जामा मस्जिद  इलाके से दो हजार और पांच सौ के जाली नोटों के साथ दो लोग गिरफ्तार

दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने जाली नोटों के अवैध धंधे में लिप्त दो लोगों को जामा मस्जिद इलाके से गिरफ्तार किया है। पकड़े गये लोग बंगाल के मालदा जिले के रहने वाले हैं जिनके तार बंगलदेश में जाली भारतीय करेंसी छापने वालों से जुड़े हुए हैं। दोनों के कब्जे से भारी मात्रा में असली नोट भी बरामद किये गये हैं।
    मध्य जिला पुलिस उपायुक्त मनदीप सिंह रणधावा ने बताया कि स्पेशल स्टाफ की एसीपी नरेश कुमार के निर्देशन और इंचार्ज इंस्पेक्टर राकेश शर्मा के नेतृत्व वाली टीम ने एसआई रामेश्वर की सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए भारी मात्रा में जाली भारतीय मुद्रा बरामद की है।
टीम ने जामा मस्जिद इलाका स्थित कस्तूरबा अस्पताल के पिछवाड़े से दो लोगों को गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से दो हजार के नोटों की शक्ल में पचास और पांच सौ के नोटों की शक्ल में एक सौ चालीस जाली नोट बरामद किये हैं। पकड़े गये लोगों की पहचान मालदा के रहने वाले इनामू मियां उर्फ रिंकू तथा मोहम्मद खलीलुल्लाह बिस्वास के रूप में हुई है। रिंकू जाली नोटों की सप्लाई लेकर बिस्वास को सप्लाई करने के लिए आया था। रिंकू के पास से जाली नोटों के बदले बिस्वास के दिये पचहत्तर हजार रुपये के असली नोटों के अलावा पांच सौ की शक्ल के चालीस जाली नोट बरामद किये गये हैं। असली नोट बिस्वाव द्वारा रिंकू को जाली नोटों के बदले दिये गये थे।
   
पुलिस के मुताबिक बिस्वास पहले हवाला के अवैध धंधे से भी जुड़ा रहा है। पुलिस ने उसे ठहरने के स्थान की तलाशी ली तो वहां लगभग तेरह लाख रुपये कीमत के असली नोट और भी मिले। जाली नोटों को रिंकू द्वारा मालदा स्थित दो लोगों से लाकर दिल्ली तथा एनसीआर में फैलाया जाता है। वह पचास प्रतिशत कमीशन पर जाली नोटों की सप्लाई करता है।

COMMENTS

%d bloggers like this: