यूपी बोर्ड: परीक्षा केन्द्र में तीन हजार रुपए लेकर नकल कराने की पूरी व्यवस्था,58 सॉल्वर गिरफ्तार!

नकल के लिए स्कूल प्रशासन ने घूस लिया.

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में सादा कपड़ों में बाइक से पहुंचकर अतरौली के एसडीएम व सीओ ने गांव तेवथू में कॉलेज प्रबंधक शिवकुमार शर्मा के घर में छापा मारा। यहां 58 सॉल्वरों को इंटरमीडिएट रसायन विज्ञान परीक्षा की कॉपियां लिखते पकड़ा। मुहर लगीं 100 से ज्यादा कॉपियां भी बरामद हुई। पता चला कि परीक्षा के बाद तीन हजार रुपये में कॉपी बदली जाती थी। पकड़े गए सॉल्वरों को पुलिस बस से कोतवाली लेकर आई। जानकारी मिलने पर एडीएम प्रशासन आरएन शर्मा व एसपी देहात डॉ. यशवीर सिंह पहुंच गए।

ये घटना थाना अतरौली के तेबथू गांव में स्थित बौहरे किसान लाल इंटर कालेज का है. पूरा वाकया सामने आने पर डीआईओएस ने इस सेंटर की रसायन विज्ञान द्वितीय पेपर की परीक्षा निरस्त कर दी है. पुलिस के अनुसार मुखबिर से सामुहिक नकल कराए जाने की सूचना पहले मिल रही थी. लेकिन नकल माफिया पूरी सजगता से सब कुछ कर रहे थे.

पुलिस को देखते मची हड़कंप.

पुलिस को देखते ही सॉल्वरों में भगदड़ मच गई। कुछ सॉल्वर पुलिसकर्मियों से भिड़े भी। कई सॉल्वर भागे तो कई को पुलिस ने राइफल तानकर रोक लिया। पुलिस ने मकान से 46 युवक, छह वृद्ध, तीन पेपर सॉल्व करने वाले, तीन किशोर व आठ युवतियों को पकड़ा। पुलिस ने युवतियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें छोड़ दिया। बाकी लोगों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई कर रही थी।

नकल के लिए स्कूल प्रशासन ने घूस लिया.
स्कूल प्रबंधक पर तीन हजार रुपए लेकर नकल कराने की पूरी व्यवस्था की गई थी. डीआईओएस के अनुसार बोर्ड परीक्षा की पुरानी कापियों को प्रयोग किया जा रहा था. सेंटर की परीक्षा निरस्त कर दी गई है. डीआईओएस धर्मेद शर्मा ने बताया कि अतरौली क्षेत्र में साढे़ तीन सौ परीक्षा केन्द्र है और अलीगढ़ में करीब 60 हजार लोगों ने परीक्षा छोड़ दी है.

वहीं परीक्षा केन्द्र से बाहर लिखी गई कापियां सेंटर की कापियों में कैसे अटैच की जा रही है. यह जांच का विषय है. इसका सरगना राम कुमार बताया जा रहा है, जो कि पुलिस कस्टडी में है. राम कुमार का ही काम है कि परीक्षार्थी सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में परीक्षा दे रहे हैं और कापियां बाहर लिखी जा रही है. ये संगठित रुप से नकल का गैंग काम कर रहा था.

अतरौली नकल का पुराना गढ़ रहा है. इस बार सरकार की सख्ती के चलते लोगों मे भय है. सीसीटीवी कैमरे लगाने का असर हुआ है. डीआईओएस ने बताया कि पैसा मांग कर पेपर साल्व कराना व परीक्षा की शुचिता भंग करने के मामले में कार्रवाई की जा रही है.

COMMENTS

%d bloggers like this: