विवाद में लगाई दुकान में आग 6 झुलसे, 2 की हालत गंभीर!

असल न्यूज़ : (आर.के.द्धिवेदी) जालौन में सामान खरीदने को लेकर दुकानदार और ग्राहक में विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ गया कि ग्राहक ने अपने साथियों के साथ मिलकर दुकान में पैट्रोल डालकर आग लगा दी जिससे दुकान धू-धूकर जल गई। जिससे दुकान में बैठा दुकानदार सहित 6 लोग गंभीर रूप से झुलस गये। इस घटना के बाद पूरे गाँव में दहशत फैल गई। झुलसी हालत में सभी को इलाज के लिये कोंच के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया। वही पुलिस और फायर सर्विस के घटना स्थल पर समय से नहीं पहुँचने पर परिजनों में आक्रोश व्याप्त है।

घटना कोंच कोतवाली के ग्राम चंदुर्रा की है। बताया गया कि इस गाँव के रहने वाले गिरेन्द्र सिंह परचून की दुकान खोले है। देर शाम को गाँव के ही कल्लू अपने लड़कों के साथ सामान खरीदने आये थे। सामान खरीदने को लेकर कल्लू का गिरेन्द्र सिंह से विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा गया कि दोनों में मारपीट होने लगी। इस घटना को अन्य ग्रामीणों ने देखा और बीच बचाव का प्रयास किया। इसी दौरान कल्लू के पुत्रों ने पास में रखे पैट्रोल के ड्रम को खोलकर दुकान में डाल दिया और आग लगा दी। जिससे दुकान धू-धू कर जलने लगी। जिसे देख गिरेन्द्र सिंह और उसके पुत्र सुशील व अन्य परिजनों ने आग बुझाने का प्रयास किया लेकिन अचानक विस्फोट होने से पिता-पुत्र सहित 6 लोग घायल हो गये।

इस घटना की जानकारी परिजनों और ग्रामीणों द्वारा पुलिस तथा दमकल कर्मियों को दी गई। लेकिन सूचना देने के बाबजूद कोई भी मौके पर नहीं पहुंचा। तब ग्रामीणों ने स्वयं सभी घायलों को इलाज के लिये सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोंच में भर्ती कराया और आग को बुझाने का प्रयास किया। कई घंटों बाद जब फायर बिग्रेड की गाड़ी पहुंची तब कहीं जाकर आग पर काबू पाया गया। बाद में पुलिस पहुंची और मामले की जांच शुरू कर दी। वही झुलसी हालत में अस्पताल पहुंचे ग्रामीणों का डाक्टरों ने इलाज शुरू कर दिया। जहां पिता पुत्र की हालत ज्यादा नाजुक होने के कारण उन्हे मेडिकल कालेज झांसी रेफर कर दिया।

घटना के बारे में परिजनों का कहना है कि कल्लू और उसके पुत्रों ने आग लगाई है और विवाद दुकान से सामान खरीदने को लेकर हुआ था इसी में आग लगाई जिससे उनके घर के 6 से ज्यादा लोग झुलसे है और पुलिस एंबुलेंस के साथ दमकल को फोन किया लेकिन कोई समय से नहीं पहुंचा।
वही अस्पताल में इलाज कर रहे मेडिकल आफ़ीसर डाक्टर आरके शुक्ला का कहना है कि 2 की हालत नाजुक है जिनको रेफर किया गया। बाकी का इलाज चल रहा है, इतनी बड़ी घटना हो जाने के बाद अभी तक कोई भी पुलिस अधिकारी सामने नहीं आया और मामले में बोलने से बच रहे है।

COMMENTS

%d bloggers like this: