सोनीपत जिले में बढ़ती अपराध की घटनाओं पर अधिकारी सख्त

 
सोनीपत, 14 दिसम्बर। जिले के पुलिस अधीक्षक सतेन्द्र कुमार ने आज जिला सचिवालय स्थित कार्यालय में एक बैठक कर जिला सोनीपत के सभी डी0एस0पी0, निरीक्षकों, थानाध्यक्षों के साथ जिले की कानून व्यवस्था, अपराध एंव अपराधियों के साथ-साथ जिले में नियुक्त पुलिस अधिकारियों के कार्य की समीक्षा की गई तथा सभी को सख्त दिशा निर्देश जारी किये।
        इस सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी देते हुये बताया कि अपराध गोष्ठी के दौरान जिला सोनीपत के पुलिस अधीक्षक सतेन्द्र कुमार ने सर्वप्रथम सभी थानाध्यक्षों के कार्यो की समीक्षा की और उन्हें सख्त निर्देश दिये है कि जो भी अभियोग लम्बे समय से उनके पास लम्बित पडे़ है, का एक निश्चित समय अवधि के दौरान निपटारा करे। महिलाओं से सम्बन्धित अपराधों की शिकायत प्राप्त होने पर उस पर परन्तु सावधानीपूर्वक कानून समवतः कार्यवाही करे। इसी प्रकार सी0एम0 विन्डो से व कोई अन्य शिकायत मिलने पर उस पर भी दो दिन के अन्दर त्वरित कार्यवाही करते हुये उसका निदान करे। उन्होंने निर्देश दिये है कि गश्त करते समय चाहे वह पदैल अथवा पी0सी0आर0 व मोटर साईकिल राईडरज द्वारा की जा रही है, जागरूक रहते हुये सावधानीपूर्वक की जाये तथा इस दौरान अजनबी पर्चे ज्यादा से ज्यादा संख्या में जारी किये जाए और आम जनता का भी सहयोग लिया जाये। किसी भी सूरत में आम नागरिक, जनप्रतिनिधियों से अभद्र व्यवहार ना किया जाये।
    सभी थाना अध्यक्षों को अपने-अपने क्षेत्र में रह रहे अपराधिक प्रवृति के बदमाशो की अलग से पहचान करके उन द्वारा किये गये अपराधों का विवरण लेकर सजा दिलवाने के लिए जिम्मेवारी सौपते हुये स्पैशल अधिकारी नियुक्त किया जाएगा है, ताकि ज्यादा से ज्यादा खंूखार प्रवृति के अपराधियों को न्यायालय से सजा दिलवाकर दण्डित किया जा सके तथा अपराधियों की अलग-अलग श्रेणी बनाकर उनको न्यायालय द्वारा सजा दिलवाकर दण्डित करवाया जा सके व हार्डकोर बदमाशों की विडियो कान्फैंन्स के द्वारा अदालत में पेशी करवाई जाए।
        अपने-अपने थाना क्षेत्र में आर0एस0ओ0 को ज्यादा संख्या में जोडा जाए। क्योंकि आर0एस0ओ0 को ज्यादा से ज्यादा अपने सम्पर्क में रखने से अपराधियों एंव असामाजिक तत्वों की पहचान एंव निगरानी आासानी से रखी जा सकती है।
        पी0ओ0, बैलजम्परों, मोस्ट वान्टैण्ड व पैरोल जम्परों को पकडने के लिए निर्देश दिये है, ताकि इनको अलग से घोषित करवाकर गिरफतार किया जाये तथा मादक, पदार्थ तस्करों, अवैध शस्त्रांे व गउ तस्करी व अवैध खनन पर शिकंजा कसने के निर्देश जारी किये गये। वाहन चोरी व चैन स्नैचिंग की घटनाओं को अन्जाम देने वाले अपराधियों पर भी अंकुश लगाकर भविष्य में इस प्रकार की घटनाओं को रोकने के भी सख्त निर्देश दिये गये। इसके अतिरिक्त ब्रन्ट केस व चोरी के मामलों में फिंगर प्रिन्ट विशेषज्ञ द्वारा भी राय ली जानी चाहिए, ताकि अपराधी को न्यायालय द्वारा दण्डित करवाने में सहायता मिल सके।
        अपने कथन को आगे जारी रखते हुये जिला के पुलिस अधीक्षक ने यातायात पुलिस बल व थाना प्रबन्धकों को निर्देश जारी करते हुये कहा कि वाहनों की अधिकता एंव भीडभाड को मध्यनजर रखते हुये अपना पूरा प्रयास करे कि कही पर भी मार्ग अवरूद्ध ना हो और आवगमन सुगम बना रहे तथा सीट बैल्ट व बिना हैल्मेट के वाहन चालकों का दिल्ली व अन्य साथ लगते राज्यों से जिला सोनीपत की सीमा में प्रवेश करने पर चालान किया जाए।
        अन्त में पुलिस अधीक्षक श्री सतेन्द्र कुमार ने सभी को अपना कर्तव्य ईमानदारी, पूर्ण निष्ठा, मेहनत से करने के साथ-साथ जनता को क्वालिटी सर्विसिज प्रदान करने व अवैध खनन को रोकने के सख्त निर्देश देते हुये कडाई के साथ आदेशो की पालना करने पर जोर दिया गया तथा कहा कि जो व्यक्ति पुलिस को झूठी शिकायत देेकर गुमराह करते है उनके विरूद्ध भी सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये है तथा पेट्रोल पम्पों व बैंको पर विशेष सुरक्षा रखने के निर्देश दिये है हम सभी ईमानदारी से डियूटि करेगे ओर भष्ट्राचार नहीं करेगे। जुआं, सटटा व अवैध शराब के धन्धे को पूर्ण रूप से बन्द कर देने के सख्त आदेश दिये। सोनीपत में अपराधियों के लिये कोई स्थान नहीं है। उनका सच्चा मित्र वही है, जो अपना कार्य निष्पक्ष एंव निडरता से करता है।

COMMENTS

%d bloggers like this: