चुनौती स्वीकार करते हुए श्रीनगर के लाल चौक पर तिरंगा फहरायेंगे हिंदुस्तान उत्थान पार्टी के कार्यकर्ता

प्रतीक चित्र

गाजियाबाद ।। कश्मीर में अलगावादी नेताओं की धमकियों को नज़रअंदाज करते हुए हिंदुस्तान उत्थान पार्टी के नेता व कार्यकर्ता इस गणतंत्र दिवस पर श्रीनगर के लाल चौक पर तिरंगा फहरायेंगे। इस दौरान पार्टी के हज़ारों कार्यकर्ता व सैंकड़ों नेता मौजूद रहेंगे। मंगलवार को यह ऐलान पार्टी की तरफ से प्रेस वार्ता में किया गया। इस कार्यक्रम को लेकर पार्टी की तरफ से तैयारियां शुरू हो गई है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ज्ञानेश चौहान ने कहा है कि अलगाववादी नेताओं ने चुनौती दी थी कि किसी में हिम्मत है तो कश्मीर में तिरंगा फहराकर दिखायें। उनकी पार्टी ने इस चुनौती की स्वीकार किया है व इस 26 जनवरी लाल चौक पर तिरंगा फहराकर दिखायेंगे। प्रेस वार्ता में पार्टी ने कुलभूषण जाधव पर पाकिस्तान के रवैये की कड़ी आलोचना की साथ ही जाधव के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की।

फारूख अब्दुल्ला ने तिरंगा फहराने की चुनौती दी थी

यहां आपको बता दें कि फारूक अब्दुल्ला ने 27 नवंबर को केंद्र सरकार को चुनौती देते हुआ कहा था कि वह पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में तिरंगा फहराने की बातें करने से पहले श्रीनगर के लाल चौक पर तिंरगा फहराकर दिखाए।

प्रतीक चित्र

पार्टी को करना होगा दिक्कतों का सामना

हिंदुस्तान उत्थान पार्टी से पहले शिवसेना कार्यकर्ता तिरंगा फहराने की कोशिश कर चुके हैं, जिन्हें श्रीनगर पहुंचने के बाद पुलिस ने हिरासत में ले लिया था। इसी तरह लाल चौक पर तिरंगा फहराने का संकल्प लेने वाली जाह्नवी बहल को 30 अन्य लोगों के साथ श्रीनगर एयरपोर्ट से लौटा दिया गया था। आपको बता दें कि जाह्नवी ने 23 जुलाई को कहा था कि वह 15 अगस्त को लाल चौक पर तिरंगा फहराकर दिखायेंगे। इस संकल्प को उनके साथ पांच लोग चंडीगढ़ से जबकि 25 लोग दिल्ली से साथ गये थे। अब इस पार्टी के लिए यह कितना आसान होगा, फिलहाल कहना मुश्किल है।

COMMENTS

%d bloggers like this: