मेवातः फैक्ट्री की जगह बूचड़खाना, लोगों में आक्रोश

बिलाल अहमद
मेवात। मेवात जिले के फिरोजपुर झिरका उपमंडल के गांव घाटा समशाबाद मैं लगभग 45 एकड़ में बन रहे बूचड़खाने को लेकर ग्रामीणों ने इसका जमकर विरोध किया है।वहीं ग्रामीणों ने साफ शब्दों में कहां है कि यह बूचड़खाना नहीं कत्लखाने का निर्माण हो रहा है। हम आपको बता दें कि मेवात जिले के उपमंडल फिरोजपुर झिरका के घाटा समशाबाद गांव में मीट फैक्ट्री बूचड़खाना लगभग 45 एकड़ में बन रहा है निर्माण जारी है उक्त गांव फिरोजपुर झिरका बीमा रोड पर पड़ता है वही घाटा समशाबाद में इस बूचड़खाने का निर्माण कार्य बिल्कुल रोड पर ही किया जा रहा है जिससे ग्रामीण खासे नाराज हैं वही ग्रामीणों ने हरियाणा सरकार को चेतावनी देते हुए कहा है कि हरियाणा सरकार को मेवात के लिए कोई कारखाना या फैक्ट्री लगानी थी।
लेकिन बूचड़खाना खोलकर यहां के लोगों को काफी परेशानी होगी वहीं आस-पास के गांव में भी बूचड़खाने की गंदगी व बदबू लोगों का जीना हराम कर देगी।
वही घाटा समशाबाद गांव के लोगों ने इसका जमकर विरोध किया तथा सरकार ने इस मीट फैक्ट्री पर चल रहे निर्माण कार्य पर तुरंत प्रभाव से रोक लगाने की मांग की है वही ग्रामीणों ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर सरकार ने इस  फैक्ट्री पर तुरंत प्रभाव से कोई कार्यवाही नहीं की तो ग्रामीण रोड जाम करने को मजबूर हो जाएंगे।
वही निर्माण कार्य शुरू होने से पहले ग्रामीणों को इसका पता चल गया था वही ग्रामीणों ने इसकी शिकायत जीव जंतु कल्याण बोर्ड के डायरेक्टर नरेश कादियान,हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर,भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी पत्र के माध्यम से की लेकिन आज तक कोई कार्यवाही अमल में नहीं लाई गई। जिससे ग्रामीण भाजपा सरकार को भी जमकर कोसते नजर आए।
इस अवसर पर घाटा शमशाबाद के ग्रामीण फारुख पूर्व चेयरमैन,इस्लामुद्दीन पूर्व सरपंच, मजीद, खुर्शीद, इकराम,मुबारिक, राशिद, अकरम, साकिर, रहीश, राहिल आदि सैकड़ों ग्रामीण मौजूद थे।

COMMENTS

%d bloggers like this: