इलाहाबाद विशविद्याले में हुई छात्र की हत्या मामले में मुठभेड़ के बाद तीन गिरफ्तार, एक फरार

asalnews.com
इलाहाबाद। अपराध शाखा और कैंट थाना पुलिस ने संयुक्त अभियान चलाकर इलाहाबाद विवि में आठ अक्तूबर को हुई उपेंद्र यादव नामक छात्र की हत्या के मामले का खुलासा किया है। हत्या एक लाख रुपये की सुपारी देकर करवाई गई थी। हत्या करवाने वाले के अलावा हत्या करने वाले को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। सुपारी किलर तथा उसके साथी ने भागने की फिराक में पुलिस पर अंधाधुंध गोलियां चलाईं। एक हत्यारा पुलिस की गोली से जख्मी होने के चलते दबोचा गया।
    उपेंद्र यादव की हत्या के मामले का खुलासा करने के लिए एसएसपी के निर्देश पर गठित एसपी तथा सीओ-2 इलाहाबाद के नेतृत्व में गठित अपराध शाखा तथा कैंट थाने की टीम ने एक सूचना के आधार रविवार शाम गंगोत्री ब्वाॅयज हाॅस्टल के पास से बाइक सवार आनंद मिश्रा और बबलू उर्फ किशोर गुप्ता को तब दबोचा गया । पूछताछ में मिश्रा ने बताया कि उसने बबलू के माध्यम से रामबाबू को उपेंद्र यादव की हत्या के लिए पहले पचास हजार रुपये दिये थे और बाकी के रुपये देने के लिए नेहरू पार्क जा रहे थे।
    इस सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए पुलिस तुरंत नेहरू पार्क पहुंची जहां एक बाइक के पास खड़े दो संदिग्ध लोगों ने पुलिस को देखते ही गोली चला दी। यह गोली पुलिस वाहन की हेडलाईट पर लगी। फायरिंग करते हुए दोनों बदमाश पेड़ों की तरफ भागे और बराबर गोलियां चलाते रहे। जवाबी फायरिंग में एक गोली एक बदमाश को लगी। बदमाशों द्वारा की जा रही अंधाधुंध गोलीबारी के चलते मौके पर और थानों से भी पुलिस बल मौके पर बुलाया गया।
    गोलीबारी बंद होने के बाद काॅबिंग में एक घायल बदमाश मिला जिसकी पहचान रामबाबू के रूप में हुई, उसे घुटने में गोली लगी थी। बदमाश के पास से एक तमंचा, चार खोखे, दो जिंदा कारतूस तथा कुल दो मोटरसाईकिलें मिली हैं। पुलिस का कहना है कि मुठभेड़ के दौरान फरार हुए चैथे बदमाश की तलाश की जा रही है।

COMMENTS

%d bloggers like this: