Home Blog Page 3

बलात्कार के दोषी “कुलदीप सिंह सेंगर” की पत्नी को BJP ने दिया जिला पंचायत का टिकट.

0

असल न्यूज़: भारतीय जनता पार्टी ने उन्नाव जिले की 51 जिला पंचायत सीटों पर अपने अधिकृत प्रत्याशियों के नाम की घोषणा कर दी है। संगठन ने रेप केस के दोषी कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष संगीता सिंह सेंगर को चुनाव मैदान में उतारा है। इसके साथ ही पूर्व ब्लाक प्रमुख और पूर्व जिलाध्यक्ष को भी समर्थन दिया है। खासबात तो यह है कि विधानसभा तक पहुंचने का ख्वाब देख रहे तमाम नेता जिला पंचायत सदस्य के लिए जोर आजमाएंगे। टिकट की घोषणा के बाद से ही जिला पंचायत अध्यक्ष को लेकर शह मात का खेल चलने लगा। 

संगठन की ओर से गुरुवार को जारी की गई लिस्ट में कई चेहरे नए भी हैं। हालांकि पार्टी ने पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष संगीता सेंगर को फतेहपुर चौरासी चतुर्थ से प्रत्याशी बनाया गया है। इसके अलावा भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष अविनाश चंद्र उर्फ आनंद आवस्थी को सिकंदरपुर सरोसी प्रथम से प्रत्याशी बनाया गया है। नवाबगंज के पूर्व ब्लॉक प्रमुख अरुण सिंह औरास द्वितीय से टिकट मिला है। आनंद अवस्थी पूर्व में उन्नाव सदर से विधानसभा सदस्य के लिए चुनाव लड़ चुके हैं। हालांकि उन्हें सफलता नहीं मिली थी। संगीता सिंह सेंगर बांगमरऊ उप चुनाव में भाजपा से टिकट मांग रही थी। हालांकि उन्हें टिकट नहीं मिला था।

वहीं पूर्व ब्लाक प्रमुख अरुण सिंह भी बांगरमऊ से दावेदारी कर रहे थे। नवाबगंज ब्लाक प्रमुख की सीट आरक्षित होने के बाद अरुण सिंह अपनी राजनीति मजबूत करने के लिए जिला पंचायत सदस्य बनने हेतु मैदान में आ गए।  जिला पंचायत अध्यक्ष पद के पूर्व प्रत्याशी प्रवेश सिंह उर्फ सिंडीकेट को बिछिया द्वितीय से प्रत्याशी बनाया गया है। भाजपा की लिस्ट जारी होते ही सोशल मीडिया पर बधाई देने वाला का तांता लगा रहा। 

कमल का निशान लगाकर करने लगे प्रचार
भाजपा की ओर से जैसे ही समर्थित उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की गई सफलता पाने वाले दावेदारों की वांछे खिल गई। वह भूल गए कि भाजपा ने सिर्फ समर्थन दिया है अपना चुनाव चिह्न नहीं दिया है। अति उत्साह में तमाम दावेदारों ने कमल चुनाव निशान लगाकर अपना फोटो सोशल मीडिया पर जारी कर दिया। हालांकि सोशल मीडिया पर उनकी खूब चुटकी ली जा रही है। 

अध्यक्ष के लिए होगा घमासान

भाजपा की ओर से समर्थित उम्मीदवारों की लिस्ट जारी करने के बाद से ही सवाल तेजी से उछला कि अगला जिला पंचायत अध्यक्ष कौन होगा। अगर भाजपा के समर्थित उम्मीदवारों की जीत हुई और वह बहुमत में आई तो अध्यक्ष के लिए घमासान होना तय माना जा रहा है। भाजपा के दिग्गज अंदर खाने में ताकत लगाए हैं कि उनके पक्ष का दावेदार चुनाव जीते और उसे ही जिला पंचायत अध्यक्ष का टिकट मिले। हालांकि यह तस्वीर 2 मई को साफ हो पाएगी कि कौन जीतेगा और कौन हारेगा। कयास लगाया जा रहा है कि संगठन यह देखने में लगा है कि कौन प्रत्याशी कितने पानी में है और कितने अंतर से जीतकर आता है। 

पार्टी के विरोध को थामना आसान नहीं

पंचायत चुनाव में पार्टी समर्थित उम्मीदवारों की लिस्ट जारी होने के बाद से ही पार्टी में भितरघात शुरू हो गया है। दावेदारी कर रहे जिन लोगों को टिकट नहीं मिला वह खुलकर नहीं तो अंदर ही अंदर विरोध कर सकते हैं। मुद्दा यह है कि कई प्रत्याशी ऐसे हैं जो दूसरे ब्लाक के हैं। ऐसे में उनको स्थानीय नेताओं का समर्थन मिलेगा की नहीं यह तो वक्त ही बताएगा।

भाजपा ने इनको बनाया प्रत्याशी 

जिला पंचायत वार्ड           प्रत्याशी का नाम
नवाबगंज प्रथम            अमरेंद्र शेखर पासी
नवाबगंज द्वितीय        सुमन देवी धोबी
नवाबगंज     तृतीय        सुनीत कुमार 
नवाबगंज चतुर्थ            शिव देवी पासी
हसनगंज प्रथम            विजय कुमार शर्मा
हसनगंज द्वितीय            रेनू सिंह
हसनगंज तृतीय            परमेश्वरदीन वर्मा    
मियागंज प्रथम            शकुं तला शर्मा
मियागंज द्वितीय            रत्नेश सिंह
मियागंज तृतीय            फूलचंद्र रावत
औरास प्रथम            आरिफ अली
औरास द्वितीय            अरूण सिंह
औरास तृतीय            राणा संग्राम सिंह 
गंज मुरादाबाद प्रथम        विमल चंद्र शुक्ला
गंज मुरादाबाद द्वितीय        सरोज कटियार
गंज मुरादाबाद तृतीय        गीता विश्वकर्मा
बांगरमऊ प्रथम            कैलाश नाथ निषाद
बांगरमऊ द्वितीय            मुकेश पाल
बांगरमऊ तृतीय            योगेंद्र प्रताप सिंह
फतेहपुर चौरासी प्रथम    आशीष कुमार कुरील
फतेहपुर चौरासी द्वितीय    महेश चंद्र दीक्षित उर्फ मुन्ना
फतेहपुर चौरासी तृतीय    संगीता सेंगर
सफीपुर प्रथम            जयदेवी कुरील
सफीपुर द्वितीय            कमला गौतम
सफीपुर तृतीय            दिलीप कुमार उर्फ गुड्डू मिश्रा
सिकंदरपुर सरोसी प्रथम    अविनाश चंद्र उर्फ आनंद अवस्थी
सिकंदरपुर सरोसी द्वितीय    सरिता राजपूत
सिकंदरपुर सरोसी तृतीय    सोनी अशोक शुक्ला
सिकंदरपुर सरोसी चतुर्थ    शिवनंदनी लोधी
सिकंदरपुर कर्ण प्रथम    प्रमोद कुमार रावत
सिकंदरपुर कर्ण द्वितीय    चंद्रभूषण रावत
सिकंदरपुर कर्ण तृतीय    सुरेशा देवी गौतम
बीघापुर प्रथम            बंशी लाल लोधी
बीघापुर द्वितीय            सुषमा कन्नौजिया
बीघापुर तृतीय            फूलमती
सुमेरपुर प्रथम            जया तिवारी
सुमेरपुर द्वितीय            सुनीता देवी शर्मा
सुमेरपुर तृतीय            आरती देवी लोधी
हिलौली प्रथम            शशांक प्रताप सिंह
हिलौली द्वितीय            कृष्ण नारायण पाठक
हिलौली तृतीय            रामप्रकाश लोधी
हिलौली चतुर्थ            सोनी पाल
असोहा प्रथम            रविंद्र यादव
असोहा द्वितीय            केतकी रावत
असोहा तृतीय            ज्योति रावत
पुरवा प्रथम                सत्यम चौधरी
पुरवा द्वितीय            सज्जन लाल लोधी
बिछिया प्रथम            आशीष कुमार रावत
बिछिया द्वितीय            प्रवेश सिंह उर्फ सिंडिकेट
बिछिया तृतीय            अनीता देवी
बिछिया चतुर्थ            कृष्ण कुमार वर्मा

iQOO 7 सीरीज के स्मार्टफोन, कंपनी ने किया कन्फर्म, इसी महीने भारत में लॉन्च होंगे

0

असल न्यूज़: Vivo का सब-ब्रैंड iQoo इसी महीने भारत में iQOO 7 को लॉन्च करने वाला है। iQOO 7 की लॉन्चिंग को लेकर पिछले कई महीनों से खबर आ रही हैं। लेकिन अब खुद कंपनी ने इस फोन की लॉन्च डेट का खुलासा कर दिया है। कंपनी ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से फोन के लॉन्च के बारे में टीज किया है। इस पोस्ट से पता चलता है कि कंपनी iQOO7 को अप्रैल में लॉन्च करने वाली है। iQOO7 के स्टैंडर्ड मॉडल के साथ ही कंपनी इसके BMW M Motorsport Edition को भी भारत में लॉन्च करेगी। इसे भारतीय बाजार में iQOO7 Legend के नाम से पेश किया जा सकता है।बता दी iQOO 7 इस साल जनवरी में चीन में लॉन्च हो चुका है, इसी वजह से फोन के फीचर्स से जुड़ी लीक हुई काफी जानकारियां सामने आ चुकी हैं।

iQOO 7 की संभावित कीमत
iQOO 7 की शुरुआती कीमत चीन में 3798 युआन यानी करीब 43 हजार रुपये है। यह दाम फोन के 8GB+128GB वाले वेरियंट का है। वहीं iQOO7 फ़ोन के 12GB+256GB वाले वेरियंट की कीमत 4198 युआन यानी करीब 47,600 रुपये है। उम्मीद की जा रही है की भारतीय बाजार में भी iQOO 7 की कीमत इसी रेंज में रहनी है।

iQoo 7 के स्पेसिफिकेशन 
iQoo 7 की खूबियों की बात करें तो इस फ्लैगशिप मोबाइल में 6.62 इंच का full-HD+ AMOLED डिस्प्ले लगा हो सकता है। इस फोन का डिस्प्ले रिफ्रेश रेट 120Hz है। आईक्यू 7 में octa core Snapdragon 888 SoC प्रोसेसर लगा है। आईक्यू7 में 4,000mAh की बैटरी है, जो कि दो पैक में है।  फोन Android 11 पर आधारित Origin OS या Funtouch OS के साथ आ सकता है।

iQoo 7 कैमरा 
iQOO के इस फ्लैगशिप फोन में ट्रिपल रियर कैमरा सेटअप दिया गया है। फोन का मेन कैमरा 48MP का है। इसके साथ 13MP के दो अन्य सेंसर भी मिलते हैं। सेल्फी और वीडियो कॉलिंग के लिए फोन के फ्रंट में 16MP का कैमरा दिया गया है।

UP में लगा नाइट कर्फ्यू शादी समारोह के लिए लेनी होगी इजाजत

0

असल न्यूज़: कानपुर शहर में नाइट कर्फ्यू के दाैरान होने वाले शादी समारोह और अन्य सभी सार्वजनिक कार्यक्रम पर लगाई रोक आपको बता दें कि बिना प्रशासनिक अनुमति के नहीं होंगे कार्यक्रम। संबंधित मजिस्ट्रेट से कार्यक्रम की अनुमति लेनी होगी। शादी समारोह में या किसी भी कार्यक्रम में 50 से 100 लोग ही शामिल हो सकते हैं। यदि रात के समय कोई जाना चाहता है तो उन्हें शादी का कार्ड अपने साथ ही रखना होगा। यदि बिना कार्ड बाहर निकले तो उस पर कार्रवाई हो सकती है। एडीएम सिटी अतुल कुमार ने बताया कि कोरोना का प्रकोप बढ़ने पर सख्ती की गई है

कोरोना के बढ़ते संक्रमण से शादियों को लेकर संशय गहराता जा रहा है। कई शहरों में नाइट कर्फ्यू के बाद संकट और बढ़ गया है। रात की दावत के समय को लेकर ऊहापोह की स्थिति है। रात में तय शादियों की तैयारियों में फेरबदल को लेकर भी चिंता खड़ी हो गई है। बर्रा निवासी राजनारायण शुक्ला की बेटी की शादी 22 अप्रैल को है। फरवरी के अंत में तय हुआ था कि लगभग 250 लोगों की व्यवस्था थी। राजनारायण का कहना है कि मेहमानों की संख्या तय हो जाने से शादी के कार्यक्रम में 100 मेहमानों को आमंत्रित करने की व्यवस्था की थी। दूसरे दिन लड़के वालों ने रिसेप्शन रखा था। नाइट कर्फ्यू से नई समस्या खड़ी हो गई है। सभी शादी वाले घरों की चिंता रात के कर्फ्यू ने बढ़ा दी है। कर्फ्यू के चलते रात 8:00 बजे तक शादी की दावत निपटाना एक चुनौती होगा।

अंतरराज्यीय वाहनों पर रोक नहीं
अगर कोई व्यक्ति बाहर से वाहन लेकर आता है तो उसके आने पर किसी भी तरह की रोक नहीं होगी। डीएम आलोक तिवारी ने बताया कि अगर कोई ट्रेन व बस से आता-जाता है तो उसे भी नहीं रोका जाएगा। 

शिक्षकों को बुलाया जा सकता
12वीं तक के स्कूल पूरी तरह से बंद रहेंगे। फिर भी शिक्षक और शिक्षिकाओं को जरूरत के मुताबिक बुलाया जा सकता है। जिनकी चुनाव में ड्यूटी है, उनको आना होगा। परीक्षा व प्रैक्ट्रिकल पर किसी भी तरह की रोक नहीं है। रात 10 बजे के बाद शहर के होटल व ढाबे पूरी तरह से बंद रहेंगे। अगर कोई खोलता है तो उस पर कार्रवाई होगी। एडीएम सिटी ने बताया कि जरूरी सेवाओं और वस्तुओं को छोड़कर सब बंद रहेगा। हाईवे पर आवागमन होता है, इसलिए वहां छूट है। बाकी शहर के होटल व ढाबे पूरी तरह से बंद रहेंगे।

Somvati Amavasya 2021: सोमवती अमावस्या के दिन बन रहे दो घातक योग, जानें इनका प्रभाव और शुभ-अशुभ मुहूर्त

0

असल न्यूज़: आपको बता दे कि हिंदू धर्म में हर महीने में आने वाली पूर्णिमा का विशेष महत्व होता है जिसमें पंचांग के अनुसार एक माहर एक अमावस्या तिथि पड़ती है। ऐसे में कुल 12 अमावस्या साल में आती है। सोमवार के दिन आने वाली अमावस्या को सोमवती अमावस्या कहा जाता है। इस साल सोमवती अमावस्या के दिन वैधृति और विष्कंभ योग है। आपको बता दें कि इस साल 2021में सिर्फ एक ही सोमवती अमावस्या पड़ रही है। सोमवती अमावस्या के दिवस वैधृति योग दोपहर 2.28 मिनट तक रहेगा। इसके बाद विष्कुम्भ योग आरंभ हो जाएगा। इस दिन रेवती नक्षत्र सुबह 11 बजकर 30 मिनट तक है। जबकि चंद्रमा सुबह 11.30 बजे मीन राशि और फिर मेष में गोचर करेगा।

शास्त्रों के अनुसार विष्कुम्भ योग को जहर से भरा हुआ घड़ा कहा गया है। जिस तरह विष के सेवन से सारे शरीर में धीरे-धीरे जहर भर जाता है। ठीक इसी तरह यदि इस समय कोई काम किया जाता है तो वह विष की भांति मारा जाता है इसी के चलते इस योग में किए गए कार्य अशुभ फल देते हैं

वैधृति योग

यह योग में कार्य करने हेतु सही है। लेकिन यात्रा करने से इस योग में बचना चाहिए।

सोमवती अमावस्या शुभ मुहूर्त

ब्रह्म मुहूर्त- 4.17 मिनट अप्रैल 13 से 5.02 बजे तक।

अभिजित मुहूर्त- 11.44 बजे ले 12.35 मिनट तक।

विजय मुहूर्त- 2.17 मिनट से 3.07 बजे तक।

गोधूलि मुहूर्त- 6.18 बजे से 6.42 मिनट तक।

अमृत काल- 8.51 मिनट से 10.37 बजे तक।

निशिता मुहूर्त- 11.46 से 12.32 मिनट तक।

सोमवती अमावस्या अशुभ मुहूर्त

राहुकाल- 7.23 से 8.59 बजे तक।

यमगण्ड- 10.34 बजे 12.10 मिनट तक।

गुलिक काल- 1.45 मिनट से 3.20 बजे तक।

दुर्मुहूर्त- 12.35 से 1.26 बजे तक।

गण्ड मूल- पूरे दिन।

पंचक- 5.48 मिनट से 11.30 बजे तक।

महत्व

सोमवती अमावस्या के दिन उपवास रखने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती है। इस दिन पितरों को तर्पण किया जाता है। ऐसा करने से जातकों को पितरों का आशीर्वाद प्राप्त होता है। सोमवती अमावस्या के दिन पीपल पेड़ की परिक्रमा करना शुभ होता है। कहा जाता है कि पीपल में भगवान का वास होता है। ऐसा करने से सुख समृद्धि की प्राप्ति होती है।

मीडिया कर्मियों को दिल्ली में रात्रि कर्फ्यू के दौरान ई-पास से मिली छूट

0

असल न्यूज़: देश की राजधानी दिल्ली में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों के चलते नाइट कर्फ्यू लागू है. नाइट कर्फ्यू को सख्ती से लागू करने को लेकर फील्ड फंग्शनरीज पूरी तरीके से अलर्ट मोड पर हैं. कर्फ्यू के दौरान लागू नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ जहां सख्त कार्रवाई की जा रही है, वहीं जिनको छूट दी गई है उसका भी विशेष ध्यान रखा जा रहा है.

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) ने 6 अप्रैल के अपने आदेश में COVID-19 मामलों में आए उछाल के मद्देनजर 30 अप्रैल तक रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगा दिया है। मंगलवार को जारी किए गए आदेश में कहा गया था कि कुछ अन्य श्रेणियों के लोगों के साथ ही प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के लोगों को भी नाइट कर्फ्यू के दौरान ई-पास के जरिए आवाजाही की इजाजत होगी।

दिल्ली के मुख्य सचिव और कार्यकारी समिति के अध्यक्ष विजय देव द्वारा गुरुवार को जारी डीडीएमए के नए आदेश के अनुसार अब, मीडिया कर्मियों को ई-पास के बजाय अपना आईडी कार्ड साथ लेकर चलने की आवश्यकता होगी।

नाइट कर्फ्यू में ई-पास के लिए मिले 1.19 लाख आवेदनों में से 87 हजार खारिज

दिल्ली में नाइट कर्फ्यू के दौरान यात्रा की अनुमति के लिए ई-पास के लिए जिलों के अधिकारियों को 1.19 लाख आवेदन प्राप्त हुए जिसमें से लगभग 87,000 को खारिज कर दिया गया। अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि ज्यादातर आवेदन इसलिए खारिज किए गए क्योंकि वह कर्फ्यू से छूट पाने वाली श्रेणी में नहीं आते थे या उनमें दी गई सूचना में त्रुटि थी। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, लंबित आवेदनों की संख्या बुधवार को 30,000 से ज्यादा थी जो घटकर 20,055 रह गई है। कुल 1,19,369 आवेदन प्राप्त हुए जिसमें से केवल 12,068 स्वीकार किए गए।

दिल्ली में कोविड-19 के इस साल के सर्वाधिक 7,437 नए मामले, 24 की मौत

दिल्ली में कोविड-19 के 7,437 नए मामले सामने आए हैं, जो इस साल का सबसे बड़ा दैनिक आंकड़ा है, जबकि कोरोना वायरस संक्रमण के कारण 24 और लोगों की मौत हो गई, जिससे राजधानी में मृतकों की संख्या बढ़कर 11,157 हो गई। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, संक्रमण दर भी पिछले दिन की 6.1 प्रतिशत से बढ़कर 8.1 प्रतिशत हो गई, क्योंकि पिछले कुछ हफ्तों में मामलों में काफी वृद्धि हुई है। इस वर्ष पहली बार एक दिन में 7,000 से अधिक नए मामले सामने आए हैं। पिछले दो दिन 5,000 से अधिक नए मामले आए थे।

दिल्ली में अब तक के सबसे अधिक दैनिक मामले 11 नवंबर को आए थे, जब 8,593 मामले आए थे, जबकि शहर में कोविड-19 से सबसे अधिक मौतें 19 नवंबर को हुई थीं, जिस दिन 131 मरीजों की मौत हो गई थी। बुलेटिन में कहा गया कि एक दिन पहले 52,696 आरटी-पीसीआर जांच और 39,074 रैपिड एंटीजन जांच सहित कुल 91,770 जांच की गई थी। गुरुवार को संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 6,98,005 हो गए। अब तक 6.63 लाख से अधिक मरीज वायरस से उबर चुके हैं।

हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, बीमारी के कारण 24 और लोगों की मौत हो गई, जिससे मृतकों की संख्या बढ़कर 11,157 हो गई। दिल्ली में एक्टिव मरीजों की संख्या एक दिन पहले के 19,455 से बढ़कर 23,181 हो गई। बुलेटिन में कहा गया है कि होम आइलोसेशन में रखे गए लोगों की संख्या बुधवार के 10,048 से बढ़कर 11,367 हो गई, जबकि कंटेनमेंट जोन की संख्या एक दिन पहले के 3,708 से बढ़कर 4,226 हो गई।

OMG: बकरी ने दिया इंसान जैसे दिखने वाले बच्चे को जन्म.

0

असल न्यूज़: आपको बता दें कि एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने सभी को चौका कर रख दिया है गुजरात के तापी जिले में एक बेहद ही हैरान कर देने वाली घटना देखने को मिली जहां एक बकरी ने बूढ़े इंसान जैसे दिखने वाले बच्चे को जन्म दिया. इस बच्चे को देखने के बाद पूरे गांव के लोग हैरान रह गए और पूरे गांव के लोग इस बच्चे को पूजनीय भी मानने लगे.

दरअसल मामला गुजरात के सोनगढ़ तालुका में तापी नदी के तट पर स्थित सेल्टीपाड़ा गांव का है यहां पेशे से किसान अजयभाई वसावा के घर पर बकरी ने एक अजीब आकार के बच्चे को जन्म दिया. इसके चलते पूरा गांव अचंभे में रह गया.

गांव के लोगों में हैरानी तब हुई जब उन्होंने देखा कि बकरी के बच्चे का चेहरा एक बूढ़े आदमी जैसा है जिस पर दाढ़ी भी आई हुई है हालांकि बच्चे के चार पैर और कान बकरी की ही तरह हैं लेकिन शेष शरीर मानव की तरह नजर आ रहा है.

बकरी के बच्चे का माथा, आंख, मुंह और दाढ़ी जैसे कुछ हिस्से इंसान के अंगो जैसे नजर आ रहे हैं. इसके अलावा बकरी के बच्चे की पूछ भी नहीं है हालांकि बकरी का ये बच्चा केवल दस मिनट ही जीवित रहा. स्थानीय लोगों के मुताबिक बकरी का यह बच्चा उनका पूर्वज है. बच्चे की मौत के बाद लोगों ने इसकी पूजा की और दफन कर दिया.

गंगाराम अस्पताल के 37 डॉक्टरों को हुआ कोरोना, ज्यादातर ले चुके थे वैक्सीन

0

असल न्यूज़: कोरोना संक्रमण राजधानी में किस तरह से पैर पसार रहा है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि एक बार फिर बडी संख्या में चिकित्सक इसकी चपेट में आने लगे हैं. संक्रमण की तीसरी लहर गुजरने के बाद पहली बार किसी अस्पताल में तीन दर्जन से भी ज्यादा कर्मचारी कोरोना वायरस की चपेट में आए हैं। जानकारी के अनुसार दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में एक साथ 37 डॉक्टर कोरोना संक्रमित हुए हैं। इनमें 32 डॉक्टर होम आइसोलेशन हैं और जिनमें से पांच अस्पताल में ही भर्ती हैं फिलहाल राजधानी दिल्ली में यह सबसे बड़ा हॉट स्पॉट के रूप में सामने आया है। 

अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार बृहस्पतिवार को सभी डॉक्टरों की रिपोर्ट आई है। जिनमें 37 डॉक्टर संक्रमित हुए हैं। हालांकि ज्यादातर डॉक्टरों में संक्रमण का हल्का असर है लेकिन एहतियात के तौर पर इन्होंने खुद को होम आइसोलेट कर लिया है लेकिन पांच डॉक्टरों की हालत गंभीर है। इनकी आयु भी 50 वर्ष से अधिक है। इन डॉक्टरों को तत्काल गंगाराम अस्पताल के ही कोविड वार्ड में भर्ती किया गया है। वहीं दिल्ली सरकार ने कोरोना के बढ़ते मरीजों को देखते हुए लोक नायक अस्पताल में कोविड 19 संक्रमितों के बेड की संख्या 1000 से बढ़ा कर 1500 कर दी है और जीटीबी अस्पताल में बेड की संख्या 500 से 1000 कर दी है. इसके साथ ही डेंटल और आयुष डॉक्टरों को भी अब कोविड 19 अस्पतालों में ड्यूटी पर लगाया जाएगा. सरकार के अनुसार कोरोना के बढ़ते मरीजों को देखते हुए ये निर्णय लिया गया है.

वहीं पिछले 24 घंटों के आंकड़ाें पर गौर किया जाए तो अब तक के सभी रिकॉर्ड तोड़ते हुए 7437 नए मामले सामने आए हैं और 24 लोगों की कोरोना की वजह से मौत हुई है. वहीं, अब दिल्ली में संक्रमित एक्टिव मामलों की संख्या बढ़कर 23181 हो गई है. मौतों का आंकड़ा अब बढ़कर 11157 पहुंच गया है. पिछले 24 घंटे में पॉजिटिविटी रेट 8.10 फीसदी रिकॉर्ड किया गया है. दिल्ली सरकार की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 91770 लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया. वही रिकवर्ड करने वालों का आंकड़ा 3687 रिकॉर्ड किया गया. होम आइसोलेशन में भी मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. अब तक होम आइसोलेशन में 11367 लोग भर्ती हैं.

मंडावली में बाइक सवार बदमाशों ने युवक को मारी ताबड़तोड़ गोलियां, मौके पर मौत

0

असल न्यूज़। पूर्वी दिल्ली के मंडावली इलाके में बृहस्पतिवार शाम बाइक सवार बदमाशों ने एक युवक की गोलियां बरसांकर हत्या कर दी। मृतक की शिनाख्त मो. फरमान (23) के रूप में हुई है। तीन बाइकों पर सवार आधा दर्जन बदमाशों ने बेहद नजदीक से उसे चार गोलियां मारी। वारदात के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल फरमान को एलबीएस अस्पताल पहुंचाया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी भेज दिया है। पुलिस का कहना है. कि फरमान वेलकम इलाके का घोषित बदमाश था। पुलिस रंजिश समेत तमाम दृष्टिकोणों से मामले की जांच कर रही है। पुलिस के मुताबिक फरमान अपने परिवार के साथ वेलकम इलाके में रहता था। इसके परिवार में पिता मोहम्मद शकील व अन्य सदस्य हैं। बृहस्पतिवार शाम करीब सात बजे फरमान किसी काम से मंडावली इलाके में आया था।

इस बीच जैसे ही वह मदर्स कांवेंट स्कूल, बुद्धा मार्ग के पास पहुंचा। अचानक तीन बाइकों पर सवार आधा दर्जन बदमाशों ने उसे घेर लिया। बदमाशों ने पिस्टल निकालकर उस पर गोलियां चलाना शुरू कर दी। मौके पर अफरा-तफरी मच गई। वारदात के बाद बदमाश बड़े ही आराम से मौके से फरार हो गए। स्थानीय लोगों ने मामले की खबर पुलिस को दी।

अस्पताल पहुंचने पर फरमान को मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस आशंका जता रही है कि जानबूझकर फरमान को यहां बुलाकर वारदात को अंजाम दिया गया। पुलिस उसके सीडीआर से मामले की जांच कर रही है।

फिर से लॉकडाउन लगाना कितना उचित?

0

क्या देश उठा पाएगा दुबारा लॉकडाउन का भार ?

असल न्यूज़: (तन्नू रावत ) कोरोना वो महामारी जिसने दुनिया को नए शब्द से रूबरू करवाया वो शब्द है लॉकडाउन । पिछले साल 2020 में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने देश मे लॉकडाउन लगाने का फैसला किया था जिस से कोरोना की फैलने की रफ्तार को कम किया जा सके जहाँ ओर सरकार के मुताबिक इससे कोरोना की रफ़्तार को कम तो हुई लेकिन उस लॉकडाउन के वक्त देश की जनता के बहुत कुछ सहा जो बहुत ही दर्दनाक था यहाँ सवाल जो है वो यही बनता है

जो कुछ जनता ने सहा वो अब दुबारा सहना पड़ा सकता है??? बीते दिनों से दिल्ली समेत कई राज्यों में नाईट कर्फ्यू का एलान किया गया जिसमें ये तय किया गया कि रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाईट कर्फ़्यू रहेगा ऐसे में ये सवाल बनता है क्या कोरोना सिर्फ रात के वक्त ही फैलता है हालात देखतर तो ऐसी भी खबरे सामने आ रही है कि लॉकडाउन की घोषणा सरकार दुबारा कर सकती है ऐसे में ये भी सोचने का विषय है क्या फिर से लॉकडाउन लगाना बेहतर विकल्प साबित होगा अगर फिर से

लॉक डाउन लगा तो क्या होगा:= जहा 2020 मैं लॉक डाउन लगाने से देश मे हजारो लोगो ने आत्महत्या को बेहतर विकल्प समझा वही दूसरी ओर लाखों लोगो की कोरोना से मौतें हुई और इसके साथ साथ देश की जीडीपी गिर गई थी, लोगों के भूखों मरने की नौबत तक आ गई थी और अभी तक देश कोरोना ओर लॉक डाउन की मार से उभरा भी नही है और देश में लॉक डाउन लगने की खबरें सामने आ रही है ऐसे में ये एक गम्भीर समस्या की ओर संकेत कर रहा है अब ये सरकार के ऊपर है वह किस तरीके से समस्या का समाधान करेगी। हालांकि सरकार ने अपनी तर्फ से जनता जनता को फ्री राशन की सुविधा भी मुहिया कराई थी पर वो नाकाफी थी, जीने के लिए खाने के अलावा भी बहुत कुछ चाहिए होता है, वहीं एक बार फिर बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए हमे फिर से लॉकडाउन के लिए तैयार रहना चाहिए

नांगलोई में फर्जी कॉल सेंटर का खुलासा,लड़कियां मीठी मीठी आवाज में प्रलोभन देकर फसांति थी ग्राहकों को.

1

चार लड़कियों को भी किया गया गिरफ्तार, आरोपी नांगलोई सुल्तानपुर और मुबारकपुर डबास के रहने वाले.

असल न्यूज़: नांगलोई में फर्जी कॉल सेंटर का खुलासा दिल्ली पुलिस की स्पेशल स्टाफ ने किया है यह लोग लड़कियों के माध्यम से ग्राहकों को फोन कर मीठी मीठी बातों में फंसाकर उनसे रुपया ऐंठ से थे और जल्दी अमीर बनने के सपने दिखा देते हैं लेकिन इन लोगों की चालाकी और जालसाजी ज्यादा दिन नहीं चली और दिल्ली पुलिस की नजर उन पर पड़ गई आउटर डिस्ट्रिक दिल्ली पुलिस के स्पेशल स्टाफ ने एक फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़ करते हुए आठ लोगों को गिरफ्तार किया। इस गिरोह में छह लड़कियां भी शामिल है. जो अपनी नशीली आवाज के जरिये लोगों को घर में बैठे दो हजार से तीन हजार प्रतिदिन कमाने का झांसा देकर लोगों के साथ ठगी करती थी. आउटर डिस्ट्रिक के डीसीपी प्रविंद्र सिंह के अनुसार पुलिस को सूचना मिली थी कि नागलोई में एक फर्जी कॉल सेंटर संचालित किया जा रहा है.

काल सेंटर कुछ लड़के और लड़कियां लोगों को प्रतिदिन दो हजार कमाने का झांसा देकर ठगी करते हैं. काल सेंटर को अजीम अली और अफजल मिर्जा नाम के दो भाई चला रहे थे. मुखबिर खास की सुचना के बाद डीसीपी प्रविंदर सिंह के निर्देश पर स्पेशल स्टाफ ने नांगलोई में चल रहे इस कॉल सेंटर पर छापा मारा तो पाया कि कुछ लड़के लड़कियां रैंडमली कई नंबरों पर कॉल कर लोगो को ठगने का प्रयास कर रहे हैं. पुलिस ने उनके कब्जे से कुछ लैपटॉप कंप्यूटर और मोबाइल फोन के साथ कालिंग करने वाले सिम कार्ड बरामद किए हैं.

गिरफ्तार आरोपियों की पहचान अजीम अली (21) नांगलोई दिल्ली के रूप में हुई है. दूसरे आरोपी की पहचान अफजल मिर्जा (25) नांगलोई के रूप में हुई है. तीसरे अपौरी की पहचान पूनम शर्मा (21) मुबारकपुर डबास दिल्ली के रूप में है. चौथे आरोपी की पहचान भारती (23) गांव कराला दिल्ली के रूप में हुई है. पांचवें आरोपी की पहचान नेहा (22) किरारी सुलेमान नगर दिल्ली के रूप में हुई है. छठे आरोपी की पहचान हर्षिता (22) सुलतानपुरी दिल्ली के रूप में हुई है. सातवे आरोपी की पहचान खुशबू (21) सुल्तानपुरी के रूप में हुई है वही आदमी आरोपी की पहचान हिमांशु (23) सुल्तानपुरी के रूप में हुई है.

21,784FansLike
2,733FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Recent Posts