10 साल पुराने डीजल वाहन, ट्रैक्टर व पंप पर रोक, किसानों का प्रदर्शन !

असल न्यूज़ : (आर.के. द्धिवेदी) जालौन केंद्र सरकार और एनजीटी ने 10 साल पुराने डीजल वाहन के साथ किसानों के ट्रैक्टर व पंप पर रोक लगा दी है। इस आदेश के खिलाफ भारतीय किसान यूनियन ने सरकार और एनजीटी के खिलाफ सड़क पर उतरते हुये ट्रैक्टर लेकर जुलूस निकाला जो कलेक्ट्रेट पहुंचा और वहाँ सरकार के खिलाफ धरना दिया।

बता दे कि केंद्र की मोदी सरकार और एनजीटी ने बढ़ते प्रदूषण को देखते हुये फैसला लिया था कि 1 अप्रैल से 10 साल पुराने डीजल वाहनों के साथ किसानों की खेती में प्रयोग होने वाले ट्रैक्टर और डीजल इंजन नहीं चलेगे। इस आदेश के आने के बाद भारतीय किसान यूनियन सरकार के इस आदेश के खिलाफ हो गई। जिसने सरकार और एनजीटी के इस फरमान का विरोध किया। इसी को लेकर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत के आवाहन पर प्रदेश अध्यक्ष राजवीर सिंह जादौन के नेत्रत्व में आज सैकड़ों किसान गल्लामंडी में अपने 10 साल पुराने ट्रैक्टर लेकर इकत्रित हुये और उन्होने सरकार के इस फैसले का विरोध करते हुये गल्लामंडी से ट्रैक्टर जुलूस निकाला और यह जुलूस शहर के भिन्न-भिन्न चौराहों से होते कलेक्ट्रेट पहुंचा। कलेक्ट्रेट में सैकड़ों ट्रैक्टरों को देख अफरा-तफरी मच गई। इस प्रदर्शन के दौरान किसानों की पुलिस से तीखी-नौंक झौंक हुयी। कलेक्ट्रेट पहुंचे किसानों ने सरकार के इस फैसले को गलत बताया।

इस प्रदर्शन की अगुवानी कर रहे भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष राजवीर सिंह जादौन ने कहा कि सरकार और एनजीटी का यह गलत कदम है। उन्होने कहा कि किसान देश की तरक्की में योगदान देता है लेकिन सरकार ने 10 साल पुराने ट्रैक्टर और पंप को बंद कर दिया। उन्होने बताया कि 10 साल में ट्रैक्टर का बोर भी नहीं बनता लेकिन सरकार इस फैसले को बापिस ले। उन्होने कहा कि सरकार यदि फैसला वापिस नहीं लेती है। तो उनके ट्रैक्टर को खरीदे और निशुल्क किसानों को दे। यदि सरकार ऐसा नहीं करती है तो इसके खिलाफ और प्रदर्शन करेगी।

COMMENTS

%d bloggers like this: