विन्ध्य नगरी के एक उभरते लेखक श्याम अचल विश्वकर्मा ने लिखी बरसाती गैंग की पटकथा व सम्वाद

विन्ध्य नगरी के एक उभरते लेखक श्याम अचल विश्वकर्मा ने लिखी बरसाती गैंग की पटकथा व सम्वाद

मुम्बई : कला प्रेमियों को यह खबर खुशी से सराबोर कर सकती है कि नवम्बर में उन्हें बड़े परदे पर विन्ध्य क्षेत्र व मध्यप्रदेश के कलाकारों की अदाकारी का जलवा एक बार पुन: देखने को मिलेगा। अदाकारी का यह जलवा नवम्बर में रिलीज होने वाली फिल्म बरसाती गैंग में नजर आएगा। फिल्म की पटकथा व सम्वाद विन्ध्य क्षेत्र के मीरजापुर के नेवढ़िया घाट के निवासी श्याम अचल विश्वकर्मा “प्रियात्मीय” ने लिखा है। बरसाती गैंग में न केवल सतना के कलाकार अदाकारी के जौहर दिखा रहे हैं बल्कि सतना के ही नत्थूलाल पटेल इस फिल्म में एसोसिएट प्रोड्यूसर के तौर पर भी सामने आ रहे हैं।

उप्र के कुख्यात डकैत बरसाती के जीवन पर आधारित है फिल्म बरसाती गैंग

उप्र के कुख्यात डकैत बरसाती के जीवन पर आधारित फिल्म बरसाती गैंग बनकर तैयार हो चुकी है जिसे नवम्बर में बड़े परदे पर रिलीज किया जा रहा है। फिल्म का डायरेक्शन कन्हैया वी.शुमानी ने किया है जबकि सतना के नत्थूलाल पटेल एसोसिएट डायरेक्टर के तौर पर इस प्रोजेक्ट से जुड़े रहे हैं। जबकि इस फिल्म के निर्माता शिवकुमार विश्वकर्मा ही बरसाती डाकू का किरदार निभाया है।

पहले पहनी वर्दी, अब बने डाकू भैरव सिंह

कभी चोरी व लूट की बड़ी वारदातों को अंजाम देकर उत्तरप्रदेश में खौफ का पर्याय बने बरसाती गिरोह पर आधारित इस फिल्म में सतना के जितेंद्र दीक्षित बरसाती डाकू के दुश्मन ठाकुर भैरव सिंह का किरदार निभा रहे हैं। ठाकुर भैरव सिंह के मुख्य नकारात्मक किरदार में अपनी अदाकारी से जितेंद्र ने अमिट छाप छोड़ी है। यह भी दिलचस्प है कि इसके पूर्व प्रियंका चोपड़ा के साथ आई बहुचर्चित बालीवुड फिल्म जय गंगाजल में इन्होंने इंसपेक्टर का किरदार निभाया था, लेकिन बरसाती गैंग में निभाया गया जितेंद्र दीक्षित का किरदार निगेटिव शेड लिए हुए है। यदि फिल्म के डायरेक्टर व निर्माण से जुड़े लोगों की मानें तो जितेंद्र ने ठाकुर भैरव सिंह के किरदार में हैरान कर देने वाला अभिनय किया है और इसमें वे बेहद क्रूर भी नजर आ रहे हैं। इस फिल्म के निर्माता शिवकुमार विश्वकर्मा ही बरसाती डाकू का किरदार निभाया है।

बालीवुड में सराही जा रही मझोले शहरों की कथा

चमक-दमक व ग्लैमर से परिपूर्ण बालीवुड पहले अपनी पटकथाओं के लिए विदेशों का मुंह ताकता था, लेकिन अब बालीवुड में ऐसे निर्देशकों की पौध आ गई है जो छोटे शहरों की कथाओं को वैश्विक स्तर पर प्रस्तुत करने की क्षमता रखते हैं। यही कारण है कि बालीवुड को अब प्रतापगढ़ उप्र में सक्रिय बरसाती डाकू रहा हो अथवा एमपी-यूपी सीमा पर स्थित चित्रकूट क्षेत्र का दुर्दांत डाकू ददुआ रहा हो, बालीवुड इनके जीवन प्रसंगों से प्रभावित है। कन्हैया वी शुमानी , नत्थूलाल पटेल जैसे गैर फिल्मी पृष्ठभूमि से जुड़े लोगों की बालीवुड में दस्तक देने से छोटे शहरों की कहानियां ही नहीं बल्कि छोटे शहरों की लोकेशन भी बड़े परदों की पसंदीदा बनती जा रही है। यही कारण है कि बेटी बचाने का संदेश देने वाली एक फिल्म की पूरी शूटिंग सतना में की गई है। इस प्रोजेक्ट से जुड़े डायरेक्टर कन्हैया वी. शुमानी व नत्थूलाल पटेल ने बताया कि ब्लैक यूचर की पूरी शूटिंग कोठी , मरघटनाथ व उसके आसपास हुई है , जिसमें रूसी अभिनेत्री ने भी अभिनय किया है। जाहिर है कि मायानगरी की मंहगी लोकेशन व मंहगी स्टार कास्ट से इतर अब रचनात्मक निर्देशक अच्छी कहानियों व वास्तविक लोकेशनों की तलाश में छोटे शहरों की ओर रूख कर रहे हैं, जिससे स्थानीय प्रतिभाओं को भी अदाकारी का मंच मिल रहा है।

कलाकारों की जननी विंध्य की धरा

विंध्य की धरा सदियों से कला-संस्कृति की जननी रही है और विंध्य की माटी में खेलकर बड़े हुए कई कलाकारों ने राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी कला का जादू बिखेरा है। मौजूदा समय पर विंध्य के कई कलाकार बालीवुड में धूम मचा रहे हैं। उचेहरा की दिव्यांका त्रिपाठी, मैहर के महेश राज, सुधीर पांडे, जसो के आनंद शुक्ला, पटकथा लेखक अशोक मिश्रा जैसे कई ऐसे नामचीन नाम हैं जो विंध्य की कला संस्कृति की खुशबू बालीवुड में बिखेर रहे हैं।

इनका कहना है

डायरेक्टर कन्हैया वी. शुमानी के अनुसार छोटे शहरों में बड़ी स्टोरियां होती है, लेकिन हम विदेशी फिल्मों का अनुकरण करते हैं। हमने देश के गांवों में बिखरे किरदारों को टटोला तो बड़ी कहानियां सामने आईं। बरसाती कुख्यात लुटेरा था, लेकिन उसे पुलिस ने धोखे से मारा। मैं उसकी पत्नी से मुलाकात कर प्रभावित हुआ और फिल्म बन गई।

एसोसिएट डायरेक्टर नत्थूलाल पटेल के अनुसार बरसाती डाकू के जीवन पर फिल्म बनाने के पहले हम सतना जिले में ब्लैक यूचर फिल्म की शूटिंग कर चुके हैं। छोटे शहरों के लोकेशन फिल्म में वास्तविकता का पुट भरते हैं और सस्ते भी पड़ते हैं।

फिल्म की पटकथा व सम्वाद लेखक श्याम अचल विश्वकर्मा “प्रियात्मीय” के अनुसार फ़िल्म बरसाती गैंग एक्शन फिल्म है, कुछ ऑडियो कट के साथ कुछ दृश्य के चलते सेंसर बोर्ड से “A” सर्टिफिकेट मिला है। जल्द ही फिल्म देश भर के सिनेमा घरों में रीलिज होगी। उम्मीद है कि नवम्बर में रिलीज हो रही बरसाती गैंग को दर्शकों का प्यार मिलेगा और समीक्षकों की भी सराहना मिलेगी।

COMMENTS

%d bloggers like this: