सरकारी बैंकों के 10 लाख से अधिक कर्मचारी हड़ताल पर,आप को हो सकती पेसो की तगी

दिल्ली|| देशभर के सरकारी बैंकों के 10 लाख से अधिक कर्मचारी आज से दो दिनों की हड़ताल पर हैं.कर्मचारियों की यूनियन ने वेतन वृद्धि की डिमांड पूरी नहीं होने के कारण इसका ऐलान किया है. बैंक‍ यूनियनों के मुताबिक, इंडियन बैंक्स एसोसिएशन (आईबीए) ने उनके वेतन में महज 2 फीसदी की बढ़ोतरी का प्रस्ताव रखा है, जिसे 5 मई को हुई आईबीए की बैठक में लाया गया था. इससे बैंकिंग सेवाओं पर काफी बुरा असर हो सकता है और देश को करोड़ों का नुकसान हो सकता है. जानिए बैंक की हड़ताल से आप पर होगा क्या असर.

बैंक की हड़ताल से सभी बैंकिंग सेवाएं प्रभावित होंगी. बैंक बंद रहेंगे जिस वजह से आप बैंक से जुड़ी किसी भी सर्विस का फायदा आप नहीं उठा पाएंगे.

अगर आपका बैंक में लॉकर है तो आप उसे ऑपरेट नहीं कर पाएंगे.

बैंक के दो दिन ठप होने से  ATM खाली हो सकते हैं, जिसकी वजह से कैश की किल्लत हो सकती है.

स्ट्राइक का असर करोड़ों नौकरीपेशा और उनके परिजनों को झेलना पढ़ेगा, क्योंकि निजी और सरकारी कर्मचारियों का वेतन महीने की अंतिम तारीख में खाते में जमा किया जाता है. स्ट्राइक की वजह से सैलरी ट्रांसफर नहीं हो पाएंगी और उन्हें सैलरी मिलने में देरी होगी.

यहां बदले जाएंगे फटे, पुराने और रंगे नोट, जानें क्या है प्रक्रिया

>सप्ताह के बीच में हड़ताल होने से करोड़ों के चेक और ड्राफ्ट का क्लीयरेंस अटक जाएगा.

>देश के कुछ इलाकों में कुछ सप्ताह पहले कैश की बड़ी किल्लत थी, गांवों में ये समस्या कुछ ज्यादा     विकराल थी. इस बैंक हड़ताल से ये समस्या और बढ़ सकती है.

>बैंकिंग हड़ताल से एक दिन में इंडस्ट्री को कई हजार करोड़ का चूना लगता है, क्योंकि इससे कंपनी      के अधिकांश लेनदेन ठप पड़ जाते हैं.

>कैश से होने वाले काम पर हड़ताल का काफी बुरा असर होता है. चूंकि दूध, सब्जियां जैसी चीजें कैश     के सहारे चलती हैं, ऐसे में इनकी सप्‍ताई भी प्रभावित हो सकती है.

 

इस प्रकार की हड़ताल से देश की अर्थव्यवस्था को भी भारी नुकसान का सामना करना पड़ता है. कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि दो दिन की हड़ताल में करोड़ों नौकरीपेशा और बिजनेसमैन लोगों पर काफी असर होगा.

COMMENTS

%d bloggers like this: