इस खास मंदिर में नेताओं ने जीत की आस में रखवाए हवन..

शत्रु नाश के लिए विशेष पूजा

असल न्यूज़ : चुनाव मैदान में उतरने वाला हर नेता जीतना चाहता है। यही कारण है कि हिमाचल में भी लोकसभा चुनाव मैदान में उतरे नेता जीत के लिए हर कोशिश कर रहे हैं। कई नेता इन दिनों धर्मगुरुओं व तांत्रिकों की शरण में हैं। अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए कुछ नेताओं ने कांगड़ा जिला के बनखंडी में स्थित बगलामुखी मंदिर में हवन की बुकिंग करवा ली है। लोकसभा चुनाव के लिए आवेदन से पूर्व और बाद में कुछ नेताओं ने जीत की आस में हवन रखवाए हैं। नेता अपने ईष्ट और गूरों (पुजारियों) से आशीर्वाद मांग रहे हैं।

चुनाव मैदान में उतरे मंत्री और विधायक कई टोटके भी अपना रहे हैं। इसका प्रमाण यह है कि इन दिनों कुछ उम्मीदवारों की बाजुओं पर कई रंग के रक्षासूत्र और अंगुलियों में कई तरह के नग देखे जा सकते हैं। देवभूमि हिमाचल में परंपरा बन गई है कि उम्मीदवार नामांकन दाखिल करने से पहले ईष्ट के दरबार में

हाजिरी भरते हैं। हिमाचल में लोकसभा चुनाव के लिए चार सीटें हैं। इन सीटों पर कांग्रेस और भाजपा उम्मीदवारों में सीधा मुकाबला तय माना जा रहा है।

शत्रु नाश के लिए विशेष पूजा

बगलामुखी मंदिर बनखंडी प्रसिद्ध तांत्रिक स्थल है। मान्यता है कि यहां तंत्र पद्धति से की गई पूजा अन्य देवस्थलों की अपेक्षा चार गुणा अधिक फलित होती है। इस मंदिर में शत्रुओं का नाश करने के लिए विशेष पूजा का प्रावधान है। यही कारण है कि इस मंदिर में देशभर से नेता पूजा करवाने आते हैं जिनकी संख्या चुनाव के दिनों में बढ़ जाती है। कई नेता रात को मंदिर में गुप्त हवन यज्ञ भी करवाते हैं। माना जाता है कि जो नेता यहां गुप्त रूप से पूजा करवाता है, उसे उसका ज्यादा लाभ मिलता है।

हिमाचल में लोकसभा चुनाव का शेड्यूल

  • 22 अप्रैल : चुनाव की अधिसूचना होगी जारी
  • 29 अप्रैल : नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि
  • 30 अप्रैल : नामांकन पत्रों की छंटनी
  • 2 मई : नाम वापस लिए जा सकेंगे
  • 19 मई : चारों लोकसभा सीटों के लिए मतदान
  • 23 मई : मतों की गणना

COMMENTS

%d bloggers like this: