,समाज को सरकारों द्वारा मिलने वाली रियायतों की तर्ज़ पर प्रदेश के बुनकरों को उनकी जीविका चलाने की ग़रज से 14, जनवरी 2016, से सस्ते दामों पर बुनकर मशीन चलाकर अपना परिवार पालने के लिए रियायती दरों पर बिजली कनेक्शन देने के आदेश ज़ारी कर दिए गए थे।

जिनके चलते प्रदेश भर के उन बुनकरों जिनकी जीविका बिजली के मोटर से चलने वाली मशीनों से कपड़ा बुनकर अपना परिवार चलाने की है को रियायती दरों वाले बिजली कनेक्शन ज़ारी किये गये। जिनका एक महीनें का एक मशीन का रियायती बिल शहरी इलाकों में 74, रूपये व गाँवों में 64, रूपये के हिसाब से आता था।

आरोप है की मोजुदा वक़्त में राज्य सरकार व विधुत विभाग इस स्कीम को ख़त्म करने की ठान चुके है जिसका सुबूत ये है की बुनकरों द्वारा हर माह बिल जमा करने के बाद भी पर विधुत विभाग द्वारा लाखों रूपये बकाया दर्शाये जा रहे है। सरकार व विधुत विभाग के इसी मनसूबे के खिलाफ़ बुनकर समाज के दो जिलों मुरादाबाद व बिजनौर से आये हजारों लोगों ने मीटिंग में भाग लिया।

आज की मीटिंग की सदारत हाज़ी मन्नान अंसारी व निज़ामत माहिर स्योहारवी की रही साथ ही, डॉक्टर मोहम्मद आलम, हाज़ी इकबाल, हाज़ी मोहम्मद ख़ालिद, हाज़ी नसीम अहमद, ज़ाकिर अंसारी, भूरे मिम्बर,

हाज़ी लईक, डॉक्टर सरफराज़ अहमद,हाज़ी स्नावोर, हाज़ी मुख़्तार, मुल्ला तसलीम अहमद,
दो जिलों मुरादाबाद व बिजनौर से आये हजारों बुनकरों ने हिस्सा लिया।

COMMENTS

%d bloggers like this: