यमुना नदी में डूबे छ युवक, तीन की मौत

शामली (दीपक कुमार) एक बड़ी दुखद घटना सामने आई है जहां पर जागरण में हुए कीर्तन के बची हुई सामग्री को यमुना नदी में विसर्जित करने के लिए गए 6 युवक नदी में डूब गए जिनमें से 3 युवकों के शवों को बाहर निकाला जा चुका है और बाकी युवकों की तलाश में ग्रामीण और पुलिस प्रशासन की टीमें लगी हुई हैं।

कैराना कोतवाली क्षेत्र के गांव नंगला राई का है जहां से यमुना नदी बहती है। बीती रात पास आए गाँव मलकपुर में एक जागरण हुआ था और जागरण के दौरान हवन कीर्तन किया गया था जिसके बाद उसकी बची हुई सामग्री को यमुना नदी में विसर्जित करने के लिए 12 युवक नंगला राई गए थे जिसमें से 5 युवक तो बाहर रुक गए और 7 युवक यमुना के अंदर राख को विसर्जित करने के लिए यमुना नदी में चले गए जो कि यमुना नदी में तेज बहाव होने के कारण डूब गए।

नदी के बाहर खड़े युवकों की चीख पुकार सुनकर पास के खेत मे काम कर रहा किसान युवकों की तरफ दौड़ा। जब किसान ने युवकों को डूबता हुआ देखा तो युवक ने दौड़कर एक युवक को बाहर निकालने में कामयाब रहा जबकि 6 युवक नदी में डूब गए जिनमें से 3 युवकों के शवों को पुलिस प्रशासन ने बाहर निकाल लिया है जबकि बाकी बचे तीनो युवकों के शवों की तलाश ग्रामीण और पुलिस प्रशासन द्वारा यमुना नदी में की जा रही है।

युवकों के शवों को ढूंढने के लिए प्राइवेट गोताखोरों के साथ-साथ पुलिस विभाग के गोताखोर भी यमुना नदी में उतरे हुए हैं और युवकों की तलाश की जा रही है। वाकया करीब 11बजे का है जब यह युवक जागरण की बची हुई सामग्री को यमुना नदी में विसर्जित करने के लिए गए थे और उनमें से छह युवक यमुना नदी में डूब गए।

सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन के हाथ पांव फूल गए और आनन-फानन में जिले के तमाम अधिकारी मौके पर पहुंचे और प्राइवेट गोताखोरों के साथ-साथ पुलिस के गोताखोरों को बुलाया गया और युवकों की तलाश शुरू की। कई घंटों की कड़ी मशक्कत के बाद तीन युवकों के शवो को प्रशासन ने बाहर निकाल लिया जबकि 3 युवक अभी भी यमुना में लापता है जिंदगी गोताखोरों की मदद से पुलिस प्रशासन तलाश कर रहा है।

COMMENTS

%d bloggers like this: