रोहिणी में चोरों का आतंक, वारदात दर वारदात कर पुलिस को खुली चुनौती

मुकेश राणा।। दिल्ली के रोहिणी जिले में चोरों के आतंक से आम लोगों का जीना दुभर हो गया है।

शायद ही कोई दिन गुजरता हो जब चोर वारदात अंजाम ने देते हों। ताजा मामला रोहिणई के सेक्टर 11 का है, जहां बुधवार रात करीब 3 बजकर 44 मिनट पर वारदात अंजाम देने की नाकाम कोशिश की। दरअसल रात के वक्त क्रिएटिव सैलून का शटर तोड़कर चोरों ने वारदात अंजाम देने की कोशिश की, लेकिन आवाज सुनकर पड़ोसी जाग गये लिहाजा चोर मौके से भाग निकले। लेकिन नाकाम चोरी की यह वारदात वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। थाना प्रशांत विहार इलाके में ही इस वारदात से चौबीस घंटे पहले चोरों ने मित्तल मेडिकोज में चोरी की वारदात अंजाम देने की कोशिश की थी।
स्थानीय लोगों के मुताबिक पुलिस वारदातों को रोक पाने में नाकाम साबित हो रही है, और चोर पुलिस को खुली चुनौती दे रही हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि पुलिस की सलाह पर लोगों ने घर व दुकानों के बाहर सीसीटीवी कैमरे लगवाये थे, लेकिन जितनी भी वारदात सामने आई हैं, वह उस जगह पर अंजाम दी गई जहां सीसीटीवी कैमरे लगे थे। इससे साफ जाहिर होता है कि चोरों को पुलिस को कोई डर नहीं है। सूत्रों के मुताबिक रोहिणी सेक्टर 11 में ही रोजाना 5 से 6 चोरी की वारदात होती हैं, जबकि रोहिणी जिले में हर दिन चोरी की 20 से ज्यादा वारदात होती हैं। चौंकाने वाली बात ये कि बीते 2 महीने में पुलिस सीसीटीवी फुटेज मिलने के बावजूद एक भी वारदात को सुलझाने में नाकाम रही है। इससे चोरों के हौसले बढ गये हैं और आम लोगों का जीना मुश्किल हो गया है। स्थानीय निवासी रवि मित्तल, सुमेश गुप्ता, शिवचरण अग्रवाल व विक्की का कहना है कि पुलिस पेट्रोलिंग ना होने की वजह से भी चोरों के हौसले बढे हैं। अगर पुलिस अलर्ट होकर पेट्रोलिंग करे तो चोरी की वारदातों में अवश्य ही कमी आएगी।

COMMENTS

%d bloggers like this: