पांच गावों को उजाडे जाने के विरोध में ग्रामीणों ने धरना दिया

हरियाणा।।(प्रवीण कुमार)हिसार के लघुसचिवालय में  बीड़ ढढंूर पीरावांली राजीव नगर झिड़ी सजंय नगर पांच गांव को हरियाणा सरकार द्वारा उजाड़े जाने के खिलाफ  एक दिन का धरना लगाया गया। इस दौरान ग्रामीणों ने रोष प्रदर्शन किया।  धरने की अध्यक्षता सयुंक्त सघंर्ष समिति बीड़ हिसार के प्रधान व पूर्व सरंपच फूलचन्द ने की संचालन सन्दीप सिवाच ने की। इस दौरान समिति के लोगों ने तहसील दार के माध्यम से सरकार को ज्ञापन पत्र सौपा गया। समिति ने निर्णय लिया है अगर सरकार ने ग्रामाणों को अल्टेमैंट नही दी और हिसार में 29 मई को बडा आंदोलन किया जाएगा और अनिश्चिति कालीन के लिए धरना दिया जाएगा।
पूर्व जिला पार्षद कामरेड सुरेश कुमार ने बताया की 1955 से लेकर 1980 तक पाचों गांव आबाद हो चुके थे और पहले इन गांव की एक ही पंचायत थी अब इन गांव की पचंायते अलग अलग रूप से कार्य कर रही है। सभी गावं में पाचवीं कक्षा से लेकर 12वी कक्षा तक सरकारी स्कूलए आगंनवाड़ी केन्द्र, पशु हस्पताल, धर्मशालाए पक्की सड़के बिजली पानी की व्यवस्था है। यहा पर लगभग 12 हजार वोट है। 30 हजार की जनसख्यंाए व 2 हजार से ज्यादा बच्चे पढ रहे है। व 90 प्रतिशत से ज्यादा मजदूर करीगर लोग यहा बसे हुये है। लेकिन भाजपा सरकार जब से सत्ता में आई है। तबसे मकान खाली करने के नोटिस जारी किये गये है।
जिसके खिलाफ गांव आम जनता में इन नोटिसो के खिलाफ भारी आक्रोश है। उन्होंने बताया कि मागों को लेकर तहसीलदार ज्ञापन पत्र सौंपा है  उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि  देते हुये यदि समय रहते हमारी समस्या का समाधान नही किया गया तो आगामी 29 अप्रैल को हजारो की सख्यां इन पाचों गांव के आम जन सरकार के खिलाफ  क्रान्तिमान पार्क में इक्टठा होकर विद्रोह के रूप में आन्दोलन करेगें। इस फैसले से रिहायशी लोगो के जीवन को तबाह करने की कोशिश की है। कई आश्वास मिलने के बाद पाचों गांव के लोग ज्ञापन देकर थक चुके है। इसलिए 29 अप्रैल की तैयारियों को लेकर सयुक्त जन सघंर्ष समिति प्रत्येक गांव में सरकार के खिलाफ मशाल जूलूस निकालेगी।

COMMENTS

%d bloggers like this: