Breaking news: झारखंड के रामगढ़ में बड़ा हादसा, सड़क दुर्घटना में एक ही परिवार के 10 लोगों की दर्दनाक मौत..

कूजू घाटी में सड़क हादसे में पूरा परिवार ही उजड़ गया।

असल न्यूज़ : झारखंड की राजधानी रांची से बड़ी खबर सामने आई है। यहां एनएच 33 हाइवा और इनोवा की आमने-सामने भीषण टक्‍कर में 10 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई है। रांची के सटे घाटी इलाका कूजू में दिल दहलाने वाले इस सड़क हादसे में मरने वाले सभी 10 लोग एक ही परिवार के हैं। परिवार के किसी सदस्‍य की जान इस हादसे में नहीं बच पाई। रांची के हटिया के रेलवे कॉलोनी में रहने वाले मृतकों में दो महिलाएं और तीन बच्‍चे समेत रिटायर्ड रेलकर्मी का एक पुत्र, दो बेटी, दो दामाद तथा तीन पोता-पोती व चालक शामिल हैं। सभी मृतकों के शव सदर अस्‍पताल रामगढ़ में रखे गए हैं।

बताया गया कि पटना एनएच-33 फोरलेन पर कुजू ओपी क्षेत्र के पैंकी मोड़ के पास शनिवार की अहले सुबह एक इनोवा कार(जेएच01सीजी-6537) व एलपी ट्रक(डब्लूबी3डी-2156) के बीच आमन-सामने भीषण टक्कर हो गई। हादसे में चालक सहित इनोवा पर सवार सभी दस लोगाें की घटनास्थल पर ही मौत हाे गई। इनोवा सवार लोग बिहार, बक्सर के कटिकनार गांव से बच्चे का मुंडन कराकर वापस रांची लौट रहे थे। ट्रक के साथ टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि इनोवा का इंजन सहित परखच्चे उड़ गए।

मृतकों में हटिया रेलवे कॉलोनी निवासी रिटायर्ड रेलकर्मी सत्यनारायण सिंह (73), पुत्र अजीत कुमार सिंह(28) कटीकनार बक्सर निवासी व आर्मी मैन दामाद मंटू कुमार सिंह(40), बेटी सरोज सिंह (38), पोती कली कुमारी (13), रूही कुमारी (7), पोता रौनक कुमार(04), छोटा दामाद धुर्वा रांची निवासी व सहारा इंडिया के एजेंट सुबोध कुमार सिंह (32), छोटी बेटी रिंकी देवी (30) तथा धुर्वा निवासी इनोवा चालक अंचल पांडेय शामिल हैं। घटना सुबह करीब साढ़े चार बजे के अासपास हुई।

हादसे के बाद दुर्घटनास्‍थल पर मृतकों का शव।

तेज रफ़्तार से हजारीबाग की ओर आ रहे इनोवा ने सामने से अा रहे पेय पदार्थ लदे ट्रक को सामने से जोरदार टक्कर मार दिया। घटना के बाद मौके पर पहुंची कुजू ओपी पुलिस ने दुर्घटनाग्रस्त इनोवा में बुरी तरह से दबे सभी मृतकों को स्थानीय लोगों की मदद से एक-एक घर बाहर निकालकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल छत्तरमांडू पहुंचाया। मृतक के पास से मिले मोबाइल के नंबरों पर संपर्क कर पुलिस से घटना की जानकारी उनके परिजनों को दी।

हादसे में मारे गए लोगों का शव सदर अस्‍पताल ले जाया गया है।

मृतक रिटायर्ड रेलकर्मी सत्यनारायण सिंह के छोटे पुत्र ने बताया कि उनकी दोनों जीजा व बहनें रांची में ही रहते हैं। बड़े जीजा मंटू सिंह आर्मी में हैं। वे छुट्टी लेकर भगना रौनक का मुंडन कराने के लिए अपने पैतृक गांव बक्सर के कटिकनार गए हुए थे। कल की मुंडन संस्कार संपन्न होने के बाद इनोवा से सपरिवार रांची लौट रहे थे। हटिया रेलवे कॉलोनी में वह अकेला था।

इसी बच्‍चे का मुंडन कराकर बिहार से लौट रहा था पूरा परिवार। बच्‍चे की भी हादसे में मौत हो गई है।

सुबह चार बजे उसके भाई अजीत ने मोबाइल पर बताया कि वे लोग रामगढ़ पहुंच रहे हैं। एक घंटे के अंदर पहुंच रहे हैं। गेट खुला रखना। इसके बाद पुलिस ने सात बजे के करीब बताया कि सड़क हादसा हो गया है। समाचार लिखे जाने तक सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम की तैयारी चल रही थी। मृतक के अन्य परिवार रास्ते में हैं।

मृतकों में महिलाएं और छाेटे बच्‍चे भी शामिल हैं।

रामगढ़ के कूजू घाटी में हाइवा से भीषण टक्‍कर में बुरी तरह क्षतिग्रस्‍त हुई इनोवा। इसी इनोवा में सभी 10 मृतक सवार थे।

एनएच 33 पर कूजू घाटी में हाइवा से इनोवा की आमने-सामने भीषण टक्‍कर के बाद परखच्‍चे उड़ गए।




COMMENTS

%d bloggers like this: