78 साल के बुजुर्ग बेदर्दी से पीट-पीटकर हत्या,पड़ोसी नहीं करता था पसंद रस्सी से सामान लेना

दिल्ली।। रोहिणी में बिजनसमैन के 78 वर्षीय पिता की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। मृतक की पहचान ताराचंद के रूप में हुई है। वजह सुनेंगे तो चौंक जाएंगे। थर्ड फ्लोर पर रह रही बिजनेसमैन की फैमिली सब्जी-दूध जैसे सामान ऊपर से रस्सी में टोकरी बांधकर नीचे लटकाकर लेती थी। आरोप है कि ग्राउंड फ्लोर पर रहने वाला शख्स इस तरीके का लगातार विरोध कर रहा था। सुबह बिजनसमैन से इस बात को लेकर कहासुनी हुई। मामले पर बात करने के लिए गुड़गांव से शाम को बुजुर्ग आए। आरोप है कि शख्स ने गुस्से में आकर ईंट से हमला कर दिया।

घटना के वक्त कई लोग तमाशबीन बने रहे, किसी ने बचाने की कोशिश नहीं की। बुजुर्ग को परिवारवाले तुरंत अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया। बेगमपुर पुलिस जांच कर रही है।

पुलिस के मुताबिक, रवि प्रकाश मित्तल (42) परिवार के साथ रोहिणी सेक्टर-22 में रहते हैं। रोहिणी में ही उनका हार्डवेयर सेनेटरी का बिजनस है। थर्ड फ्लोर पर रहते हैं। ग्राउंड फ्लोर पर आरोपी ईश्वर प्रसाद का परिवार रहता है। सुबह रवि की पत्नी ने सामान लेने के लिए ऊपर से थैला नीचे लटकाया। ईश्वर ने थौला लटकाने का विरोध किया। रवि मित्तल ऊपर से नीचे उतरकर आए। दोनों में कहासुनी हुई। आरोपी ने रवि के साथ मारपीट की। शोर सुनकर आसपास के लोग इकट्ठा हो गए और बीच-बचाव कराकर मामला शांत करवाया।

रवि ने अपने पिता ताराचंद को घटना के बारे में बताया। पिता ने शाम को आने की बात कही। देर शाम रवि के पिता ताराचंद बेटे प्रवीण के साथ गुड़गांव से आए। प्रवीण गुड़गांव स्थित कंपनी में सीए हैं। ताराचंद आसपास के लोगों को बुला रहे थे, ताकि बैठकर सही से बात हो सके। रवि का आरोप है कि उनके पिता आसपास के लोगों के पास जा ही रहे थे, तभी सामने ईश्वर मिल गया। पिता और ईश्वर के बीच कहासुनी होनी लगी। कहासुनी के दौरान ईश्वर ने ताराचंद को पीटना शुरू कर दिया। रवि की पत्नी ने बालकनी से झांककर देखा तो शोर मचाया। रवि व प्रवीण नीचे उतरकर आए। तब तक आरोपी फरार हो गया।

ताराचंद को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस का कहना है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के सही कारणों का पता चल पाएगा। रवि ने बताया कि वह मूल रूप से हरियाणा के जींद निवासी हैं। 4 साल पहले ही फ्लैट में आए थे। ताराचंद कभी रोहिणी तो कभी छोटे बेटे के यहां रहते थे।

COMMENTS

%d bloggers like this: