आरोपी को छोड़ने के लिए 1 करोड़ रिश्वत मांग रहे थे, ASI समेत 3 दिल्ली पुलिसकर्मी बर्खास्त…

पुलिस ने अपने सैनिकों के खिलाफ कार्रवाई की, यह सहायक है जिसमें एक उप निरीक्षक (एएसआई) समेत चार पुलिसकर्मी गिरफ्तार किए गए हैं।

असल न्यूज  : अपनी तेजतर्रार कार्रवाई के लिए चर्चित दिल्ली पुलिस अब रिश्वतखोरी में घिर गई है। दिल्ली के चार पुलिसकर्मियों पर ऑनलाइन चीटिंग के आरोपी की पत्नी से रिश्वत लेने का आरोप लगा है। दरअसल, ठगी के एक आरोपी को छोड़ने के बदले पुलिसकर्मियों से एक करोड़ रुपये में सौदा तय हुआ था, लेकिन पहली किस्त के रूप में मिले 11 लाख रुपये के बंटवारे को लेकर फूट पड़ गई। अनबन इतनी बढ़ी कि पुलिसकर्मियों के बीच का झगड़ा थाने पहुंचा और पूरे मामले का खुलासा हो गया।

वहीं, मामले के खुलासे के बाद दिल्ली पुलिस ने अपने ही जवानों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए एक असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर (ASI) समेत चार पुलिसकर्मियों को बर्खास्त कर दिया है। पूरा मामला रणहौला थाने का है।

इन पर हुई कार्रवाई

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, ऑनलाइन चीटिंग के एक आरोपी शख्स प्रदीप प्रधान को बंधक बनाकर रखने व जबरन वसूली के मामले में तीन पुलिसकर्मियों, असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर सुबे सिंह, हेड कांस्टेबल इंदू परमार व कांस्टेबल अजय को गिरफ्तार किया जा चुका है। वहीं, चौथे आरोपी की गिरफ्तारी सचि के रूप में हुई है।

1.50 करोड़ में हुई था सौदा, पुलिस को मिल चुके थे 11 लाख

सामने आई जानकारी के मुताबिक, ऑनलाइन चीटिंग केस के आरोपी प्रदीप प्रधान को पकड़ने के बाद दिल्ली पुलिस ने उसे छोड़ने के एवज में डेढ़ करोड़ रुपये की मांग की थी। इस पर आरोपी की पत्नी नेहा राजी भी हो गई और मोलभाव कर सौदा एक करोड़ में तय हो गया। आरोपी की पत्नी नेहा ने तय सौदे के तहत 11 लाख रुपये की पहली किस्त दे भी दी। बता दें कि ऑनलाइन चीटिंग का आरोपी प्रदीप प्रधान पश्चिमी दिल्ली के कंझावला इलाके का रहने वाला है।

यहां पर बिगड़ी बात, पत्नी बोली- पहले मेरे पति तो दिखाओ

बताया जा रहा है कि 11 लाख रुपये मिलने के बाद बाकी का भुगतान मंगलवार (4 दिसंबर) की दोपहर में होना तय था, जगह भी तय हो गई थी- मौर्या एंक्लेव (दिल्ली)। तय योजना के मुताबिक, दोनों पक्षों में मुलाकात भी हुई। आरोपी की पत्नी नेहा अपने साथ 2 और लोगों को लेकर मौर्या एंक्लेव पहुंची थी। बातचीत के दौरान नेहा ने बाकी के पैसे देने से पहले आरोपी प्रदीप को सामने लाने की बात कही। नेहा के प्रस्ताव पर कुछ पुलिसवालों और नेहा के साथ आए लोगों के बीच बहस शुरू हो गई। बहस इस कदर बढ़ी कि पुलिसवालों और नेहा के साथ आए लोगों में मारपीट हो गई। वहीं, मौजूद किसी ने पीसीआर को सूचना दे दी। स्थानीय पुलिस ने मौके पर पहुंच पुलिसकर्मियों को पकड़ लिया। पीड़ित नेहा ने पुलिस के सामने सारी सच्चाई रख दी। वहीं कहा यह भी जा रहा है कि मामला पैसों के बंटवारे को लेकर ही बिगड़ा था, जो पुलिस तक पहुंच गया।

यह था मामला

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, इसी साल 28 सितंबर को छत्तीसगढ़ में ऑनलाइन चीटिंग का एक मामला दर्ज हुआ था। इस मामले में कुल 6 आरोपियों में से 5 पुलिस गिरफ्त में आ चुके हैं। बाकी बचे एक आरोपी प्रदीप प्रधान को तीन पुलिस वालों ने पकड़ा और उत्तमनगर स्थित सचिन के घर निगरानी में रखा। पूरी योजना के तहत इसके बाद तीनों पुलिसवालों में प्रदीप की पत्नी नेहा से संपर्क किया। उन्होंने नेहा से कहा कि पति प्रदीप प्रधान को छोड़ने की एवज में उसे डेढ़ करोड़ रुपये देने होंगे। हालांकि, बाद में 1 करोड़ रुपये में सौदा तय हुआ। तय सौदे के तहत नेहा ने रविवार को 11 लाख की पहली किस्त भी दे दी थी।

COMMENTS

%d bloggers like this: