हरियाणा प्रदेश में रोडवेज विभाग का चक्का जाम, यात्रियों को बड़ी परेशानी

असल न्यूज़। (प्रवीण कुमार) हरियाणा रोडवेज कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के आह्वान पर मोटर व्हीकल संशोधन बिल.2017 व 700 बसें ठेके पर लेने के विरोध में मंगलवार को हरियाणा प्रदेश में रोडवेज बसों का चक्का जाम रहा। हिसार में हरियाणा रोडवेज की हड़ताल को देखते हुए यात्रियो को आज भारी परेशानी उठानी पडी। यात्रियों को आने जाने के लिए काफी परेशानियों का सामना करना पडा।

रोडवेज कर्मचारियों ने बस अड्डे पर इसके विरोध में विरोध प्रदर्शन करके रोष जताया। संयुक्त संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार मोटर व्हीकल संशोधन बिल 2017 लाने के पक्ष में कार्य कर रही है। यह संशोधन बिल तमाम चालक.परिचालकों के खिलाफ हैएक्योंकि इस बिल की प्रक्रिया बहुत जटिल एवं उलझी हुई है।

ऐसे में इस बिल के लागू होने से चालकों व परिचालकों का वाहन चलाना मुश्किल हो जाएगा। दूसरी ओर प्रदशे भाजपा सरकार 700 बसें ठेके पर लेकर रोडवेज बेड़े में शामिल करने के लिए प्रयासरत है। ऐसा कर प्रदशे सरकार हरियाणा रोडवेज विभाग को निजीकरण की ओर धकेलना चाहती है। जो रोडवेज कर्मचारियों के खिलाफ अन्याय है। केंद्र व प्रदशे सरकार की इन कर्मचारी विरोधी नीतियों को लेकर ही यह राष्ट्रव्यापी विरोध है।

हरियाणा रोडवेज यूनियन के जिला प्रधान राजपाल नैन ने कहा कि निजीकरण करण की पोलीसी बनाई जा रही है जो जनहित में नही है। आज हरियाणा में चार हजार बसे है जो काफी कम है। उन्होने काह कि सरकार जनहित के विभाग हरियाणा रोडवेज को निजी हाथो में बेचना चाहती है इससे जनता को भी नुक्सान होगा। उन्होने कहा हिसार में 200 बसे दो सौ बसे चली है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि आने वाले समय में आल इडिया रोडवेज ट्रासपोर्ट फैसला लेगी कर्मचारी उस पर लागू करेंगे।

इटंक के राज्य उपप्रधान सूरजमल ने कहा कि सरकार जनता विरोधी, कर्मचारी विरोधी बिल है इस बिल को वापस लिया जाना। सरकार रोडवेज का विकास नही करना चाहती बल्कि पूंजीपतियों चेहतों को फायदा पहुचाने के लिए के ये बिल ला रही है और जिसके तहत सरकार सात सौ नई बसे ला रही है। उनकी मांग है कि दस हजार नई बसे शामिल की जानी चाहिए। आज की हडताल कर्मचारियों की दस ट्रेड यूनियने भाग ले रही है। उन्होने चेतावनी देते हुए कहा कि 5 सिंतबर की राज्य तालमेल कमेटी का बैठक होगी अगर सरकार आज के आंदोलन नही मानी तो 5 सितंबर को प्रदेश भर में जाम लगाया जाएगा।

रोडवेज की हडताल होने से यात्रियों को परेशानियों का सामान करना पडा। हिसार के यात्रियों का कहना उन्हे अपने काम से बाहर जाना था परंतु बसे बंद होने के वे बाहर नही जा सकते। कुछ यात्रियों को कहना था कि उन्हें दिल्ली में जाना था जब व बस अडेडे पर पहुचे तो हडताल होने से की वजह से दिल्ली नही जा सके।

youtube चैनल asalnews को सब्सक्राइब करें बेल आइकन को भी दबाएं

youtube चैनल ann news को सब्सक्राइब करें बेल आइकन को भी दबाएं

youtube चैनल असल आस्था को सब्सक्राइब करें बेल आइकन को भी दबाएं

आप किसी भी राज्य से हमें खबरें भेज सकते हैं खबरें भेजने के लिए हमारी ईमेल ID mail@asalnews.com पर खबरें मेल करें

आप किसी भी राज्य से असल न्यूज़ के साथ काम करना चाहते हैं तो अपना CV हमारी ईमेल ID mail@asalnews.com  मेल करें

आधार कार्ड की कॉपी ,पैन कार्ड की कॉपी, हमें मेल करें अधिक जानकारी के लिए हमारे मोबाइल नंबर:- 9891862889,9811498341 पर संपर्क करें

COMMENTS

%d bloggers like this: