Uttar Pradesh: National Highway 27 पर अब नहीं लगेगा जाम, निर्माण कार्य शुरू

प्रतीक चित्र

उत्तर प्रदेश।।( आर. के.द्विवेदी) जालौन के कालपी में पिछले 10 साल से जाम से जूझ रहे लोगों को अब जाम से निजात मिलने की उम्मीद है। क्योकि आज से झांसी-कानपुर नेशनल हाईवे 27 स्थित कालपी में निर्माणकार्य शुरू हो गया है। जिला प्रशासन के सहयोग से आज नेशनल हाईवे अथार्टी आफ इंडिया ने कालपी में 10 बाद अपना काम शुरू किया और उन स्थानों की तोड़ फोड़ की जो ओवर ब्रिज बनाने में रोड़ा डाले थे।इस दौरान किसी बबाल की आशंका के मद्दे नजर भारी मात्रा में अर्ध सैनिक बल के साथ 7 जिलों की फोर्स और पीएसी की कंपनियाँ तैनात की गई थी। इस निर्माण के शुरू होने से कानपुर और झांसी के लिये रूट को भी डायवर्ड भी किया गया जिससे यात्रियो को भी परेशानी का सामना करना पड़ा।

बता दे कि झांसी से कानपुर जाने के लिये नेशनल हाईवे ने 2008 में फोरलेन का निर्माण कराया था जिससे लोगों को कानपुर से झांसी और उरई जाने में कम समय लगे लेकिन जालौन के कालपी में नेशनल हाईवे ने विवाद के कारण यहाँ निर्माण कार्य पूरा नहीं कराया था क्योकि हाईवे की परिधि में कई धार्मिक स्थल आ रहे थे जिससे इसका निर्माण नहीं हो पा रहा था। जिस कारण 3 किलो मीटर में फैले कालपी में जाम की स्थिति लगातार बनी रहती थी और जाम से लोगों को जूझना पड़ता था इस जाम के कारण कई बीमार लोगों को अपनी ज़िन्दगी भी गवानी पड़ी थी। इसके बाद सड़क के निर्माण को लेकर कई बार अधिकारियों से मांग उठी थी लेकिन यह मार्ग कुछ विवादों के कारण नहीं बन सका था।
लेकिन हाईकोर्ट के आदेश के बाद इस मार्ग के निर्माण का रास्ता साफ हो गया था लेकिन रास्ते में धार्मिक स्थल होने के कारण विवाद की स्थिति बनी थी और फिर एक बार सड़क का निर्माण नहीं हो पा रहा था। लेकिन शासन के निर्देश के बाद शनिवार को विवादित धार्मिक स्थल को हटाने के लिये कारवाही शुरू की गई। जिसको देखते हुये कालपी में यह कारवाही सुबह से शुरू हुयी जिसमें मंदिर, मस्जिद के साथ मजारें भी तोड़ी गयी। इस कार्यवाही के कारण यहां पर 3 कंपनी आरएएफ कंपनी के साथ पीएसी 7 जनपदों की पुलिस के साथ जिले की 18 थानों की फोर्स लगाई गई थी।
इस निर्माण कार्य के दौरान झांसी-कानपुर जाने के लिये रुट भी डायवर्ट रहा जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। झांसी से कानपुर जाने वाले लोगों को औरैया होते जाना पड़ा जबकि कानपुर से झांसी जाने वाले यात्री हमीरपुर होते हुये गये। इस मामले में जालौन के डीएम डाक्टर मन्नान अख्तर ने बताया कि आज इस काम को शांति पूर्वक कर लिया गया और ये ऑपरेशन सदभाव के तहत किया गया। उन्होंने बताया कि जिन मंदिर मस्जिद को तोड़ा गया है उनके लिये स्थान निश्चित कर दिया गया और उनकी स्थापना की जायेगी इसके लिये शासन ने मस्जिद के लिये 55 लाख और मंदिरों के लिये 24 लाख रुपये दिये गये है जिससे इनकी स्थापना की जा सके।

COMMENTS

%d bloggers like this: